खजूर खाने के फायदे (Khajur Khane ke Fayde in Hindi)

Spread the love

खजूर खाने के फायदे (Khajur Khane ke Fayde): कौन नहीं चाहता की वो स्वस्थ और सेहतमंद जिंदगी जियें। स्वस्थ रहने के लिए लोग क्या कुछ नहीं करते हैं रोज सुबह उठकर व्यायाम करते हैं, फल फुल का सेवन करते हैं ताकि टेंशन से दूर रहे। स्वस्थ रहने के लिए जितने व्यायाम की आवश्यकता उससे कई ज्यादा स्वस्थ और संतुलित भोजन करने की। स्वस्थ रहने के लिए फल का सेवन बेहद आवश्यक हैं। तो आज की इस आर्टिकल में मैं आपको खजूर खाने के फायदे (Khajur Khane ke Fayde) के बारें में डिटेल में बताउंगी।

खजूर खाने के फायदे (Khajur Khane ke Fayde in Hindi)
खजूर खाने के फायदे (Khajur Khane ke Fayde in Hindi)

खजूर क्या है? खजूर के पेड़ कैसा होता हैं

भारत में खजूर का पेड़ लगभग हर जगह देखने को मिल जाता हैं। यह ताड़ एवं नारियल के पेड़ की ही तरह लम्बा होता हैं। इसकी ऊंचाई सामान्यत: 40 से 80 फीट तक होती हैं। खजूर को संस्कृत में खर्जुरम् कहाँ जाता हैं। इसका साइंटिफिक नाम Phoenix Dactylifera हैं और इंग्लिश में इसे Dates कहते हैं। इस पेड़ की खास बात ये हैं की यह पेड़ गर्म वातावरण में भी जैसे रेगिस्तान में भी देखने को मिलते हैं। इसके फल पेड़ के शीर्ष भाग पे लगते हैं। खजूर का फल बादाम की तरह छोटा होता हैं। इसके रंग की बात करें तो यह पकने के बाद भूरे रंग का हो जाता हैं। खजूर जब सुख जाता हैं तो इसे छुहारा कहते हैं। ज्यादातर लोग गुड़ की चासनी में डूबकर इसे खाना पसंद करते हैं। खजूर खाने के अनेक फायदे (Khajur Khane ke Fayde) जो आपको डिटेल में हम बताएँगे।

खजूर क्या है? खजूर के पेड़ कैसा होता हैं
खजूर क्या है? खजूर के पेड़ कैसा होता हैं

खजूर का फल कैसा होता है?

खजूर खाने के फायदे (Khajur Khane ke Fayde) अनेक हैं साथ ही खजूर खाने में बेहद ही स्वादिष्ट और मीठे होते हैं। इसकी खेती सबसे ज्यादा उत्तरी अफ्रीका और दक्षिण एशिया में की जाती हैं। खजूर की अधिकतम आयु 100 तक हो सकती हैं। खजूर के फल बेलनाकार और अंडे के आकार जैसे होते हैं जो की 3 इंच तक लम्बे और 1 इंच मोटे हो सकते हैं। खजूर का प्रयोग बड़े पैमाने पर मिठाई बनाने में भी उपयोग किये जाते हैं। खजूर के पौधे दो प्रकार के होते हैं एक मादा जो की फल देते हैं और दुसरे नर।

आयुर्वेद के अनुसार खजूर के फायदे (Khajur Khane ke Fayde)

आयुर्वेद के अनुसार खजूर के फायदे
आयुर्वेद के अनुसार खजूर के फायदे

आयुर्वेद में खजूर को ठंडक प्रदान करने वाले फलों में शामिल किया गया हैं। यह फल शक्ति प्रदान करता हैं साथ ही यह कई गुणों से युक्त होने के कारण पूर्ण आहार की श्रेणी में आता हैं। आयुर्वेद में खजूर खाने के बहुत फायदे हैं। दरसल खजूर में प्रचुर मात्रा में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन और शर्करा होती हैं जो इसे पूर्ण आहार की श्रेणी में रखता हैं। खजूर के पत्ते का प्रयोग झाड़ू और इसके रेशे का प्रयोग रस्सी बनाने में किया जाता हैं। इसकी रस्सी बेहद मजबूत होती हैं।

