पीपली के फायदे (Pipli ke Fayde)

Spread the love

पीपली के फायदे (Pipli ke Fayde): नमस्कार दोस्तों हम आपका स्वागत करते हैं अपने नए ब्लॉग पोस्ट में और आज हम बात करेंगे, पीपली के फायदे (pipli ke fayde) के बारे में। प्राचीन काल से ही औषधियों का इस्तेमाल शरीर को स्वस्थ रखने के लिए किया जा रहा है। आयुर्वेद में बताई गई काफी सारी औषधियां आज तक इस्तेमाल होती आ रही है। बदलते समय के साथ लोग भी बदलते जा रहे हैं और आयुर्वेदिक दवाओं को छोड़कर बाजार की दवाइयों पर ज्यादा निर्भर हो रहे हैं। आयुर्वेद के बताए गए उपचार को लोग भूल ना जाएं इसलिए आज मैं आपको सुंदरता के इस लेख में बताऊंगा पीपली के फायदे(pipli ke fayde), इसमें मिलने वाले पोषक तत्व, इसके नुकसान, और इसके इस्तेमाल के तरीके के बारे में।

पीपली के फायदे (Pipli ke Fayde)
पीपली के फायदे (Pipli ke Fayde)

Pipli Kya Hota Hai (पीपली क्या होता है)

पहले जान लेते हैं पीपली है क्या?

पीपली एक प्रकार की जड़ी बूटी है जिसके बारे में आयुर्वेद में भी बताया गया है। आयुर्वेद में पीपली का वर्णन है और उसमें इस की 4 प्रजातियों के बारे में बात की गई है। 2 मीटर तक जमीन पर फैली हुई पीपली की लताएं काफी कोमल होती है। पीपली के पेड़ के फलों का रंग  पकते समय गहरा काला होने लगता है। इसका पौधा काफी सुगंधित होता है और इसकी जड़ों का और फूलों का उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है। अगर इसे आप चखेंगे तो यह स्वाद में तीखा माना जाता है। बारिश के मौसम में  पीपली में फूल उगते हैं और ठंड के मौसम में इसमें फल आते हैं।

Also, Read एलोवेरा जेल के फायदे (Aloe Vera gel ke fayde)

पीपली में पोषक तत्व (Pipli Me Kya Kya Paya Jata Hai)

अब जानेंगे पीपली में मिलने वाले पोषक तत्वों के बारे में:

इसमें मिलने वाले पोषक तत्व जैसे विटामिन सी, कैल्शियम, पोटैशियम, सोडियम, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, जिंक, मैग्नीशियम, फास्फोरस, fat, इत्यादि हमारे शरीर को फायदा देते हैं।

पीपल का इस्तेमाल

अब हम जानते हैं पीपली के इस्तेमाल के बारे में:

  • पीपली का इस्तेमाल हर्बल सूप बनाने में होता है।
  • पीपली से मसाले बनाए जाते हैं जो भोजन में उपयोग होते हैं।
  • खांसी के लिए पीपली का चूर्ण उपयोग में आता है।

Also, Read अकरकरा के फायदे (Akarkara ke fayde)

फायदे (Pipli ke Fayde)

चलिए  जानते हैं पीपली के फायदे(pipli ke fayde) के बारे में:

कब्ज को दूर करने में

पीपली के फायदे(pipli ke fayde) में सबसे पहला फायदा है, कब्ज को करता है दूर।  पीपली में फाइबर की मात्रा भी होती है जो आपके पेट को स्वस्थ रखने में भी मदद करती है और साथ ही साथ आपको खाना पचाने के लिए भी मदद मिलती है। अगर आपको कब्ज है तो आप पीपली का इस्तेमाल कर सकते हैं। पिपलिया मिलने वाले पोषक तत्व आपको खाना पचाने में मदद करते हैं जिसकी वजह से मल के समय कब्ज के पेशेंट को आराम मिलता है।

Also, Read पत्थरचट्टा के फायदे (Patharchatta ke fayde)

लीवर की समस्या में पीपली के फायदे

पीपली के फायदे(pipli ke fayde) में दूसरा फायदा है, लीवर की समस्या को करता है दूर। इसमें मिलने वाले हेपेटोप्रोटेक्टिव गुण आपके लिवर को स्वस्थ रखने में मदद करता है। यही कारण है कि लोग अपने लीवर के स्वास्थ्य के लिए पीपली का इस्तेमाल करते हैं। एक स्टडी के दौरान यह पता चला कि पीपली में ग्लूटाथिओन बढ़ाने की क्षमता होती है। एनसीबीआई के एक शोध में पता चला कि बिना शराब पिए अगर लिवर में अधिक  फैट  होता है तो ग्लूटाथिओन उसमें प्रभाव दिखाता है।

