दिमाग में बार-बार एक ही विचार आना क्या हैं इसके उपाय जानें

Spread the love

दिमाग में बार-बार एक ही विचार आना यह कोई सामान्य बात नहीं हैं. अगर आप भी इस समस्या से ग्रसित हैं और आपके मन में भी एक ही विचार बार बार दौड़ते रहता हैं तो इसका समाधान करना आवश्यक हैं. दरसल दिमाग में बार-बार एक ही विचार आने से कई अन्य समस्याएं सामने आ सकती हैं जैसे किसी काम में मन न लगना और किसी मानसिक बीमारी से पीड़ित हो जाना. इसलिए यह बेहद आवश्यक हैं की हम अपने विचारों को समय रहते काबू में करें. तो दोस्तों इस लेख के माध्यम से मैं आपको इस प्रॉब्लम का सलूशन और कारण बताउंगी जिससे आपको इस परेशानी से मुक्ति मिलेगी.

दिमाग में बार-बार एक ही विचार आना क्या हैं इसके उपाय जानें
दिमाग में बार-बार एक ही विचार आना क्या हैं इसके उपाय जानें

दोस्तों हर व्यक्ति के जीवन में कभी न कभी एक ऐसा समय आता हैं जब उसे कई परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं. लेकिन कहते हैं न की अगर हम उसी परेशानी के बारे में सोचते रहेंगे तो समय हमारी प्रतीक्षा नहीं करेगा. समय तो चलता ही रहता हैं और चलता रहेगा. अत: हमें वर्तमान और भविष्य के बारें में मंथन करना चाहिए न की भुत के बारें में. पास्ट में हुई चीजों से आगे निकलने का नाम ही हैं जीवन, जब हम पिछली गलतियों से सीखकर आगे बढ़ते हैं तो यह दुबारा गलती करने से रोकता हैं.

दिमाग में बार-बार एक ही विचार आना इसके क्या कारण हैं

दोस्तों भुत से सिख लेना या वर्तमान और भविष्य के बारें में सोचना गलत नहीं हैं. परन्तु जब हम किसी गलती या किसी अन्य कारण से विचारों में इस तरह डूब जाते हैं की अपने वर्तमान और भविष्य की चिंता नहीं होती तो यह काफी गंभीर रूप ले लेता हैं. दिमाग में बार-बार एक ही विचार आना और उसपर नियंत्रण खो देना मानसिक परेशानी का सूचक हैं. इसे हम ओवरथिंकिंग भी कह सकते हैं. दिमाग में बार-बार एक ही विचार आने का एक ही कारण हैं और वो हैं किसी चीज के प्रति डर या मानसिक तनाव. यह डर वर्तमान भुत और भविष्य किसी से भी जुड़ा हो सकता हैं.

जब हम किसी चीज डरते हैं की कही ऐसा न हो जाएँ वैसा न हो जाएँ तो ये डर ओवरथिंकिंग का कारण बनता हैं. ये डर आर्थिक परेशानियों, लव में फेलियर, जॉब न मिलने आदि कारणों से भी हो सकता हैं. यह एक ऐसा मनोरोग हैं जिसमें दवा की नहीं जरूरत नहीं होती हैं बल्कि लाइफस्टाइल को बदलकर इसे दूर किया जा सकता हैं.

दिमाग में बार-बार एक ही विचार आना कैसे रोके

दोस्तों दिमाग में बार-बार एक ही विचार आना आज एक समय में ऐसी समस्या हैं जिससे लाखों लोग परेशान हैं. परन्तु इस समस्या का हल मौजूद हैं. आप नीचे बताएं तरीके अपनाकर दिमाग में बार-बार एक ही विचार आने की समस्या का निदान कर सकते हैं.

Also, Read छोटी-छोटी बात पर गुस्सा आना

डर और चिंता को करें दूर

डर, चिंता आदि कारणों से ही हमारें मन में तरह तरह के विचार उमड़ते रहते हैं. अत: हम अगर अपने अंदर के डर को मार दे तो इस समस्या का उपाय किया जा सकता हैं. इसलिए सर्वप्रथम डर और चिंता के कारणों को खोजकर उसका निदान किया जाना आवश्यक हैं. जिस वजह से आपके मन में विचार उमड़ रहे हैं उस वजह को पहचानकर उसका सलूशन निकालने की कोशिश करें.

Also, Read भ्रम और कल्पना की दुनियां सिजोफ्रेनिया | Schizophrenia In Hindi

शक को दूर करने का प्रयास करें

कई बार शक की वजह से भी इस समस्या का सामना लोगों को करना पड़ता हैं. ऐसी स्थिति में शक के कारणों को ढूंढे और उस व्यक्ति से सीधा बातचीत करें. इस तरह इस समस्या का हल निकालें क्योकिं मन किसी बात को दबाकर रखने से यह समस्या और बढ़ सकती हैं.