यहाँ पढ़ें तुरंत गोरा होने के उपाय(Gore Hone Ke Upay)

खजूर में पायें जाने वाले पोषक तत्व

खजूर में प्रचुर मात्रा में विटामिन बी, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, विटामिन के, कैल्शियम, आयरन, विटामिन ए, मैग्नीशियम, पोटेशियम, प्रोटीन, फैटी एसिड्स, जिंक मैंगनीज और विटामिन सी पायें जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए बेहद ही लाभदायक हैं। विटामिन सी हमारे इम्युनिटी को बूस्ट करती हैं वही विटामिन A और बी क्रमशः शरीर के अंगों को विकसित करने और हृदय के लिए फायदेमंद माना जाता हैं। यहीं नहीं खजूर में कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं।

यहाँ पढ़ें Ankho ki Roshni Kaise Badhaye In Hindi

खजूर खाने के हैं अनेक फायदे (Khajur Khane ke Fayde)

  1. पाचन क्रिया के सुधार और कब्ज में: अगर आप भी कब्ज या पाचन संबंधी विकारों से जूझ रहे हैं तो खजूर आपकी इन प्रोब्लेम्स को दूर कर सकता हैं। दरसल खजूर में भरपूर मात्रा में फाइबर होता हैं जो आपके पाचन सबंधी विकारों को दूर करने में सहायक हैं।
  2. एनीमिया: एनीमिया होने पर खजूर का सेवन बेहद ही लाभप्रद हैं। दरसल खजूर में मौजूद आयरन और विटामिन A खून बनाने का काम करी हैं। एनीमिया बीमारी में हमारे मष्तिष्क को खून की आपूर्ति सही तरीके से नहीं हो पाती हैं ऐसे में खजूर इस रोग के लिए बेहद लाभकारी माना जाता हैं।
  3. गठिया रोग: आज के समय में गलत खान पान और खराब जीवनशैली के कारण जॉइंट पेन की समस्या बेहद आम हो गयी हैं। खजूर गठिया में बेहद लाभकारी हैं। रोजाना 1 गिलास गर्म दूध में घी और खजूर मिअलाक्र पीने से गठीया रोग में जल्द आराम मिलता हैं। इतना ही नहीं आगे आप खजूर के तेल से जॉइंट्स पर मालिश करने से दर्द में जल्द आराम मिलता हैं।
  4. रक्तचाप नियंत्रण में: जी हाँ खजूर का सेवन उच्च रक्तचाप और निम्न रक्तचाप में काफी लाभकारी हैं। इसमें मौजूद पोटाशियम और अन्य पोषक तत्व रक्तचाप को नियंत्रित करने में सक्षम हैं। आपको बता दे की 12 ग्राम मेडजूल खजूर में करीब करीब 80 मिलीग्राम पोटैशियम होता हैं। यह मात्रा किसी एनी फल की तुलना में बेहद ज्यादा हैं।
  5. बवासीर: ये तो आप जानते हैं की जिन्हें कब्ज की अधिक समस्या रहती हैं उन्हें ब्वासित होने का खतरा बहुत ज्यादा होता हैं। खजूर में प्रचुर मात्रा में फाइबर होता हैं जो की पाचन प्रक्रिया को सही कर कब्ज से छुटकारा दिलाता हैं। तो इस तरह बवासीर जैसे रोगों से बचने के लिए खजूर का उपयोग बेहद लाभकारी हैं। हालाँकि ध्यान रहें की बवासीर में इसके सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह जरुर लें।
  6. त्वचा के स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से खजूर के फायदे : खजूर के बीज विटामिन A, विटामिन D, फाइटोहार्मोन आदि हमारी त्वचा को स्वस्थ रखता हैं। फाइटोहार्मोन एंटी-एजिंग की भांति वर्क कर झुर्रियों से बचाता हैं।
  7. बालों की सेहत के लिए खजूर के लाभ: खजूर में मौजूद आयरन और विटामिन E बालों के लिए किसी वरदान से कम नहीं हैं। खजूर के सेवन से न केवल बालों का झड़ना रुकता हैं बल्कि बाल मोटे और घने भी होते हैं। दरसल खजूर स्कैल्प में रक्त संचार को बढ़ाने का काम करती हैं। हालाँकि इसपे अभी शोध जारी हैं।
  8. हड्डी मजबूत करने में: इसमें मौजूद पोषक तत्व आपके हड्डियों को ताकतवर और सुदृढ़ बनाता हैं।
  9. इन सबके अलावे खजूर का प्रयोग यौन स्वास्थ्य और हृदय को स्वस्थ रखने में भी किया जाता हैं।

