फिशर रोग को अच्छा करने के लिए खाने में क्या क्या खाना चाहिए

Spread the love

फिशर रोग को अच्छा करने के लिए खाने में क्या क्या खाना चाहिए : यह तो जगजाहिर हैं की गलत खान पान और ख़राब जीवनशैली हमें कई बिमारियों का शिकार बना लेती हैं. इसलिए अगर व्यक्ति अपने खान पान और जीवनशैली में सुधार लायें तो निश्चित ही उन बिमारियों से बचा जा सकता हैं. किसी भी बीमारी से बचाव के लिए यह आवश्यक हैं की हम अपने प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करें. अगर आप उचित और पोषक तत्वों से युक्त भोजन ग्रहण करेंगे तो कई बीमारियों से बचा जा सकता हैं. आज हम आपको फिशर रोग को अच्छा करने के लिए खाने में क्या क्या खाना चाहिए और फिशर में क्या नहीं खाना चाहिए इसकी जानकारी इस पोस्ट के माध्यम से देंगे. तो दोस्तों इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़ें.

फिशर रोग को अच्छा करने के लिए खाने में क्या क्या खाना चाहिए
फिशर रोग को अच्छा करने के लिए खाने में क्या क्या खाना चाहिए

दोस्तों फिशर रोग को अच्छा करने के लिए खाने में क्या क्या खाना चाहिए, यह जानने से पहले हम यह जान लेते हैं की फिशर रोग होता क्या हैं.

फिशर रोग क्या हैं क्या पाइल्स और फिशर एक ही बीमारी हैं?

अक्सर ही कई लोग फिशर और पाइल्स (बवासीर) को एक समान समझते हैं. लेकिन आपको बता दे की ये दोनों रोग अलग-अलग हैं. इसके अलावे पाइल्स और फिशर के लक्षण भी समान होते हैं जिसके कारण लोगों को इस बीमारी को लेकर कन्फ्यूजन रहता हैं. दोस्तों आपको बता दे की पाइल्स और फिशर ये दोनों बीमारियाँ गुदा से ही सम्बंधित हैं फिशर को आमतौर पे लोग एनल फिशर भी कहते हैं. इन दोनों बिमारियों के लक्षण और कारण लगभग समान ही होते हैं. जैसे ये दोनों बिमारियों का जन्म लम्बे समय तक कब्ज रहने के कारण ही होती हैं.

फिशर रोग में गुदा के नली में दरार आती हैं. यह दरार तब आती हैं जब हमें लम्बे समय तक कब्ज की समस्या का सामना करना पड़ता हैं. कब्ज की समस्या में कठोर मल के त्याग से दरार आने की सम्भावना ज्यादा रहती हैं. इसलिए ध्यान रहें की मल को ज्यादा देर तक रोककर न रखें और अधिक से अधिक पानी का सेवन करें.

Also, Read मिलेट्स क्या है | Types of Millets in Hindi

फिशर बीमारी के लक्षण

फिशर लोग होने पर आपको कई तरह की समस्यायों का सामना करना पड़ सकता हैं जैसे: लैट्रिन करते समय अत्यंत पीड़ा का एहसास होना जैसे बवासीर में होती हैं. मल त्याग करते वक़्त मल के साथ खून का निकलना, गुदा में पिप या पस का भर जाना आदि.

जाने फिशर में क्या नहीं खाना चाहिए

फिशर रोग में गलती से भी मैदा, सूजी, ज्यादा मसाला युक्त भोजन या ज्यादा तेल में पके खाद्य पदार्थ न खाएं. अन्यथा आपकी यह समस्या और ज्यादा बढ़ सकती हैं. जिसके बाद आपको सर्जरी की आवश्यकता पड़ सकती हैं. आपको बता दे की पाइल्स की तुलना में फिशर बीमारी ज्यादा खतरनाक होती हैं क्योकिं यह जल्दी ठीक नहीं होता हैं. फिशर रोग ज्यादा बढ़ जाने पर लेटरल स्फिंकटेरोटोमी सर्जिकल प्रक्रिया द्वारा इसका इलाज किया जाता हैं. हालाँकि आप अपने खान पान में सुधारकर इस रोग को बढ़ने से रोक सकते हैं.

Also, Read Vinegar in Hindi | विनेगर क्या होता हैं

फिशर का क्या इलाज हैं

दोस्तों अगर खान पान में सुधारकर मल को मुलायम कार दिया जाएँ तो इससे फिशर रोग में काफी आराम मिलता हैं. कई केसेस में देखा गया हैं की सिट्ज़ बाथ और फाइबर से भरपूर भोजन से यह रोग स्वत: नष्ट हो जाता हैं. लेकिन अगर यह बीमारी आपको 6 हफ्ते से ऊपर से हैं तो इसका इलाज किया जाना बेहद आवश्यक हो जाता हैं. एक्यूट फिशर की स्थिति में डॉक्टर आपको सर्जरी करने की सलाह देते हैं. चलिए अब आपको बताते हैं की फिशर रोग को अच्छा करने के लिए खाने में क्या क्या खाना चाहिए .

Also, Read पित्त की थैली निकालने के बाद नुकसान

फिशर रोग को अच्छा करने के लिए खाने में क्या क्या खाना चाहिए

ज्यादात्तर फिशर रोग बीना सर्जरी के ठीक किये जा सकते हैं. इसके लिए आपका खान पान संतुलित होना चाहिए. ध्यान रहें की इस रोग को ठीक करने के लिए सबसे पहले आपको कब्ज से छुटकारा पाना होगा.

1. ज्यादा से ज्यादा फाइबर से युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें.

2. शरीर में पानी की कमी न होने दे. जितना हो सके तरल पदार्थ का सेवन करें जैसे फलों के जूस.

3. अपने भोजन में सभी तरह के फल, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर हरी साग सब्जियां, सेम, अलसी के बीज, मटर, तरबूज, जामुन , नाशपाती आदि का सेवन करें. इसके अलावे दलिया, नट, सेब, मूंगफली आदि में भी भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता हैं. आप इनका भी सेवन कार सकते हैं. इस चीजों के सेवन से आपकी कब्ज की समस्या दुसर हो जाएगी. जिससे मल का कड़ापन दूर हो जायेगा और गुदा को ठीक होने के लिए पर्याप्त समय मिल पायेगा.

4. पपीता का सेवन भी कब्ज की समस्या को दूर करने में सहायक हैं. दरसल इसमें पाए जाने वाले पापण एंजायम पाचन शक्ति को बढाता हैं.

Also, Read आधे सिर दर्द के घरेलू उपाय और दर्द के कारण जाने