आसमान के ऊपर कौन रहता है / आसमान नीला क्यों होता है?

Spread the love

बच्चे अक्सर अपने माता-पिता से यह सवाल करते हैं की आसमान नीला क्यों होता है? और आसमान के ऊपर कौन रहता है ऐसे में माता पिता को सही जानकारी का होना आवश्यक हैं। बच्चों में इन सब चीजों को जानने की उत्सुकता ज्यादा रहती हैं। बच्चे जो भी चीजें देखते हैं उसके बारें में प्रश्न करते हैं की ऐसा क्यों हैं वैसा क्यों हैं। आज की यह खास पोस्ट उन बच्चों और पेरेंट्स के लिए हैं जिन्हें इन सवालों के जवाब पता नहीं हैं। आइये इस पोस्ट में हम आपको विस्तार से बताते हैं की आसमान के ऊपर कौन रहता है और आसमान नीला क्यों होता है? ।

आसमान के ऊपर कौन रहता है
आसमान के ऊपर कौन रहता है

आजकल के बच्चे और लोग साइंस की तरफ ज्यादा आकर्षित होते हैं। आकाश में दिखने वाले तारे और चमकीले ग्रहों को देखने के बाद उनके मन में कई तरह के प्रश्न उठते हैं जैसे – चाँद धरती से कितना दूर है, धरती के नीचे कौन रहता है , आसमान के ऊपर कौन रहता है आदि। इस पोस्ट में आपके सभी सवालों के जवाब मिलेंगे अत: इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़ें।

आसमान के ऊपर कौन रहता है

जब बच्चे धरती से आसमान की तरफ देखते हैं तो उनका सबसे पहला प्रश्न होता हैं की आखिर आसमान के ऊपर कौन रहता है और इसका रंग रात के समय काला और दिन में नीला क्यों होता हैं?। दोस्तों आपको बता दे की वास्तव में आसमान का कोई अंत नहीं हैं। आसमान अर्थात अंतरिक्ष, पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण बल से बाहर के स्पेस को ही इस नाम से जाना जाता हैं। आसमान के ऊपर कौन रहता है इसका सीधा उत्तर कोई नहीं। अंतरिक्ष को मापना असंभव हैं वैज्ञानिक सिर्फ और सिर्फ अनुमान ही लगा सकते हैं। आसमान का कोई अंत नहीं हैं जब हम पृथ्वी से ऊपर की ओर देखते हैं तो हमें जो आसमान दिखाई देता हैं वास्तव में वह सिर्फ और अंतरिक्ष हैं यानी खाली स्पेस। उस स्पेस में गैलेक्सी यानी तारों का समूह और कई ग्रह और उपग्रह हैं।

अगर इंसानों की बात की जाएँ तो वैज्ञानिकों के अनुसार आसमान में यानी हमारे ब्रह्मांड में अनेक गैलेक्सी हैं। ब्रह्मांड में लगभग दो ट्रिलियन आकाशगंगाएँ होने की सम्भावना हैं। हालाँकि यह संख्या सिर्फ अनुमान मात्र ही हैं। यह गैलेक्सी वास्तव में तारों के समूह होते हैं। सूर्य भी एक तारा ही हैं जिसकी परिक्रमा अनेक ग्रह करते हैं। एक छोटे गैलेक्सी के अंदर भी कम से कम 1000 से अधिक स्टार्स होते हैं। गैलेक्सी मुख्य रूप से धुल के गुब्बार और ग्रह, तारे और उपग्रह का आदि से मिलकर बने होते हैं। दरसल सभी एक मजबूत गुरुत्वाकर्षण बल के कारण एक दुसरे के चारों तरफ परिक्रमा करते हैं। वैसे ही गुरुत्वाकर्षण बल के कारण पृथ्वी भी सूर्य की परिक्रमा करती हैं।

आसमान के ऊपर या अंतरिक्ष में कौन रहता है

वैज्ञानिकों के अनुमान के मुताबिक सिर्फ एक आकाश गंगा में में 400 अरब तारे हो सकते हैं और लगभग 45 अरब से भी ऊपर ग्रह हो सकते हैं। वैज्ञानिकों के अनुमान के मुताबिक लगभग 50 करोड़ से अधिक ग्रहों पर जीवन के योग्य तापमान हो सकता हैं। ऐसे में उन ग्रहों पर जीवन की सम्भावना भी हो सकती हैं। इसका मतलब हैं की उन ग्रहों पर जीव या पेड़ पौधे भी हो सकते हैं। आसमान या अंतरिक्ष के ऊपर कौन रहता है इसका सही जवाब देना थोड़ा मुश्किल हैं लेकिन वैज्ञानिकों के अभी तक के शोध और जानकारी के अनुसार पृथ्वी ही एक मात्र ऐसा ग्रह हैं जिसपर रहने योग्य तापमान और जीवन के लिए सभी चीजें पर्याप्त मात्रा में हैं।

आसमान नीला क्यों होता है?

