मिलेट्स क्या है | Types of Millets in Hindi

Spread the love

मिलेट्स ( Millets in Hindi ) क्या होता हैं और यह कितने प्रकार के होते हैं साथ ही इसके क्या फायदें हैं इन सबकी जानकारी आज आपको इस आर्टिकल के द्वारा मिलेगी।

मिलेट्स क्या है | What is Millet in Hindi

Millets in Hindi
Millets in Hindi

मिलेट ( Millets in Hindi ) एक तरह का अनाज हैं इसे हिंदी में बाजरा कहते हैं। मिलेट के अंर्तगत मोटे अनाज आते हैं जैसे ज्वार, बाजरा, कोदो आदि। इन्हीं मोटे अनाजों को हम हिंदी में मिलेट्स ( Millets in Hindi ) कहते हैं। मिलेट्स पैनिसी प्रजाति के अनाज होते हैं। इस तरह के अनाजों की खेती मुख्यतः भारत, नाइजेरिया, और लगभग एशिया के सभी देशों में की जाती हैं। यह अर्ध शुष्क उष्णकटिबंधीय फसल हैं जिसका उत्पादन सबसे ज्यादा विकाशशील देशों में किया जाता हैं। खास बात यह हैं की मिलेट्स की फसल बहुत जल्द तैयार हो जाती हैं। यह ज्यादा गर्मी वाले स्थानों पर भी आसानी से अच्छा उत्पादन देती हैं।

मिलेट में पायें जाने वाले पोषक तत्व

दोस्तों मिलेट्स के सेवन से कई रोगों से बचा जा सकता हैं। साथ ही यह आपके शरीर की प्रतिरक्षा तंत्र को भी मजबूत करता हैं। अगर आप एसिडिटी और गैस की समस्या से परेशान हैं तो मिलेट्स ( Millets in Hindi ) के सेवन से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता हैं। आपको बता दे की मिलेट्स में कई तरह के पोषक तत्व पायें जाते हैं। इसमें जिंक, मैग्नीशियम, फाइबर, विटामिन B6, आयरन आदि प्रचुर मात्रा में होती हैं जो हमारे शरीर को उचित पोषण देती हैं।

Also, Read कैशोर गुग्गुलु के फायदे (Kaishore guggul ke fayde)

अन्य बिमारियों में भी मिलेट्स हैं बेहद फायदेमंद | Millets in Hindi

दोस्तों एक्सपर्ट्स से ली गयी जानकारी के अनुसार मिलेट्स किडनी, लिवर, टाइप 1,2 डायबिटीज, अस्थमा में काफी फायदेमंद हैं। साथ ही यह आपके शरीर को डिटॉक्‍सीफाई करने में मदद करती हैं। यह एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होती हैं। इतना ही नहीं ठण्ड के मौसम में अगर आप इसका सेवन करते हैं तो यह आपके शरीर को गर्म रखने में मदद करती हैं इसमें मौजूद फाइबर, मिनरल्स शरीर को तरोताजा रखती हैं। इसका सेवन आपके मोटापे को भी कम कर सकती हैं। भारत ही नहीं कई देशों में मिलेट्स ( Millets in Hindi ) की मांग बेहद ज्यादा हैं और इसी कारण सरकार भी इस तरह के अनाजों को की खेती के लिए किसानों को प्रेरित कार रही हैं।

Also, Read सोंठ के फायदे (Sonth ke fayde)

चावल और गेहूं का बेहतर विकल्प

मिलेट्स ( Millets in Hindi ) चावल और गेहूं जैसे अनाजों की जगह एक बेहतर विकल्प हैं। आज भी शहरों में सबसे ज्यादा भारतीय घरों में गेहूं और चावल का प्रयोग मुख्य खाद्य पदार्थ के तौर पे सबसे ज्यादा होता हैं। लेकिन जैसे जैसे जागरूकता बढ़ रही हैं यानी लोगों को मिलेट्स के फायदे पता चल रहे हैं वैसे वैसे लोग गेहूं की जगह बाजरा का प्रयोग कार रहे हैं। सरकार इसकी खेती करने वाले को उत्पादन और परिपक्वता अनुदान भी देती हैं। भारत सरकार मिलेट्स की खेती का विस्तार कर पुरे विश्व में निर्यात करने की योजना पर कार्य कार रही हैं।