यहाँ पढ़ें Height Kaise Badhaye ! Height बढ़ाने के लिए योग

खजूर खाने के नुकसान (Khajur Khane ke Nuksan)

खजूर खाने के नुकसान (Khajur Khane ke Nuksan)
खजूर खाने के नुकसान (Khajur Khane ke Nuksan)

खजूर का सेवन कब नहीं करना चाहिए? खजूर खाने के क्या-क्या नुकसान हैं नीचे पढ़ें (khajur khane ke nuksan)

  1. डायरिया में , किडनी रोग में , गर्भवती महिलाओं को, खजूर नहीं खाना चाहिए।
  2. अगर आप मोटे हैं तो खजूर बिलकुल न खाएं क्योकि खजूर खाने से आप और अधिक मोटे हो सकते हैं,
  3. 0 से 2 साल के बच्चे को खजूर नहीं देना चाहिए। अगर खजूर खिलाना ही हैं तो डॉक्टर की सलाह जरुर लें।

खजूर खाने का सही तरीका (Khajur Khane ka Tarika)

अब तक मैंने आपको खजूर खाने के फायदें (Khajur Khane ke Fayde) और नुकसान के बारें में बताया हैं. अब खजूर खाने का सही तरीका क्या हैं जाने:

  1. खजूर को सीधे तौर पे भी खाया जा सकता हैं।
  2. दूध के साथ इसका सेवन बेहद लाभकारी हैं।
  3. पानी में फुलाकर भी इसका सेवन किया जा सकता हैं। इसके लिए रात भर खजूर को पानी में फूलने के लिए छोड़ दे।
  4. इन सबके अलावे इसकी चटनी बनाकर, खीर में डालकर भी खाना फायदेमंद हैं।

तो दोस्तों इस आर्टिकल में खजूर खाने के फायदे (Khajur Khane ke Fayde in Hindi) डिटेल में बताएं गए साथ ही इसके कुछ नुकसान भी हैं। इसलिए डॉक्टर की सलाह के बाद ही इसका सेवन करें। खजूर का सेवन कब और कितनी मात्रा में करनी चाहिए इसकी जानकारी चिकित्सक से जरुर ले।

यहाँ पढ़ें व्यायाम के 10 लाभ

FAQ

क्या बच्चे खजूर कहा सकते हैं?

बिल्कुल 5 साल से अधिक आयु के बच्चों की अगर रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हैं या शरीर में आयरन की कमी हैं तो उन्हें प्रतिदिन 1 खजूर का सेवन अवश्य करना चाहिए।

1 दिन में कितनी खजूर खानी चाहिए?

एक व्यस्क पुरुष या महिला को स्वस्थ रहने के लिए 3 से 4 खजूर का सेवन करना सही रहेगा।

खजूर कब नहीं खाना चाहिए?

डायरिया, किडनी से सम्बंधित रोगियों और गर्भवती महिला को खजूर नहीं खाना चाहिए।

सुबह खाली पेट खजूर खाने से क्या फायदा होता है?

खजूर खाने से जल्दी भूख नहीं लगती हैं जो आपके weight Loss करने में सहायक हो सकती हैं।

खजूर खाने का सही समय क्या है?

खजूर सुबह-सुबह नाश्ते में खाने से बहुत फायदें हैं इससे शरीर को एनर्जी मिलती हैं जल्दी नींद नहीं आती हैं जिससे आप उर्जावान महसूस करते हैं।

यहाँ पढ़ें Bhatkoiya(भटकोईया) के फायदें और नुकसान

4 thoughts on “खजूर खाने के फायदे (Khajur Khane ke Fayde in Hindi)”

Leave a Comment