बाई आंख की ऊपरी पलक का फड़कना क्या हैं – शास्त्र क्या कहता हैं इसके बारें में

Spread the love

बाई आंख की ऊपरी पलक का फड़कना क्या संकेत देता हैं, शास्त्रों के अनुसार यह क्या हैं आइये इस आर्टिकल के मध्यमम से विस्तार से जानते हैं। अक्सर बाई आंख की ऊपरी पलक के फड़कने पर लोग यह सोचते हैं की यह शुभता का संकेत हैं या कुछ अशुभ होने वाला हैं। मन में इस संशय के कारण कई लोग परेशान हो जाते हैं और टेंशन में आ जाते हैं। घर में बड़े बुजुर्ग में भी इसे लेकर अलग-अलग मत होते हैं। तो आइये आपके संशय को दूर करते हुए विस्तार से बाई नेत्र की ऊपरी पलक के फड़कने के संकेतों को समझते हैं।

हमारे शास्त्रों में लिखी प्रत्येक छोटी बड़ी चीजों का बड़ा महत्त्व होता हैं। अगर उसे ध्यान से समझकर पढने की कोशिश करते हैं तो उस चीज का असली मतलब पता चलता हैं। शास्त्रों में वर्णित हर एक शब्द बहुत सोच समझकर लिखा गया हैं। यह न सिर्फ आपके वर्तमान बल्कि भविष्य की रूप रेखा भी तैयार करती हैं। शास्त्रों में वर्णित हर एक बात या जानकारी या मान्यताओं के पीछे एक बड़ा कारण होता हैं। दोस्तों आँख का फड़कना कई तरह के संकेत देते हैं। कई बार यह शुभ तो कई बार अशुभ संकेत भी देते हैं। चलिए जानते हैं की बाई आंख की ऊपरी पलक का फड़कना शुभता का संकेत हैं या अशुभ होने के। सम्पूर्ण जानकारी हेतु इस पोस्ट को पूरा पढना बिल्कुल न भूलें।

क्या बाई आंख की ऊपरी पलक का फड़कना अशुभ हैं?

हिन्दू धर्म के शास्त्र समुन्द्र शास्त्र में आँख फड़कने के बारें में विस्तार से वर्णन किया गया हैं। अंग ज्योतिष में हर अंग के फड़कने का एक विशेष महत्त्व हैं। इससे कई तरह जानकारी मिल सकती हैं। यह जानकारी वर्तमान और भविष्य से जुड़ी हुई हो सकती हैं। जब व्यक्ति की आँख अचानक से फड़कना शुरू होता हैं तो व्यक्ति सोच में पड़ जाता हैं। ऐसे में उनके मन में कई तरह के सवाल उठते हैं जैसे यह शुभ का सूचक हैं या अशुभ का। बाई आंख की ऊपरी पलक का फड़कना भी इन्ही में से एक हैं। शास्त्रों के अनुसार बाई आँख का फड़कना स्त्री और पुरुषों में अलग-अलग संकेत देता हैं।

समुद्र शास्त्र के अनुसार अगर स्त्रियों में बाई आंख की ऊपरी पलक या निचली पलक का फड़कना हो रहा हैं तो यह शुभ हैं। वही अगर पुरुषों के बाई आँख के उपरी पलक फड़क रहे हैं तो अशुभ का सूचक हैं। इस स्थिति में शास्त्रों में बताया गया हैं की पुरुष को सावधान रहने की जरूरत हैं। इससे लड़ाई झगडे का योग बनता हैं साथ दुश्मन हावी हो सकते हैं।

वही स्त्रियों के बाई आँख फड़कने पर घर में शांति और सुख की वृद्धि होती हैं। घर में खुशहाली आती हैं और टेंशन, लड़ाई झगड़े जैसी स्थिति आने की सम्भावना कम होती हैं। साथ ही आपको कोई गुड न्यूज़ भी मिल सकती हैं।

Also, Read प्रेगनेंसी में मंदिर जाना चाहिए या नहीं – विस्तार से

बाई आंख की ऊपरी और निचली पलक का एक साथ फड़कना

अगर किसी स्त्री और पुरुष के बाई आंख की ऊपरी और निचली पलक का एक साथ फड़कते हैं तो यह सुबह माना जाता हैं। शास्त्रों के अनुसार इस स्थिति में किसी बिछड़े यार, गर्लफ्रेंड, रिश्तेदार आदि से मिलने के संकेत मिलते हैं। बाई आँख के दोनों पलकों का एक साथ फडकना स्त्री और पुरुष दोनों में ही समान संकेत देते हैं।

Also, Read शिवलिंग पर चढ़ा हुआ जल पीना चाहिए या नहीं – विस्तार से जाने

बाई आंख का कोना फड़कना शुभ होता हैं या अशुभ

बाई आंख का कोना फड़कना अशुभ का संकेत माना जाता हैं। इस स्थिति में किसी रिश्तेदार, दोस्त या बिज़नस पार्टनर से धोखा मिल सकता हैं। इसलिए सावधान रहें और हर कदम फूंक फूंक कर रखें।

विज्ञान की नजर में बाई आंख की ऊपरी पलक का फड़कना क्या हैं समझे

विज्ञान की द्रष्टि कोण से देखें तो यह आँख की मांशपेशियों में हो रहे खिंचाव की वजह से होता हैं। इसके अलावे यह बहुत ज्यादा थकान, मानसिक टेंशन, कम सोने या अधिक समय तक आँख खोले रहने के कारण हो सकता हैं।

Also, Read शमी का पेड़ की पहचान – शमी के पेड़ की पूजा के चौका देने वाले फायदे

निष्कर्ष

दोस्तों शास्त्रों के अनुसार बाई आंख की ऊपरी पलक का फड़कना क्या हैं इस विषय पर पूरी जानकारी हमने आपको प्रदान की हैं। बाई आँख का फड़कना स्त्री और पुरुषों में अलग-अलग संकेत देता हैं। उम्मीद हैं की यह जानकारी आपके लिए बेहद उपयोगी साबित हुआ होगा। ऐसी ही जानकारियों के लिए हमारे वेबसाइट से जुड़े रहें। साथ ही sundarta.in पर आपको ढेरों ब्यूटी और हेल्थ टिप्स मिलते हैं। अगर आप हमेशा स्वस्थ और सुन्दर दिखना चाहते हैं तो हमारे वेबसाइट के अन्य आर्टिकल्स को जरुर पढ़ें।

अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूलें।

Also, Read भगवान का मुख किस दिशा में होना चाहिए

2 thoughts on “बाई आंख की ऊपरी पलक का फड़कना क्या हैं – शास्त्र क्या कहता हैं इसके बारें में”

Leave a Comment