राहु के उपाय किस दिन करें – राहु को शांत करने के घरेलू उपाय

Spread the love

राहु के उपाय किस दिन करें – राहु को शांत करने के घरेलू उपाय – राहु एक ऐसा ग्रह हैं जिसकी छाया जिस प्राणी पर पड़ती हैं उसका जीवन बर्बाद हो जाता हैं। शास्त्रों के अनुसार, इस ग्रह को सबसे क्रूर ग्रह माना गया हैं। माना जाता हैं की जो व्यक्ति शनि की महादशा के चपेट में आता हैं वह सामान्य जीवन नहीं जी पाता हैं। हालांकि राहु का प्रभाव व्यक्ति को लाभ भी दे सकता हैं। शास्त्रों के अनुसार, अगर राहु कुंडली में शुभ स्थिति में विराजमान हैं तो डरने की आवश्यकता नहीं हैं। ऐसी स्थिति में व्यक्ति को लाभ ही लाभ होता हैं। परन्तु राहु की अशुभ स्थिति व्यक्ति को 18 सालों तक समस्यायों से घेरे रख सकता हैं। राहु दोष के कारण व्यक्ति मानसिक, शारीरिक और आर्थिक रूप से कमजोर हो जाता हैं।

राहु के उपाय किस दिन करें - राहु को शांत करने के घरेलू उपाय
राहु के उपाय किस दिन करें – राहु को शांत करने के घरेलू उपाय

मित्रों, राहु हिरण्यकसिपु की बहन होलिका का पुत्र हैं। जब भगवान विष्णु ने स्वरभानु नाम के दैत्य का सर और धर अलग कर दिया था तब सर वाले भाग को राहु नाम दिया गया था। यह एक छाया ग्रह हैं जो सूर्य और चन्द्र पर ग्रहण का कारण माना जाता हैं। जिस किसी भी व्यक्ति पर राहु दोष होता हैं वह मानसिक और शारीरिक रूप से अत्यंत कमजोर हो जाता हैं। राहु की महादशा व्यक्ति को भ्रमित करने लगता हैं। व्यक्ति अपने लक्ष्य से भ्रमित होकर गलत कार्यों में संलिप्त हो जाता हैं। अत: समय रहते राहु की महादशा का निवारण करना बेहद जरुरी माना जाता हैं। आइये जानते हैं की राहु को शांत करने के घरेलू उपाय क्या हैं और राहु की महादशा के लक्षण क्या-क्या हो सकते हैं।

राहु की महादशा के लक्षण

राहु की महादशा के लक्षण
राहु की महादशा के लक्षण

मित्रों, राहु की युति प्रत्येक ग्रह के साथ दोष और समस्या उत्पन्न करने वाली मानी जाती हैं। जब शनि, सूर्य, चन्द्र, शुक्र आदि के साथ राहु की युति होती हैं तब क्रमश: श्रापित दोष, पितृ दोष, ग्रहण दोष और प्त्भर्थ दोष का कारण बनती हैं। राहु की महादशा चलने पर व्यक्ति भगवान से दूर होने लगता हैं। व्यक्ति धर्म और अधर्म के बीच के अंतर को समझ नहीं पाता हैं। राहु दोष से प्रभावित व्यक्ति अपने स्वार्थ सिद्धि के लिए किसी भी हद तक चला जाता हैं। कुंडली में राहु की छाया शुभ कार्यों में भी बाधा डालती हैं।

नीचे राहु की महादशा के कुछ प्रमुख लक्षण बताएं गए हैं। अगर आपको भी राहु महादशा के लक्षण दिखाई देते हैं तो ज्योतिषीय उपायों द्वारा इसका समाधान अवश्य करना चाहिए। राहु को शांत करने के घरेलू उपाय भी नीचे विस्तार से बताएं गए हैं। आइये राहु की महादशा के लक्षण जानते हैं।

राहु की महादशा के 7 प्रमुख लक्षण

  • राहू दोष व्यक्ति को अपने मुख्य लक्ष्य पथ से भटका देता हैं। व्यक्ति काम, क्रोध और गलत संगत में पड़कर अपने जीवन को नष्ट कर लेता हैं।
  • घर-परिवार में अक्सर झगड़े होते रहते हैं। पति-पत्नी के रिश्ते में दूरियां आने लगती हैं। व्यक्ति अपने क्रोध पर अंकुश नहीं लगा पाता हैं।
  • रिश्ते शक और गलतफहमी के चलते कमजोर होकर टूटने लगते हैं। मुश्किल समय में आपका अपना भी आपका साथ छोड़ देता हैं।
  • व्यक्ति, शराब, जुआ, परायी स्त्री के साथ संबंध बनाने जैसा पाप करने लगता हैं। ऐसे में व्यक्ति स्वयं को धीरे-धीरे बर्बाद कर लेता हैं।
  • जब किसी पर राहु की महादशा चलती हैं तो व्यक्ति को नींद में समस्याएं आती हैं। व्यक्ति हमेशा डरा सा रहता हैं और व्यवसाय में हानि होने लगती हैं।
  • व्यक्ति द्वारा पाले गए जानवर असमय मृत्य को प्राप्त हो जाते हैं। व्यक्ति के सर से बाल बहुत तेजी से गिरने लगते हैं।
  • इसके अलावे राहु दोष पेट की खराबी, पैसे की तंगी, खराब मित्रों की संगत, एक्सीडेंट, मानसिक तनाव जैसी स्थितियों का भी जिम्मेदार माना जाता हैं।

