Sesame Seeds in Hindi – तिल के बीज के अद्भुत फायदे जानकर हैरान हो जायेंगे

Spread the love

तिल के बीज (Sesame Seeds in Hindi) के अनेकों फायदे हैं। आपने तिल के बीज का सेवन कभी न कभी जरुर किया होगा। मकर संक्रांति के त्योहार पर खासतौर पे तिल के लड्डू बनायें जाते हैं। यह खाने में काफी स्वादिष्ट होता हैं। तिल का तेल और उसका बीज हमारे शरीर को कई तरह के पोषक तत्व देते हैं दरसल तिल के तेल में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन B6, आयरन, मैग्नीशियम, जिंक, फाइबर, सेसमीन और सेसमोलिन कंपाउंड आदि पायें जाते हैं। इसका सेवन हमारे शरीर को कई तरह से लाभ पहुंचाती हैं। शोध से पता चला हैं की इसके सेवन से पुरुषों में स्पर्म काउंट में काफी सूधार होता हैं।

Sesame Seeds in Hindi
Sesame Seeds in Hindi

आपको बता दे की तिल कई रंगों में मार्किट में अवेलेबल हैं। यह उजले, भूरे और काले कलर के भी होते हैं। औषधियों गुणों से भरपूर तिल का उपयोग तेल बनाने और खाने में ज्यादा किया जाता हैं। तिल के बीज (Sesame Seeds in Hindi) और तेल का उपयोग बहुत से रोगों के उपचार में लम्बे समय से किया जाता रहा हैं। तो आइये हम आपको विस्तार से तिल के बीज के बारें में बताते हैं।

जाने तिल का बीज क्या होता हैं ?

तिल के बीज को Sesamum indicum (वैज्ञानिक नाम) कहा जाता हैं। इसे बेन्ने के नाम से भी भारत में जाना जाता हैं। तिल का सबसे ज्यादा खेती भारत और सूडान में होता हैं। यह एक पुष्पिय पौधा होता हैं जिसकी खेती मुख्यत: उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में किया जाता हैं। तिल से तेल तैयार किया जाता हैं जो खाना बनाने में उपयोग में आता हैं। इसकी ऊंचाई 1 मीटर तक हो सकती हैं। भारत में मुख्यत: काले और सफ़ेद कलर के तिल की खेती ही होती हैं।

शब्द तिल बेहद पुराना हैं संस्कृत में इसका उल्लेख मिलता हैं। दरसल तेल शब्द तिल के तेल के कारण ही निकलकर सामने आया हैं। अथर्ववेद में भी इस तेल का उल्लेख कई जगह हैं। तिल के बीज में कई तरह के औषधीय गुण होते हैं। यह हृदय रोग, कैंसर, संक्रमण और मुख के दुर्गन्ध भगाने में उपयोग में आता हैं। तिल के बीज (Sesame Seeds in Hindi) छोटे और चपटे आकार के होते हैं।

Also, Read क्या लड़कों को भी पीरियड्स होते हैं

तिल के बीज में मौजूद औषधीय गुण – Sesame Seeds in Hindi

जैसा की मैंने आपको बताया की तिल कई तरह के रोगों में बेहद लाभकारी माना जाता हैं। दरसल इसमें पायें जाने वाले पोषक तत्व हमारे शरीर के कई रोगों से लड़ने की क्षमता रखता हैं। तिल क बीज का उपयोग गठिया, सुजन को कम करने आदि में भी किया जाता हैं। दरसल इसमें मौजूद सेसमोल सुजन को कम करने मे सहयक हैं। यह सुजन उत्पन्न करने वाले केमिकल की बढ़ोतरी को रोक देती हैं। स्टाइलक्रेज के मुताबिक तिल में मौजूद सेसमीन और सेसमोलिन कंपाउंड कैंसर में भी लाभदायक हैं।

यह कैंसर सेल्स को निष्क्रिय कर सकते हैं। इसेक अलावे इसमें पायें जाने वाले और पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड बढे हुए कोलेस्ट्रोल की समस्या में काफी लाभकारी हैं। यही नहीं तिल के बीज का तेल HDL के स्तर को बनायें रखता हैं जिससे कोलेस्ट्रोल का स्तर नियंत्रित रहता हैं। चलिए अब मैं आपको तिल के बीज (Sesame Seeds in Hindi) के अन्य फायदे बताती हूँ।

Also, Read 1 मिनट में याद करने का तरीका – दुनियां का सबसे बेस्ट तरीका

तिल के बीज (Sesame Seeds in Hindi) के 5 बेहतरीन अद्भुत फायदे

पुरुषों के लिए वरदान हैं तिल

कई शोधो से यह बात सामने आई हैं की तिल के बीज का तेल पुरुषों में टेस्टीरोंन होरमोंस को बढ़ाने में मददगार हैं। यह स्पर्म काउंट को बढ़ाने में भी सक्षम हैं। साथ ही पुरुषों के लिए यह उर्जा का संचार कर थकान से रोकता हैं।

