ईएसआर बढ़ने से क्या होता है – ईएसआर क्या हैं इसका घरेलु उपाय

Spread the love

ईएसआर बढ़ने से क्या होता है : ईएसआर (Erethrocyte Sedimentation Rate) एक तरह का ब्लड टेस्ट होता हैं। इस तरह के टेस्ट से शरीर में सुजन और कई तरह के इन्फेक्शन की समस्या का पता चलता हैं। दरसल इस टेस्ट के जरिये डॉक्टर व्यक्ति के शरीर से खून निकालकर Red Blood Cells की जाँच करते हैं साथ ही Red Blood Cells के सेडिमेंटेशन अर्थात उसमें समस्यायों की भी जाँच करते हैं। एक लम्बी और पतली टेस्ट ट्यूब में जब Red Blood Cells तेजी से नीचे की ओर गिरने लगती हैं तो इसका अर्थ हैं की Red Blood Cells में कोई समस्या हैं। यह सेल्स जितनी तेजी से नीचे की ओर जाती हैं उतना ही आपका ईएसआर स्तर बढ़ा हुआ दर्शाता हैं। अगर यह धीरे धीरे डूबती या बैठती हैं तो इसका मतलब हैं की कोई समस्या नहीं हैं।

ईएसआर बढ़ने से क्या होता है
ईएसआर बढ़ने से क्या होता है

टेस्ट ईएसआर से सुजन और इन्फेक्शन की जानकारी प्राप्त होती हैं। आइये आपको बताते हैं की ईएसआर बढ़ने से क्या होता है और किन कारणों से ईएसआर बढ़ता हैं।

जाने- ईएसआर बढ़ने से क्या होता है

दोस्तों ईएसआर का बढ़ने का मतलब हैं किसी रोग का संकेत देना। ईएसआर टेस्ट में खून का नमूना लिया जाता हैं। इस टेस्ट को खाना खाने के बाद भी किया जा सकता हैं। अगर आपका ESR लेवल बढ़ गया हैं तो इसका मतलब हैं की आपके शरीर में बीमारी ने अपना घर बना लिया हैं। हालाँकि इस टेस्ट द्वारा किसी खास रोग के बारें में पता नहीं किया जा सकता हैं लेकिन लक्षणों के आधार पर रोग को आसानी से पकड़ा जा सकता हैं। तो आइये ईएसआर बढ़ने से क्या होता है यह जानने से पहले इसके लक्षण जान लेते हैं।

Also, Read आँखों का धुंधलापन कैसे दूर करे – Sundarta

ईएसआर बढ़ने के लक्षण – ईएसआर बढ़ने से क्या होता है

दोस्तों ईएसआर बढ़ने से दिखाई देने वाले लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं:

  • शरीर के बॉडी पार्ट्स के जॉइंट में दर्द या अकडन जैसी समस्या
  • सर में दर्द छाती में दर्द का होना
  • गर्दन के पीछे या आगे दर्द
  • बुखार और डायरिया
  • लैट्रिन करते वक़्त ब्लड आने की समस्या
  • शरीर का फुल जाना
  • किडनी से सबंधित बीमारी से ग्रसित हो जाना
  • बेचैनी जैसा महसूस होना और मांसपेशियों में दर्द का होना

दोस्तों ईएसआर बढ़ने से ऊपर बताएं गए लक्षण दिखाई दे सकते हैं। आइये अब जानते हैं की ईएसआर बढ़ने के क्या-क्या कारण हो सकते हैं। ईएसआर का स्तर कई तरह के बीमारियों के कारण बढ़ सकता हैं। नीचे बताएं गए कारण प्रमुख हैं:

1. थायरोइड की समस्या
2. इन्फेक्शन
3. गठिया रोग
4. हड्डी में संक्रमण होने से
5. क्षय रोग होने पर
6. किडनी की बीमारी से

अब तक आपने जाना की ईएसआर बढ़ने से क्या होता है कौन कौन से लक्षण दिखाई देते हैं। अब आपको बताते हैं की ईएसआर बढ़ने पर क्या करना चाहिए।

डॉक्टर से कब मिलें

अगर आपको ऊपर बताएं गए लक्षण दिखाई देते हैं तो डॉक्टर से मिलकर उचित सलाह ले। डॉक्टर आपका ब्लड टेस्ट करने के लिए परामर्श दे सकते हैं। जिसके बाद यह पता लगाया जा सकता हैं की ईएसआर बढ़ने के पीछे का कारण क्या हैं। लक्षणों के आधार पर डॉक्टर रोग को पकड़ लेते हैं और उचित दवा द्वारा रोग का निदान किया जाता हैं।

Also, Read स्किन एलर्जी का देसी इलाज – 3 सबसे प्रभावकारी घरेलू उपाय

ईएसआर स्तर को कम करने के कुछ घरेलु उपाय

हल्दी

हल्दी में एंटीबायोटिक गुण पायें जाते हैं। इसके इस्तेमाल से ईएसआर स्तर कम करने में मदद मिल सकती हैं। इसके लिए एक गिलास द्ध में थोड़ी सी हल्दी डालकर रोज दिन में एक बार पियें। यह शरीर के सुजन को भी कम करने में सक्षम हैं।

नीम

नीम हमारे ब्लड के इन्फेक्शन को रोक सकती हैं। यह खून को साफ कर ईएसआर के बढे स्तर को कम करने में मदद करती हैं। इसके लिए 5 से 10 पत्ते का रस एक गिलास पानी में मिलाकर रोज पियें।

मेथी

मेथी का सेवन ईएसआर के लक्षणों से आराम दे सकता हैं. यह आपकी इम्युनिटी को बूस्ट करती हैं साथ ही इन्फेक्शन को रोकती हैं. इसके लिए 1 चम्मच मेथी को उबालकर उसेछानकर रोज पियें इससे सुजन में भी आराम मिलेगा.

Also, Read चेहरे के लिए सबसे बेस्ट क्रीम कौन सी है? – 5 सबसे प्रभावकारी क्रीम

निष्कर्ष

ईएसआर बढ़ने से क्या होता है के इस लेख में मैंने आपको विस्तार से ईएसआर बढ़ने के कारण और लक्षणों के बारें में बताया हैं। लक्षणों के आधार पर यह पता किया जा सकता हैं की ईएसआर बढ़ने का मुख्य कारण क्या हैं। इसलिए डॉक्टर से संपर्क कर अपने लक्षणों को सही सही बताएं।

मुझे उम्मीद हैं की ईएसआर स्तर बढ़ने से क्या होता है की यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। इस जानकारी को अधिक से अधिक शेयर करें। सुंदरता ब्लॉग पर आपको ढेरों ब्यूटी और हेल्थ टीप्स मिलेंगे आप हमारे अन्य पोस्ट को भी पढ़ सकते हैं।

Also, Read पीरियड लाने का उपाय – 5 सबसे आसान उपाय