Also, Read तीसी के फायदे (Tisi ke fayde)

अनाज के प्रकार

दोस्तों अनाज को उसके गुणों और उसके आकार के आधार पर तीन भागों में बांटा जाता हैं।

1. नेगेटिव ग्रेन्स : इसके अंतर्गत ऐसे अनाज आते हैं जिनके सेवन से भविष्य में बीमारियाँ होने के चान्सेस होते हैं जैसे गेहूं, चावल आदि।

2. न्यूट्रल ग्रेन्स: ऐसे अनाज जिसके सेवन से न हानि होती हैं और न ही कोई खास फायदा। लेकिन यह आपके शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करती हैं। ज्वार, बाजरा, रागी आदि इसी तरह के अनाज हैं।

3. पॉजिटिव ग्रेन्स: इसके अंतर्गत छोटे अनाज आते हैं जैसे कोदो, सनवा आदि।

Also, Read भुना हुआ लहसुन के फायदे (Bhuna hua Lahsun ke Fayde)

मिलेट्स के प्रकार | Types of Millets in Hindi

Barnyard Millet In Hindi

Barnyard Millet In Hindi : दोस्तों, यह सबसे पौष्टिक बाजरा में से एक हैं। इस तरह का बाजरा इंडिया और नेपाल में सबसे ज्यादा उगाया जाता हैं। इसका उपयोग इन देशों में दलिया और चावल जैसे मुख्य भोजन के विकल्प के तौर पे किया जाता हैं। Barnyard Millet में उच्च मात्रा में फाइबर, आयरन और पोटाशियम जैसे खनिज मौजूद होते हैं जो शरीर के लिए बेहद ही फायदेमंद माने जाते हैं। साठ ही इसमें वसा और कैलोरी कम होती है जो अत्याधिक वजन वाले व्यक्ति के लिए काफी लाभदायक हैं। इसके सेवन से वजन कम होता हैं। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो कई गंभीर बिमारियों से बचाता हैं। यह पाचन तंत्र में सुधार करता हैं और कोलेस्ट्रोल के स्तर को भी नियंत्रित करता हैं।

Also, Read कीड़ा जड़ी के फायदे (Kida Jadi ke Fayde)

Foxtail Millets in Hindi

Foxtail Millets in Hindi : इस मिलेट को कंगनी भी कहा जाता हैं। इसकी खेती सबसे ज्यादा अफ्रीका और एशिया में की जाती हैं। दलिया बनाने में इसका प्रयोग बड़े पैमाने पे किया जाता हैं। इस प्रकार के मिलेट्स में भी भरपूर मात्रा में आयरन, मगिन्शियम और पोटाशियम जैसे तत्व होते हैं। foxtail Millets भी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं। सेहत के लिए कंगनी का सेवन बेहद फायदेमंद हैं।

Also, Read प्रवाल पिष्टी के फायदे (Praval pishti ke fayde)

Pearl Millet in Hindi

Pearl Millet in Hindi : Pearl Millet, इसे हम बाजरा भी कहते हैं। इसका सेवन भी अफ्रीका और इंडिया में मुख्य खाद्य पदार्थ के तौर पे बड़े पैमाने पे किया जाता हैं। pearl Millet में भी कैल्शियम, आयरन, फाइबर, प्रोटीन, मैग्नीशियम आदि उच्च मात्रा में होता हैं। खासतौर पर बाजरा में फोस्फोरस की मात्रा बहुत ज्यादा होती हैं। इसे अन्य कई नामों से भी जाना जाता हैं जैसे: बजरी, कम्बू आदि। बाजरे का उपयोग दलिया, कुकीज और भी कई तरह के खाद्य पदार्थों को बनाने में किया जाता हैं। इसकी खेती के लिए ज्यादा पानी की आवश्यकता नहीं होती हैं जिसके कारण यह गर्म स्थानों पर भी उगाया जाता हैं।