बैक्टीरियल इन्फेक्शन में

पीपली के फायदे(pipli ke fayde) में तीसरा फायदा है, बैक्टीरिया से होने वाले इन्फेक्शन के लिए लाभदायक। अगर आपको बैक्टीरियल इन्फेक्शन से बचना है तो आप पीपली का इस्तेमाल करके देख सकते हैं। एक स्टडी के अनुसार यह पता चला कि  पीपली में एंटी बैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं जो शरीर में बैक्टीरिया के इंफेक्शन को रोकते हैं। साथ ही साथ यह आपके शरीर में  इंफेक्शन के संक्रमण को बढ़ने से भी रोकते हैं और उनसे बचाव भी करते हैं।

Also, Read अर्जुनारिष्ट के फायदे (Arjunarishta ke fayde)

दस्त में पीपली के फायदे

पीपली के फायदे(pipli ke fayde) में चौथा फायदा है, दस्त से दिलाता है राहत। मैंने आपको बताया कि पीपली के इस्तेमाल से आपको कब्ज में तो राहत मिलता ही है साथ ही साथ ही यह आप को दस्त में भी लाभ देता है। एक स्टडी से यह पता चला कि पीपली में एंटीडायरियल गुण पाए जाते हैं जिनकी मदद से दस्त के दौरान काफी मदद मिलती है। इसीलिए डायरिया के दौरान पेशेंट्स को पीपली का इस्तेमाल करने को कहा जाता है।

अस्थमा में लाभकारी

पीपली के फायदे(pipli ke fayde) में पांचवा फायदा है,  अस्थमा में होता है गुणकारी। अगर आपको ब्रोन्कियल अस्थमा की शिकायत है तो आप लोग पीपली का इस्तेमाल करके फायदा ले सकते हैं। दरअसल ब्रोन्कियल अस्थमा वह स्थिति होती है जिसमें आपकी विंड पाइप में सूजन आ जाती है। इसी सूजन के कारण आप को सांस लेने में भी काफी तकलीफ होती है। पीपली में मिलने वाले एंटीइन्फ्लेमेटरी गुण आपको मदद कर सकते हैं। यह आपकी विंड पाइप की सूजन को कम करके आप को सांस लेने में मदद करती है।

Also, Read मेथी दाना खाने के फायदे (Methi dana khane ke fayde)

पीपल के (पत्ते) के नुकसान (Pipli khane Ya Istemal Karne ke nuksan)

अब हम जानेंगे पीपली के नुकसान के बारे में:

  • पिपली के इस्तेमाल से आपको हाथों में जलन हो सकती है।
  • पीपली के इस्तेमाल से पैरों में भी जलन हो सकती है।
  • इसके इस्तेमाल से आंखों में जलन की शिकायत मिली है।
  • अत्यधिक रूप में इस्तेमाल करने से हृदय को भी नुकसान पहुंचता है।
  • सिरदर्द जैसी समस्या भी आपको देखने को मिल सकती है।
  • अगर आप प्रेग्नेंट है तो इसका इस्तेमाल बिना डॉक्टर की सलाह के ना करें।

Also, Read Anar Khane Ke Fayde (अनार खाने के फायदे)

FAQ

Q. वजन घटाने के लिए पीपली का सेवन कैसे करें?

Ans: आप लोग खाना खाने के बाद शहद में पीपली का पाउडर मिलाकर ले सकते हैं।

Q. खांसी के लिए पीपली का उपयोग कैसे करें?

Ans: अगर आपको खांसी हो गई है तो आप लोग पीपली का पाउडर शहद में मिलाकर ले सकते हैं।

Q. क्या पीपली लीवर के लिए अच्छी है?

Ans: जी हां, पीपली को लिवर के लिए काफी फायदेमंद बताया गया है।

Q. पीपली कितने प्रकार की होती हैं?

Ans: आयुर्वेद में पीपली की 4 प्रजातियां बताई गई है और यह दो प्रकार की होती हैं छोटी और बड़ी पीपली।

दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से मैंने आपको पीपली के फायदे (Pipli ke Fayde) के बारें में डिटेल में बताया हैं। हालाँकि इसके कई नुकसान भी इसलिए बीना डॉक्टर के सलाह के इसका सेवन न करें।

Also, Read जमीन पर सोने के फायदे (Jameen Par Sone ke Fayde)

Leave a Comment