Obsessive Compulsive Disorder in Hindi

Spread the love

Obsessive Compulsive Disorder in Hindi: नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग में। आज हम बात करेंगे obsessive compulsive disorder यानी कि ओसीडी के बारे में। Obsessive compulsive disorder यानी ओसीडी एक ऐसी मानसिक बीमारी है जिसका नाम सुनते ही दिमाग में  बहुत सारे विचार आने लगते हैं। आज के इस ब्लॉग  में हम आप को obsessive compulsive disorder यानी कि ओसीडी के बारे में ही बताएंगे और इसके कई सारे उपाय, लक्षण और बचाव के बारे में भी जानेंगे।  Obsessive compulsive disorder यानी OCD एक बहुत ही कॉमन और बहुत लंबा चलने वाली डिसऑर्डर है जिसमें एक इंसान अपनी सोच को और अपने व्यवहार को बार-बार दोहराता है। 

Obsessive Compulsive Disorder in Hindi
Obsessive Compulsive Disorder in Hindi

Obsessive compulsive disorder  में obsession का मतलब होता है  एक व्यवहार को बार-बार दोहराना । जो विचार लोगों के मन में बार-बार आते हैं उनको हर रोज  सोचना  या फिर उनकी तरफ प्रभावित होकर व्यवहार करना। विचार किसी भी प्रकार के हो सकते हैं सकते हैं, और कुछ नेगेटिव हो सकते हैं। अगर यह विचार आपके मन में बार-बार आते हैं और इन विचारों की वजह से आपको घबराहट होती है तो हम इन्हें चाह कर भी रोक नहीं सकते। Obsessive compulsive disorder में कंपल्शन का मतलब होता है मजबूरी यानी कि आपके मन में जो विचार आते हैं चाहे वह नेगेटिव हो या पॉजिटिव हो आप उन कार्य को करने के लिए मजबूर हो जाते हैं। 

जैसे कि अगर आपके मन में हर बार यह ख्याल आता है कि आपके हाथ गंदे हैं और आपको इन्हें धोना ही पड़ेगा तो आप ना चाहते हुए भी घबरा कर अपने हाथों को बार-बार धोते  रहेंगे और यह प्रक्रिया हर बार रिपीट होती रहेगी। इसी तरह बार-बार हाथ धोना एक तरह का कंपल्शन है, जिससे Obsessive compulsive disorder   के मरीज को कुछ देर के लिए अच्छा महसूस होता है लेकिन यह प्रक्रिया बार-बार होती रहती है और इसी प्रक्रिया को कंपल्शन कहते हैं।

Obsessive compulsive disorder के मरीज हर रोज बढ़ते जा रहे हैं। अगर इसका सही वक्त पर इलाज न कराया जाए तो यह बहुत खतरनाक भी साबित हो सकता है। यह एक आक्रमक बीमारी है जिसकी वजह से एक व्यक्ति की जान भी जा सकती है  क्योंकि चिंता और तनाव के कारण किसी भी इंसान का मानसिक संतुलन बिगड़ सकता है।

Obsessive compulsive disorder के प्रकार और लक्षण (OCD Symptoms)

ओसीडी बहुत सारे प्रकार के हो सकते हैं।  ओसीडी की जानकारी होना बहुत जरूरी है ताकि आप  ओसीडी से पीड़ित व्यक्ति को पहचान सके और अपने साथ-साथ बाकी लोगों की भी मदद कर सकें।

यहाँ पढ़ें चेहरे की फुंसी हटाने के घरेलू उपाय | कूल्हे पर फुंसी का इलाज

कंटैमिनेशन (Obsessive Compulsive Disorder in Hindi)

जो व्यक्ति इस प्रकार के OCD से पीड़ित होता है उसका साफ सफाई की तरफ  Obsession अधिक बढ़ जाता है । यह ओसीडी (OCD) आपको बहुत सारे लोगों में मिल सकती है।  इस ओसीडी के लक्षण में एक इंसान ज्यादा सफाई करना चाहता है फिर वह चाहे कपड़े की सफाई हो, कमरे की सफाई हो, सफाई हो शरीर की, घर की सफाई हो ,या फिर किसी भी तरह की सफाई हो। इस ओसीडी से पीड़ित व्यक्ति को ऐसा एहसास होने लगता है कि यदि वह किसी भी कचरे के पास चले जाएंगे तो उनके ऊपर गंदगी आ जाएगी या फिर germs अटैक हो जाएगा और उनको फिर से नहाना पड़ेगा।  

कुछ लोग तो अपने घर के बाहर जैसे कि बस स्टेशन या फिर कहीं भी किसी का भी टॉयलेट इस्तेमाल नहीं करते क्योंकि उनको यह लगता है कि यह बहुत गंदा होगा।  उनको हर समय यही लगता है कि उनके कपड़े गंदे ना हो जाए।  बहुत सारे ख्याल उनके दिमाग में आते हैं और वह खुद को साफ सुथरा और गंदगी से दूर रहना पसंद करते हैं। गंदगी से जुड़े ख्याल बार-बार परेशान करते हैं कि कहीं कुछ हो ना जाए और उनको लगता है कि उनके आसपास बहुत गंदगी है।  

यहाँ पढ़ें बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Disorder) क्या है?