Also, Read सालम पाक के फायदे (Salam Pak ke Fayde)

Browntop Millet in Hindi

Browntop Millet in Hindi : यह अनाज भूरे रंग का होता हैं और यही कारण हैं की इसे Browntop Millet कहते हैं। इसकी खेती नार्मल Temprature में की जाती हैं यानी न ज्यादा ठण्ड और न ज्यादा गर्म। सिर्फ 3 महीने में ही इसकी फसल तैयार हो जाती हैं। ब्राउन टॉप मिलेट का प्रयोग किसान गायों को चारा देने में भी करतें हैं। साथ ही इन्सान भी मुख्य भोजन के रूप में इसे ग्रहण करते हैं। इसमें भी भरपूर मात्रा में प्रोटीन और विटामिन पायें जाते हैं जो हमारे शरीर को रोग मुक्त रखने में सहायता करता हैं। इसकी खेती सबसे ज्यादा , इंडिया, भूटान, नेपाल, अफ्रीका आदि देशों में किया जाता हैं। इसे अन्द्कोरा, पालापुल, कोरेल, बांसपाते आदि नामों से भी जाना जाता हैं।

Also, Read चिंगम खाने के फायदे (Chingam Khane ke Fayde)

Little Millet in Hindi ( Types of Millets in Hindi )

Little Millets in Hindi : लिटिल मिलेट को हम कुटकी बाजरा के नाम से भी जानते हैं। इसका रंग सफ़ेद होता हैं साथ ही इसके दाने छोटे-छोटे होते हैं। यह ग्लूटेन-फ्री होता हैं जो ग्लूटेन रोगियों के लिए बेहद फायदेमंद हैं। इसमें प्रोटीन, फाइबर आदि प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं। कई एक्सपर्ट्स की माने तो यह डायबिटीज, हार्ट सबंधित रोगों और कैंसर में बेहद लाभदायक हैं।

Also, Read कामिनी विद्रावण रस के फायदे (Kamini Vidrawan Ras Ke Fayde in Hindi)

Kodo Millet in Hindi

Kodo Millets in Hindi : औषधीय गुणों से भरपूर यह मिलेट कफ, पित्त दोष आदि में रामबाण की तरह कार्य करती हैं । यह पॉजिटिव मिलेट हैं जिसका उपयोग मधुमेह, कैंसर, पेट रोग से ग्रसित व्यक्तियों के इलाज में भी किया जाता हैं। इसे हिंदी में केद्रव भी कहते हैं। यह शरीर के खून को शुद्ध कर हमें कई तरह के बीमारियों से भी बचाता हैं। इसका सेवन बहुत लाभदायक माना जाता हैं।

Also, Read हीरा भस्म के फायदे (Hira Bhasma ke Fayde)

Ragi Hindi

Ragi Hindi : फिंगर मिलेट के नाम से प्रसिद्ध रागी को हिंदी में मडुआ के नाम से भी भारत में जाना जाता हैं। इसके दाने गोलाकार और चिकने होते हैं। यह बिल्कुल भूरे रंग का होता हैं। इसमें आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं जो हमारे शरीर में पायें जाने वाले रेड ब्लड सेल्स में हिमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मदद करती हैं। इसमें भी कई तरह के पोषक तत्व पायें जाते हैं जैसे – विटामिन C, आयरन, फाइबर इत्यादि। रागी के सेवन से आपकी पाचन शक्ती भी मजबूत होती हैं।

Also, Read बादाम पाक के फायदे (Badam Pak ke Fayde)