अकेले न रहें

अक्सर देखा जाता हैं जो लोग अकेले रहना पसंद करते हैं उनमें यह समस्या ज्यादा रहती हैं. सोशल मीडिया पर ज्यादा समय बिताने की जगह अपने दोस्तों संग समय बिताएं उनके साथ मूवी देखें. कई बार एक ही जगह पे रहने के कारण भी ऐसी समस्या उत्पन्न होती हैं. अत: दोस्तों संग खी घुमने का प्लान करें.

किसी शारीरिक गतिविधि में भाग ले

ओवरथिंकिंग की समस्या ज्यादात्तर उनमें होती हैं जो बेकार बैठे रहते हैं. इसलिए बेकार बैठने की जगह किसी काम में अपना महत्वपूर्ण समय लगायें. कहते हैं खाली मन शैतान का, जी हाँ यह बात बिल्कुल सत्य हैं. जो लोग खाली बैठे रहते हैं उनके मन में एक विचार बार बार आटे हैं. अगर आप किसी कार्य को करेंगे तो तो आपका मन भ्रमित नहीं हो पायेगा. आप चाहे तो खेल कूद आदि में भाग ले सकते हैं साथ ही योगा और व्यायाम करें जो शरीर के साथ मानसिक तौर पे भी आपको फिट रखेगा.

Also, Read 2 महीने से पीरियड नहीं आया तो क्या करें । Sundarta

दिमाग में बार-बार एक ही विचार आना की स्थिति में गाने सुने

ओवरथिंकिंग की समस्या से बचने के लिए आप पसंदीदा म्यूजिक या गाने सुन सकते हैं और फ़ोन पर अपने दोस्तों से बात भी कर सकते हैं. यह आपके दिमाग और मन को फिजूल की बातें सोचने से रोकेगा.

Q. एक ही विचार बार-बार आए तो क्या करें?

Ans: अगर एक विचार बार-बार मन में आए तो एक जगह न बैठे दोस्तों के साथ खी घुमने जाएँ या अपना पसंदीदा म्यूजिक सुने या किसी कार्य में खुद को व्यस्त रखें.

Q. ज्यादा सोचने से दिमाग को कैसे रोके?

Ans: ज्यादा सोचने से दिमाग को तभी रोक सकते हैं जब ओवरथिंकिंग के कारणों का निदान किया जाएँ. अगर अकारण ही आप ज्यादा सोच रहे हैं तो किसी शारीरिक गतिविधि में हिस्सा ले या किसी काम में खुद को व्यस्त रखें.

Q. दिमाग में फालतू विचार क्यों आते हैं?

Ans: दिमाग में फालतू विचार ज्यादा सोचने की वजह से आते हैं.

Q. मन में गलत विचार आए तो क्या करना चाहिए?

Ans: मन में गलत विचार आएं तो खुद को किसी कार्य में व्यस्त रखें या अपने दोस्तों से बात करें.

Q. मेरे मन में हर दिन एक जैसे विचार क्यों आते हैं?

Ans: यह एक मानसिक समस्या हो सकती हैं. ऐसे विचारों के मन में आने का मुख्य कारण होता हैं डर, चिंता आदि. आप डर के कारणों को जानकर उसका निदान करें.

Q. क्या ज्यादा सोचने से डिप्रेशन होता है?

Ans: जी हाँ, आप जितना ज्यादा सोचेंगे उतने ही तनाव महूसुस करेंगे. जिसकी वजह से रोजमर्रा के कार्यों में बाधा उत्पन्न होती हैं.

दिमाग में बार-बार एक ही विचार आना किसी मानसिक बीमारी के भी लक्षण हो सकते हैं. इसलिए समय रहते ऊपर बताएं गए तरीके से इसका इलाज किया जाना आवश्यक हैं. ओवरथिंकिंग की समस्या ज्यादात्तर मानसिक टेंशन और डर जैसी स्थितियों के कारण उत्पन्न होती हैं. अपने डर को मात देकर और अपने मन को नियंत्रित कर इस समस्या का समाधान निकाला जा सकता हैं.

दोस्तों आज की यह पोस्ट “दिमाग में बार-बार एक ही विचार आना क्या हैं ” आपको कैसी लगी हमें कमेंट के माध्यम से जरुर बताएं.

Also, Read सुंदरता बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए – हमेशा दिखेंगे यंग

Overthinking Ko Kaise Roke

3 thoughts on “दिमाग में बार-बार एक ही विचार आना क्या हैं इसके उपाय जानें”

Leave a Comment