परफेक्शन (OCD in Hindi)

यह OCD उन लोगों को बहुत परेशान करती है जिन्हें चीजों को एक विशेष प्रकार से रखने की आदत है या फिर उन्हें ऐसा लगता है कि ये  वस्तु इस प्रकार से क्यों नहीं रखी गई?  इस ओसीडी में इंसान परफेक्ट होने की सोचता है अगर उसके पास एक रंग का कपड़ा है तो वह सोचता है कि इसे सजा दिया जाए या फिर अपने हिसाब से पंक्ति में रख दिया जाए। अगर कोई भी चीज एक बराबर नहीं है तो वह इंसान उसे एक बराबरी में रखने के लिए हमेशा  चिंतित रहता है। 

उनके दिमाग में हमेशा यह ख्याल आता रहता है कि कोई भी चीज ऑर्डर में नहीं रखी गई तो  कुछ भी बुरा हो सकता है। इस ओसीडी से गुजर रहे लोगों को हमेशा ही यह चिंता रहती है की  वह चीजों को ऑर्डर में रखें फिर चाहे वह किसी भी प्रकार की वस्तु हो या फिर कुछ भी हो।

यहाँ पढ़ें नींद नहीं आती तो करें ये बेहतरीन उपाय

संदेह करना (Obsessive Compulsive Disorder in Hindi)

इस प्रकार के उस OCD से गुजर रहे लोगों  के दिमाग में हमेशा संदेह के ख्याल आते हैं। क्या मैंने अपने छत का दरवाजा बंद किया,  क्या मैंने फ्रिज का दरवाजा बंद किया, क्या मैंने सिलेंडर बंद किया, कहीं पंखे का बटन तो खुला नहीं रह गया,  ऐसे बहुत सारे सवाल उनके मन में आते रहते हैं। इसी वजह से वह बार-बार इन्हीं चीजों को देखने के लिए जाते हैं  क्योंकि उनके दिमाग में अजीब तरह का तनाव रहता है। जब तक वो इस काम को ना करें तो उनके मन को सुकून नहीं मिलता। यह आदत हर इंसान में देखने को मिल जाती है। 

कुछ लोग तो इस हद तक चले जाते हैं  की 5-6 बार  चेक ना कर ले तब तक उनके दिमाग में हलचल रहती है। उनका दिमाग बार-बार उसी जगह पर जाता रहता है। यह सब करने से ना सिर्फ उनका समय व्यर्थ होता है बल्कि मानसिक प्रभाव भी पड़ता है।

यहाँ पढ़ें खजूर खाने के फायदे (Khajur Khane ke Fayde in Hindi)

ओसीडी के बचाव(How to Avoid OCD)

ओसीडी (OCD) किसी भी प्रकार की गंभीर बीमारी या महामारी नहीं है बल्कि ओसीडी का इलाज समय पर  ना करें तो यह बहुत खतरनाक हो सकती है। अगर आपको किसी भी प्रकार  के ओसीडी के लक्षण दिखाई दे तो डॉक्टर या साइकोलॉजिस्ट की सलाह लें। वह आपको इस बीमारी से छुटकारा दिला सकते हैं।  नीचे दिए गए कुछ उपाय हैं जिससे आप ओसीडी का बचाव कर सकते हैं।

1. अपने हालात को अच्छी तरह से देखें और परखे।

2. किसी भी स्थिति में अपना साथ दे।

3. अपने दिमाग में केवल पॉजिटिव यानी कि सकारात्मक विचार  लाने की कोशिश करें।

4. अगर कुछ काम करने का मन करें तो आप उसका उल्टा भी कर सकते हैं जैसे कि अगर आपको बार-बार एक ही रंग  के कपड़े पहनने का मन करें  तो आप अलग रंग और प्रकार के कपड़े भी पहनने की कोशिश कर सकते हैं।

5. अपने व्यव्हार  में बदलाव लाएं।

यहाँ पढ़ें भ्रम और कल्पना की दुनियां सिजोफ्रेनिया | Schizophrenia In Hindi

“Obsessive Compulsive Disorder in Hindi” इस आर्टिकल के जरिये OCD की सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की गयी हैं। अगर आपके मन में कोई एनी प्रश्न हैं तो जरुर पूछे।

Leave a Comment