डायबिटीज

मधुमेह रोगियों के लिए तिल के बीज (Sesame Seeds in Hindi) बेहद उपयोगी होता हैं। दरसल यह ब्लड उपस्थित ग्लूकोज को कम करता हैं और बॉडी के इन्सुलिन लेवल को भी नियत्रित करता हैं। इसके उपयोग से डायबिटीज के लक्षणों से कुछ हद तक राहत मिलती हैं। एनसीबीआई की एक शोध में यह पता चला हैं की डायबिटीज के कारण होने वाली हार्ट सबंधी समस्या में यह काफी प्रभावकारी हैं।

Also, Read हर्निया रोग क्या है – लक्षण, कारण और इलाज के बारें में जाने

ब्लड प्रेशर में

लिग्नान और मैग्नीशियम से भरपूर तिल के बीज ब्लड प्रेशर को नियत्रित करते हैं। यह आपके हार्ट का स्वस्थ रखता हैं। लो ब्लड प्रेशर की स्थिति में तिल का उपयोग फायदेमंद साबित हो सकता हैं। तिल में पायें जाने वाले एंटीहाइपरटेंसिव गुण हाई ब्लड प्रेशर की समस्या में भी लाभदायक हो सकता हैं। यह जानकारी एनसीबीआई के एक शोध से सामने आई हैं।

Also, Read शुगर में चावल खाना चाहिए या नहीं – शुगर के लक्षण और उपाय

सुजन की समस्या में

अपने एंटीइन्फ्लामेट्री गुणों के कारण तिल के बीज (Sesame Seeds in Hindi) सुजन रोधी होते हैं। इसके उपयोग से सुजन की समस्या से निजात मिल सकती हैं। इसकी जानकारी मैंने ऊपर भी दी हैं। तिल के बीज दवा के तौर पर 1 दिन में 2 चम्मच से ज्यादा उपयोग में नहीं लाना चाहिए।

त्वचा के लिए

तिल में उपस्थित एंटीऑक्सीडेंट, एंटी एजिंग गुण त्वचा की चमक को बनायें रखने में मदद करती हैं। यह आपकी स्किन पर समय से पहले झुर्रिया आने से रोक सकती हैं। इसके लिए जैतून के तेल में तिल का पाउडर मिक्स करके फेस पर अप्लाई करें।

Also, Read ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने के लिए सबसे अच्छा भोजन -ट्राइग्लिसराइड्स क्या हैं?

तिल के बीज का उपयोग करने का तरीका ( Sesame Seeds in Hindi )

दोस्तों भारत में तिल की खेती सबसे ज्यादा होती हैं। तिल का उपयोग बड़े पैमाने पर खाने और औषधीय उपचार में किया जाता हैं। तिल के बीज से कई तरह के प्रोडक्ट्स जैसे साबुन, और कॉस्मेटिक चीजें बनायीं जाती हैं। चलिए अब आपको इसके उपयोग का तरीका बताते है।

1. दिन भर में 1 से दो चम्मच चबाकर खाएं
2. दूध के साथ उबालें और पीयें
3. रोटी में तिल का पाउडर मिलाकर
4. चावल में तिल का पाउडर मिलाकर खाएं
5. सलाद में भी तिल का पाउडर मिलाकर खाया जा सकता हैं।

नोट: ध्यान रहें की हर रोग में इसकी सेवन की मात्रा अलग हो सकती हैं इसलिए डॉक्टर से सलाह के बाद ही इसका सीन करें।

निष्कर्ष

तिल के बीज (Sesame Seeds in Hindi) में पायें जाने वाले पोषक तत्व हमारे शरीर को स्वस्थ बनाने में मदद करती हैं। साथ ही इसका उपयोग कई तरह के रोगों में औषधि के तौर पे किया जाता हैं। लेकिन तिल के बीज के उपयोग करने कसे पहले डॉक्टर की सलाह जरुर लें।

उम्मीद हैं की आपको तिल के बीज (Sesame Seeds in Hindi) की यह जानकारी बेहद पसंद आई होगी। ऐसे ही आर्टिकल्स पढने के लिए हमारे ब्लॉग को फॉलो करें। यह जानकारी अगर आपको पसंद आई हो तो इसे अधिक से अधिक शेयर जरुर करें। इस बीज के अन्य फायदे पढ़ें.

Also, Read पथरी तोड़ने की दवा – जबरदस्त रामबाण घरेलू उपाय और पथरी से छुटकारा

Directory6.org

4 thoughts on “Sesame Seeds in Hindi – तिल के बीज के अद्भुत फायदे जानकर हैरान हो जायेंगे”

Leave a Comment