क्या लड़कों को भी पीरियड्स होते हैं – विस्तार से जाने

Spread the love

क्या लड़कों को भी पीरियड्स होते हैं यह एक ऐसा सवाल हैं जो अक्सर ही पूछा जाता हैं. शायद इस सवाल को सुनकर कई लोग अचंभित भी हो जाएँ की यह कैसे संभव हैं. आज की इस खास पोस्ट में मैं आपको इसी सवाल का जवाब विस्तार से देने जा रही हूँ. इसलिए इस पोस्ट को पूरा जरुर पढ़ें.

क्या लड़कों को भी पीरियड्स होते हैं
क्या लड़कों को भी पीरियड्स होते हैं

अक्सर आपने कई पुरुषों में मुड स्विंग होना, चिड़चिड़ापन, साधारण सी बातों पर गुस्सा आना जैसी चीजों का अनुभव किया होगा. यह लड़कों में पीरियड्स के कारण हो सकता हैं. जी हाँ आपने सही सुना लड़कों को भी लड़कियों की ही तरह पीरियड्स आते हैं. शायद आपने यह पहली बार सुना होगा लेकिन यह बात सच हैं. एक सर्वे से ये बातें सामने आई हैं की लड़कों में भी लड़कियों या महिलाओं की तरह पीरियड्स आते हैं हालाँकि यह महिलाओं से थोड़ा अलग होता हैं. इस स्थिति में लड़कों को पैड की जरूरत नहीं पडती हैं. लेकिन हार्मोनल बदलाव के कारण लड़कों का बर्ताव बिल्कुल बदल जाता हैं. हालाँकि यह 4 लड़कों में से सिर्फ 1 ही को होता हैं.

दरसल लड़कों में टेस्टोस्टेरोन होरमोंस पीरियड्स के मुख्य कारण माने जाते हैं. जब लडकों के शरीर में टेस्टोस्टेरोन का स्तर ऊपर निचे होता हैं तो यह समस्या उत्पन्न होती हैं. इस समस्या को Irritable Male Syndrome के नाम से भी जाना जाता हैं. यह ज्यादा तनाव मसालेदार भोजन या किसी मानसिक बीमारी के कारण भी हो सकता हैं. कई शोध के माध्यम से पता चला हैं की जब वजन में बदलाव आता हैं या जब लड़के तनाव में होते हैं तो इससे हार्मोनल बदलाव होते हैं जो पीरियड्स के कारण बनते हैं.

लड़कियों से कैसे लड़कों के पीरियड्स अलग

लडकों में पीरियड्स आना हार्मोनल बदलाव के कारण होता हैं. जी तरह लड़कियों में पीरियड्स आने पर गुस्सा और बार मूड बदलता हैं ठीक उसी तरह लडकों में भी होता हैं. लेकिन लड़कों को पीरियड्स आने पर पैड की कोई जरूरत नहीं होती हैं. यानी यह शरीर में सिर्फ हार्मोनल बदलाव के कारण होते हैं.

Also, Read एक सेब खाने पर कितनी कैलोरी मिलती हैं और खाने के फायदे क्या-क्या हैं ?

लड़कों में पीरियड्स आने के लक्षण

ठीक महिलाओं की ही तरह पुरुषों में भी पीरियड्स आने के कुछ लक्षण दिखाई देते हैं. कई लड़कों को जानकारी न होने के कारण इसका पता नहीं होता की उन्हें पीरियड्स आये हैं. पुरुषों में महिलाओं की तरह ब्लड नहीं आता लेकिन नीचे बताएं कुछ लक्षण दिखाई देते हैं.

  • पीरियड्स के दौरान लड़कों के पेट में दर्द, भूख की कमी का अनुभव होती हैं.
  • इसके अलावे कमर दर्द, स्वाभाव में बदलाव जैसे अत्याधिक गुस्सा आना, चिडचिडा हो जाना आदि आम हैं.
  • पीरियड्स के दौरान सबंध बनाने की इच्छा कम हो जाती हैं और साथ ही किसी चीज के प्रति अतिसंवेदनशीलता जैसे लक्षण प्रकट हो सकते हैं.
  • इस स्थिति में पुरुषों को भी लड़कियों की तरह चक्कर आ सकते हैं और मांसपेशियों में दर्द का अनुभव हो सकता हैं.

ये लक्षण 15 वर्ष के बाद ही दिखाई देते हैं. जो अधिकतम 55 से 60 वर्ष तक रहता हैं. पीरियड्स आने के बाद यह 24 घंटे से लेकर 48 घन्टे तक अपने लक्षण दिखा सकता हैं.

Also, Read प्लेटलेट्स बढ़ाने वाले फल – सिर्फ कुछ घंटे में बढ़ जायेंगे प्लेटलेट्स

लड़कों में पीरियड्स आने के मुख्य कारण

दोस्तों लड़कों में पीरियड्स आने के कारण नीचे बताएं गए हैं ध्यान से पढ़ें.

यह समस्या लड़कों में टेस्टोस्टेरोन में बदलाव के कारण होता हैं. यह आपके गलत खान पान की आदतों के कारण भी हो सकता हैं. क्योकिं ज्यादा मसालेदार और तेल में पके खाने से टेस्टोस्टेरोन होरमोंस के स्तर में उतार चढाव देखने को मिलता हैं. इसके अलावे यह किसी प्रकार की चिंता, मानसिक परेशानी या रोग, गलत जीवनशैली आदि कारणों से भी हो सकती हैं.

पीरियड्स को लेकर कई डॉक्टर्स और शोधकर्ताओं की अलग अलग राय हैं. कई विशेषज्ञों ने लड़कों के पीरियड्स आने की थ्योरी को नकार दिया. उनका कहना था की स्त्रियों में पीरियड्स आना प्रजनन का हिस्सा हैं. जबकि लड़कों में न तो डिंबोत्सर्जन होता हैं और नहीं लड़कों में गर्भाशय होता हैं. हालाँकि लड़कों में पीरियड्स को लेकर जो शोध किया गया था उसमें साफ कहा गया था की लड़कों में पीरियड्स के दौरान ब्लीडिंग का सामना नहीं करना पड़ता और यह लड़कियों की अपेक्षा थोड़ा अलग होता हैं.

लेकिन इसमें भी वही लक्षण दिखाई देते हैं जो लड़कियों में दिखाई देते हैं. यानी क्या लड़कों को भी पीरियड्स होते हैं इस टॉपिक पर और शोध करने की आवश्यकता हैं. भविष्य इसपे और शोध होने के बाद ही इस टॉपिक पर और विस्तार से बताया जा सकता हैं.

तो दोस्तों इस पोस्ट में मैंने आपको क्या लड़कों को भी पीरियड्स होते हैं इस क्वेश्चन को लेकर विस्तार से जवाब दिया हैं अगर यह पोस्ट आपको अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को शरेव करना बिल्कुल न भूलें.

Also, Read शरीर में सुस्ती और थकान दूर करने के उपाय