यह भी पढ़ें औरतों को शनि देव की पूजा करनी चाहिए या नहीं

राहु को शांत करने के घरेलू उपाय

अगर राहु का प्रभाव आपके जीवन को नाकारात्मक रूप से प्रभावित कर रही हैं तो कुछ ज्योतिषीय उपाय आपकी इस समस्या को दूर कर सकती हैं। राहु को शांत करने के लिए घरेलु उपाय बेहद कारगर माने जाते हैं। राहु का दुष्प्रभाव गरीब को अमीर और अमीर को रोड पर लाकर खड़ा कर देता हैं। इस ग्रह के बुरे प्रभाव को नष्ट करने के लिए राहु मंत्र का जाप जरुर करना चाहिए। राहु मंत्र का जाप कब करना चाहिए इसकी जानकारी नीचे दी गयी हैं। आइये जानते हैं की राहु को शांत करने के घरेलू उपाय क्या हैं और राहु के उपाय किस दिन करें –

राहु को शांत करने के 8 घरेलू उपाय

  • राहु सबसे क्रूर ग्रह हैं जिसे शांत करने के लिए प्रतिदिन राहु मंत्र ” ऊं रां राहवे नम: ” का जाप करना चाहिए। इस मंत्र का जाप कम से कम 108 बार जरुर करें।
  • राहु को शांत करना हैं जो किसी भी जीव के साथ गलत करने से स्वयं को बचाएं। मांस-मदिरा और सिगरेट आदि का सेवन बिल्कुल न करें।
  • भगवान श्री हरी विष्णु की फोटो या श्री कृष्ण की फोटो शेष नाग के साथ जरुर रखें। प्रतिदिन विधि पूर्वक पूजा करें और ओम् नमो भगवते वासुदेवाय नमः मंत्र का जाप करते रहें।
  • जिस किसी भी व्यक्ति पर राहु की महादशा चल रही हैं उसे किसी असहाय या गरीब की पुत्री की शादी में आर्थिक सहयोग अवश्य करना चाहिए। इससे राहु का प्रभाव कम हो जाता हैं।
  • रविवार या सोमवार के दिन कम उम्र की बच्चियों को हलवा और दही खिलाने से राहु प्रसन्न होते हैं। ऐसा 6 महीने तक लगातार करते रहने से सभी दोषों का निवारण होता हैं।
  • इस ग्रह के प्रभाव को दूर करने के लिए व्यक्ति को गोमेद रत्न धारण जरुर करना चाहिए।
  • प्रभावित व्यक्ति को शिव पुराण का पाठ करने के साथ-साथ जलाभिषेक भी करना चाहिए।
  • राहु दोष को समाप्त करने के लिए एक ताम्बे का बर्तन खरीद लें। अब ताम्बे के लोटे में गंगा का पानी, कुशा और दूर्वा लेकर पीपल की जड़ो में डाले। इसके लिए शुभ दिन शनिवार हैं। किसी और दिन करने से कोई लाभ नहीं मिलेगा।

इन घरेलु उपायों से राहु दोष को नष्ट करने में मदद मिलती हैं। नीचे बताया गया हैं की राहु के उपाय किस दिन करें जिससे लाभ जल्दी मिल सकता हैं।

राहु के उपाय किस दिन करें

ऊपर मैंने आपको राहु को शांत करने के घरेलू उपाय बताएं हैं। ऊपर बताएं गए ज्योतिषीय उपाय निश्चित तौर पर आपकी जीवन से राहु के बुरे प्रभावों को कम करेगा। राहु के उपाय सोमवार और शनिवार के दिन से लाभकारी हैं। इसलिए अगर आप राहु के दुष्प्रभावो को पूरी तरह खत्म करना चाहते हैं तो सप्ताह में यही दिन सबसे उत्तम हैं।

यह भी पढ़ें राहु-केतु और शनि को प्रसन्न करने के खास उपाय

राहु मंत्र का जाप कब करना चाहिए

राहु मंत्र ” ऊं रां राहवे नम: का जाप स्नान के पश्चात ही करना चाहिए। इस मंत्र को ज्योतिषीय उपायों के साथ सोमवार या शनिवार के दिन जाप करना सबसे बेहतर हैं। साथ ही ध्यान रखें की मंत्र के जाप के लिए रात्री पहर ही सबसे उत्तम समय हैं। इस मंत्र को 8 से 108 पर तक जाप कर सकते हैं।

निष्कर्ष – राहु के उपाय किस दिन करें

दोस्तों, इस पोस्ट में मैंने आपको बताया हैं की राहु के उपाय किस दिन करें और राहु को शांत करने के घरेलू उपाय क्या हैं। राहु का कुंडली में अशुभ स्थिति में होना व्यक्ति के जीवन में भूचाल ला देता हैं। समाज में व्यक्ति अपना सम्मान खो देता हैं। वाणी पर सयंम न होने के कारण अपने करीबियों को भी अपना दुश्मन बना लेता हैं। अच्छे मित्र आपसे दूर होने लगते हैं। बुरी संगती के चलते व्यक्ति परिवार से दूर हो जाता हैं। राहु से ग्रसित व्यक्ति मेहनत के बावजूद कार्य क्षेत्र में सफल नहीं हो पाता हैं। इसलिए राहु को शांत करने के घरेलू उपाय जरुर करें।

मुझे उम्मीद हैं की आपको आज की यह पोस्ट ” राहु के उपाय किस दिन करें – राहु को शांत करने के घरेलू उपाय” बेहद अच्छी लगी होगी। इस जानकारी को सोशल मीडिया पर जरुर से जरुर शेयर करें।

यह भी पढ़ें

1 thought on “राहु के उपाय किस दिन करें – राहु को शांत करने के घरेलू उपाय”

Leave a Comment