रात को नींद में कभी-कभी ऐसा क्यों लगता है कि किसी ने आपको जकड़ लिया है

Spread the love

दोस्तों क्या आपको भी रात को नींद में कभी-कभी ऐसा लगता है कि किसी ने आपको जकड़ लिया है अगर हाँ तो इस लेख को अंत तक जरुर पढ़ें। इस लेख में मैं आपको विस्तार से बताऊंगा की ऐसा क्यों होता हैं। कई लोग रात के समय अचानक नींद खुलने के बाद ऐसी स्थिति का सामना करते हैं। रात में अचानक जागने के बाद आँखें सबकुछ देखती हैं लेकिन आप अगर अपने हाथ और शरीर को हिला पाने में असमर्थ महूसस करते हैं तो इस स्थिति से घबराने की जरूरत बिल्कुल नहीं हैं। इस पोस्ट में इस स्थिति के कारणों को मैं विस्तार से बताने जा रही हूँ।

रात को नींद में कभी-कभी ऐसा क्यों लगता है कि किसी ने आपको जकड़ लिया है
रात को नींद में कभी-कभी ऐसा क्यों लगता है कि किसी ने आपको जकड़ लिया है

दोस्तों यह समस्या खासकर रात को सोने के बाद उत्पन्न होती हैं। इस समस्या में व्यक्ति सबकुछ महसूस करता हैं लेकिन अपने बॉडी के किसी पार्ट को हिला नहीं पाते हैं। कई बार व्यक्ति को अजीब-अजीब सी आवाजे भी सुनाई देती हैं दरसल यह आवाजे डर की वजह से आपको सुनाई देती हैं जो की सिर्फ सुर सिर्फ भ्रम मात्र हैं। ऐसी स्थिति में व्यक्ति बहुत अधिक डर जाता हैं। ऐसा लगता लगता हैं की किसी ने आपको जकड़ लिया है। कुछ लोग इस स्थिति को भूत प्रेत और काला जादू समझ बैठते हैं लेकिन सच्चाई कुछ और ही हैं। जी हाँ यह एक दिमागी बीमारी हैं जिसका नाम हैं स्लीप पैरालिसिस (sleep paralysis)। रात को नींद में कभी-कभी ऐसा क्यों लगता है कि किसी ने आपको जकड़ लिया है इसकी पूरी जानकारी इस पोस्ट में दी गयी हैं ध्यान से पढ़ें।

क्या हैं स्लीप पैरालिसिस क्या यह खतरनाक हैं ?

दोस्तों स्लीप पैरालिसिस एक ऐसी मानसिक स्थिति जिसमें व्यक्ति का दिमाग और बॉडी के बीच का संतुलन गड़बड हो जाता हैं। इसे हिंदी में नींद पक्षाघात के नाम से भी जाना जाता हैं। इस स्थिति में व्यक्ति का दिमाग तो जग जाता हैं परन्तु शरीर कार्य नहीं करता हैं। हालाँकि यह समस्या ज्यादा समय तक नहीं बनी रहती हैं। यह समस्या कुछ मिनटों तक आपको परेशान कर सकता हैं। इस स्थिति में व्यक्ति के गले से भी आवाज नहीं निकलती हैं और ठंड के दिन में भी तेज पसीना आने लगता हैं। जानकारी के अभाव में लोग इसे भुत प्रेत का साया मानकर झाड़फुक करवाने लगते हैं जबकि यह एक मेडिकल स्थिति हैं। इस समस्या में आपका ब्रेन तो सही से काम करता हैं लेकिन बॉडी के अन्य पार्ट्स लकवा ग्रस्त हो जाता हैं।

दोस्तों यह स्थिति कई बार खतरनाक भी हो सकती हैं क्योकिं कई लोगो को इस स्थिति में अजीब सी आवाजे और कुछ अजीब सी चीजें भी दिखाई देती हैं। हेलुसिनेशन की स्थिति में यह बीमारी बेहद खतरनाक रूप ले लेती हैं। इसलिए यथा शीघ्र इस बीमारी का इलाज किया जाना चाहिए। यह बीमारी ज्यादात्तर 20 वर्ष से 45 वर्ष के उम्र में लोगों को ज्यादा प्रभावित करता हैं। आइये अब इसके कारण, लक्षण और इलाज के बारें में जानते हैं।