आसमान नीला क्यों होता है?
आसमान नीला क्यों होता है?

अक्सर आपने देखा होगा की दिन में आसमान नीला दिखाई देता हैं। ऐसे में लोग यह सवाल करते हैं की क्या आसमान नीला हैं। आपको बता दे की अंतरिक्ष से देखने पर आसमान का रंग काला दिखाई देता है लेकिन पृथ्वी से जब हम आसमान को देखते हैं तो यह नीले का रंग का जान पड़ता हैं। इसका कारण हैं सूर्य का प्रकाश, जी हाँ सब सूर्य की किरण हमारी पृथ्वी के वायुमंडल से होकर गुजरती हैं तो हवा में मौजूद गैस और कुछ ऐसे पार्टिकल जो की मुख्यत: ऑक्सीजन और नाइट्रोजन निर्मित होती उससे टकराकर रिफ्लेक्ट होती हैं। हर रंग की तरंगों की लम्बाई अलग-अलग होती हैं चूँकि सबसे छोटी नीले रंग की होती हैं इसलिए इसका डेविएशन ज्यादा होता हैं और आकाश नीले रंग का दीखता हैं।

धरती के नीचे कौन रहता है

धरती के नीचे कोई नहीं रहता हैं। वास्तव में धरती अंतरिक्ष में टंगी हुई बॉल की तरह हैं हालाँकि यह पूरी तरह गोल नहीं हैं इसका आकार कही धंसा हुआ हैं तो कही ज्यादा उभार हैं। गुरुत्वाकर्षण बल के कारण यह अंतरिक्ष के खाली स्पेस में हैं और निरंतर सूर्य की परिक्रमा करती रहती हैं। आपको बता दे की पृथ्वी के चारों दिशाओं में तारे, ग्रह, छोटे छोटे पिंड आदि हैं। अगर बात करें पृथ्वी के जमीन के नीचे क्या हैं तो आपको बता दे की अंदर बड़े-बड़े चट्टान और पानी हैं। वही पृथ्वी का केंद्र क्रोड बेहद गर्म हैं जो की लोहे और निकल से बना हुआ हैं। क्रोड पृथ्वी के सबसे आंतरिक लेयर को कहा जाता हैं।

Also, Read 1 मिनट में याद करने का तरीका – दुनियां का सबसे बेस्ट तरीका

आसमान में कितने तारे हैं

आसमान में कितने तारे हैं
आसमान में कितने तारे हैं

नासा के अनुसार पुरे ब्रह्माण्ड में लगभग 1 septillion stars हो सकते हैं। हालाँकि यह सिर्फ अनुमान है। हमारी आँखों से मुश्किल से ६००० तारे ही दिखाई देते हैं। वही एक आकाश गंगा में यानी की गैलेक्सी में लगभग 19 से 20 हजार करोड़ तारे होने के अनुमान हैं।

चाँद धरती से कितना दूर है

चाँद धरती से कितना दूर है
चाँद धरती से कितना दूर है

चाँद पृथ्वी का उपग्रह हैं। हाल ही में भारत ने चंद्रयान-3 मिशन को सफलता पूर्वक पूरा किया हैं। २०२३ के अगस्त महीने में चन्द्रयान 3 , चन्द्रमा पर लैंड हुआ था। ऐसे में लोगों के मन यह सवाल उठता हैं की चाँद धरती से कितना दूर है तो आपको बता दे की धरती से चंद्रमा की दुरी लगभग 3 लाख 84 हजार 8 सौ 3 किलोमीटर हैं।

आसमान के ऊपर कौन रहता है / आसमान नीला क्यों होता है? आदि कई सवालों के जवाब मैंने आपको इस पोस्ट के द्वारा दिए हैं। ब्रह्माण्ड इतना विशालकाय हैं की इसमें कहा क्या राज छुपा इसे जान पाना आज के विज्ञान के लिए थोड़ा कठिन हैं। जैसे जैसे विज्ञान आगे की ओर बढेगा अन्य कई राज से पर्दा भी उठेगा। आसमान या अंतरिक्ष में कई ग्रह हैं जिसपे जीवन हो सकती हैं ऐसे में उन ग्रहों पर इन्सान या कोई जीव भी हो सकते हैं।

मुझे उम्मीद हैं की आपको आसमान के ऊपर कौन रहता है / आसमान नीला क्यों होता है? इसकी सम्पूर्ण जानकारी बेहद अच्छी लगी होगी। इस पोस्ट को अपने दोस्तों तक शेयर जरुर से जरुर करें।

Also, Read किस दिन जन्म लेने वाले लोग होते है बहुत लक्की – सबसे ज्यादा बुद्धिमान बच्चा किस महीने में पैदा हुआ होता है

Leave a Comment