Also, Read दिमाग में बार-बार एक ही विचार आना क्या हैं इसके उपाय जानें

स्लीप पैरालिसिस बीमारी के लक्षण

इस स्थिति के प्रमुख लक्षण निम्नलिखित हैं:-

1. शरीर को हिलाने डुलाने में असमर्थ होना
2. कुछ ऐसी चीजे सुनना या देखना जो वास्तव में हैं ही नहीं
3. गले का सुखना और कुछ भी बोलने में असमर्थ होना
4. गले पर प्रेशर जैसा लगना
5. बहुत डर लगना

स्लीप पैरालिसिस की समस्या में खास तौर पर ऊपर बताएं गए लक्षण दिखाई पड़ते हैं। अगर आपको भी ऐसे लक्षण महूसस होते हैं तो किसी मानसिक डॉक्टर की सलाह जरुर लें। ज्यादात्तर मामलों में यह समस्या अपने लाइफस्टाइल में बदलाव लाकर दूर किया जा सकता हैं। तनाव, नींद में कमी जैसी स्थिति को ठीक कर इस समस्या का इलाज संभव हैं। इस स्थिति में व्यक्ति को धुम्रपान, शराब आदि के सेवन से बचना चाहिए। Also, Read बाइपोलर डिसऑर्डर (Bipolar Disorder) क्या है?

रात को नींद में कभी-कभी ऐसा क्यों लगता है कि किसी ने आपको जकड़ लिया है – स्लीप पैरालिसिस क्यों होता है

एक्सपर्ट्स के अनुसार स्लीप पैरालिसिस की समस्या के कई कारण हो सकते हैं। डॉक्टर बताते हैं की यह समस्या जयादातर नींद में कमी के कारण उत्पन्न होती हैं। हालाँकि यह समस्या अन्य कई कारणों से भी उत्पन्न होती हैं जो निम्नलिखित हैं:

1. 6 घंटे से कम नींद लेने की वजह से
2. ज्यादा टेंशन की वजह से
3. पीठ के बल सोने से
4. अधिक नशीले पदार्थों के सेवन से
5. सोने का समय बदलते रहने से

Also, Read मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करूं -5 उपाय अभी करें फिर देखें चमत्कार

स्लीप पैरालिसिस से बचने के उपाय

1. रात को समय पर सोयें
2. पर्याप्त नींद ले
3. पीठ के बल कभी नहीं सोयें
4. तनाव से खुद को दूर रखें
5. रोज व्ययाम करने की आदत डालें
6. गंभीर लक्षण दिखने पर डॉक्टर से मिलें

स्लीप पैरालिसिस की समस्या का उपचार

यह एक ऐसी समस्या जो स्वत: ही कुछ महीने में ठीक हो जाती हैं। लेकिन कभी- कभी यह समय सालों तक व्यक्ति को परेशान करता रहता हैं। अगर आपको स्लीप पैरालिसिस होने पर आवाजें सुनाई देती हैं और परछाई दिखाई देती हैं तो डॉक्टर की सलाह जरुर लेनी चाहिए। काउंसलिंग थैरेपी के जरिये इस समस्या का निदान संभव हैं।

Also, Read भ्रम और कल्पना की दुनियां सिजोफ्रेनिया | Schizophrenia In Hindi

निष्कर्ष

इस पोस्ट में मैंने आपको आपके सवाल रात को नींद में कभी-कभी ऐसा क्यों लगता है कि किसी ने आपको जकड़ लिया है का जवाब दिया हैं। इस स्थिति से डरने की आवश्यकता नहीं हैं। यह समस्या किसी भूत प्रेत की वजह से नहीं हैं। इस समस्या के निदान के लिए आपको सोने का समय निर्धारित करना चाहिए। पर्याप्त नींद और तनाव से दूर रहकर इस समस्या से बचा जा सकता हैं। इस स्थिति में शराब आदि का सेवन बिल्कुल नहीं करनी चाहिए क्योकिं यह नींद में खलल डालकर आपकी समस्या को और बढ़ा सकती हैं।

मुझे उम्मीद हैं की आपको कई बार नींद में व्यक्ति को ऐसा क्यों लगता है कि किसी चीज ने पकड़ लिया है का यह पोस्ट बेहद पसंद आया होगा। ऐसी ही जानकारियों के हमारे ब्लॉग के अन्य पोस्ट को जरुर पढ़ें और इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें ताकि लोगो का अंधविश्वास दूर हो सकें।

Also, Read दुख और दर्द भरी यादों को भूलने के 5 उपाय

1 thought on “रात को नींद में कभी-कभी ऐसा क्यों लगता है कि किसी ने आपको जकड़ लिया है”

Leave a Comment