बिना मुँह वाले फोड़े का इलाज / फोड़े की गांठ कैसे निकाले?

Spread the love

बिना मुँह वाले फोड़े का इलाज / फोड़े की गांठ कैसे निकाले? – फोड़े होने पर त्वचा में उभार के साथ रेडनेस देखा जाता हैं। जब फोड़े बिना मुँह वाले होते हैं तो जल्दी ठीक नहीं होता हैं। फोड़े में दर्द और सुजन की समस्या रहती हैं। कुछ फोड़े कुछ समय बाद आसानी से पककर फुट जाते हैं। जब बिना मुँह वाले फोड़े होते हैं तो पस बाहर निकालने में दिक्कत होती हैं। यह तब अधिक दर्दनाक हो जाती हैं जब फोड़े की वजह से टिशू को नुकसान पहुंचने लगता हैं। यह समस्या ज्यादात्तर गर्मी या बरसात के मौसम में देखी जाती हैं।

हालांकि फोड़े किसी भी मौसम में आपको परेशान कर सकती हैं। रोज स्नान न करना, पसीना, जम जाना, गंदगी में रहना आदि इस समस्या का कारण बन सकती हैं। दरसल यह समस्या गंदगी के कारण ही होती हैं। बिना मुँह वाले फोड़े का इलाज की जानकारी नीचे विस्तारपूर्वक बतायी गयी हैं।

बिना मुँह वाले फोड़े का इलाज / फोड़े की गांठ कैसे निकाले?
बिना मुँह वाले फोड़े का इलाज / फोड़े की गांठ कैसे निकाले?

फ्रेंड्स, शरीर के किसी स्थान पर अगर आपको फोड़े हो गए हैं तो उसे बार-बार छूना नहीं चाहिए। कुछ लोग जल्दबाजी में फोड़े को समय से पहले नोचकर हटा देते हैं। ऐसे में इन्फेक्शन बढ़ सकता हैं। बिना मुँह वाले फोड़े होने पर इसे खुरचना नहीं चाहिए। ज्यादात्तर मामलों में फोड़े कुछ समय बाद खुद ही पककर नष्ट हो जाते हैं। लेकिन अगर बिना मुँह वाले फोड़े हो गए हैं और यह नहीं पक रहा हैं तो इसका इलाज करना जरुरी हैं। आइए जानते हैं की फोड़े की गांठ कैसे निकाले? और बिना मुँह वाले फोड़े का इलाज क्या हैं।

शरीर में फोड़े होने के कारण

शरीर में फोड़े होने के कारण
शरीर में फोड़े होने के कारण

दोस्तों, शरीर के अंगों में जमी मैल इन्फेक्शन का कारण बनती हैं। लगातार गंदगी में रहना, तेज धुप, शरीर को साफ़ न करना आदि फोड़े होने का मुख्य कारण हैं। गर्मी और बरसात में होने वाली यह एक आम समस्या हैं। यह समस्या स्वत: ही कुछ दिनों में ठीक हो जाती हैं। परन्तु कभी-कभी बिना मुँह वाले फोड़े होने पर इसका इलाज आवश्यक हो जाता हैं। यह समस्या बैक्टीरिया, फंगस और वायरस के कारण हो सकते हैं। इसके अलावे किसी ऐसे व्यक्ति के पस को छूने से भी यह समस्या हो सकती हैं जो पहले से संक्रमित हो। जिन लोगों की इम्युनिटी कमजोर होती हैं उन्हें यह समस्या अक्सर होती रहती हैं।

बिना मुँह वाले फोड़े का इलाज

बिना मुँह वाले फोड़े अन्य फोड़ों से अधिक लाल रंग के प्रतीत होते हैं। फोड़े वाली जगह पर खुजली होती रहती हैं। कभी-कभी फोड़े बार-बार एक जगह पर होते रहते हैं। ऐसी स्थिति में इसका इलाज बेहद जरुरी हैं। फोड़े बैक्टीरिया के कारण होता हैं। जब पसीने के साथ गंदगी मिक्स होती हैं तब संक्रमण होता हैं। कभी-कभी इस समस्या में गंभीर लक्षण भी दिखाई देते हैं। व्यक्ति को कब्ज और उल्टी की शिकायत हो सकती हैं। इसके अलावे थकान का भी अनुभव हो सकता हैं। प्रभावित स्थान शरीर के अन्य अंगों की तुलना में अधिक गर्म महसूस होता हैं। बिना मुँह वाले फोड़े का घरेलू इलाज भी बेहद प्रभावी हैं। बिना मुँह वाले फोड़े से पस बाहर नहीं निकल पाता हैं जो अत्यंत दर्दनाक होता हैं। फोड़े की गांठ कैसे निकाले? इसकी जानकारी भी नीचे दी गयी हैं।

1. बिना मुँह वाले फोड़े का इलाज हैं गर्म पानी

जी हाँ, गर्म पानी बिना मुँह वाले फोड़े का बेस्ट इलाज हैं। अगर आपके फोड़े काफी कड़े और सख्त हो गए हैं तो उसे मुलायम करना जरुरी हैं। फोड़े मुलायम होने पर कुछ ही दिनों में पक जाते हैं। रोजाना दिन में 2 से 3 बार फोड़े को सेंकते रहने से कुछ ही समय में पस बाहर आ जाते हैं। फोड़े को लगातार कम से कम 10 मिनट तक जरुर सेंके। इसके अलावे आप फोड़े पर सूती कपड़े को गर्म पानी में डुबाकर भी बांध सकते हैं। गर्म पट्टी को बांधकर 10 से 15 मिनट तक रखना जरुरी हैं। पस न निकलने की वजह से इन्फेक्शन फैलता हैं। इसलिए यह उपाय जरुर करें।

यह भी पढ़ें घाव होने पर क्या नहीं खाना चाहिए और क्या खाने से घाव जल्दी भरता है

2. हल्दी

इसमें मौजूद एंटीबैक्‍टीरियल और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण फोड़े को जल्द सुखाने में मदद कर सकता हैं। हल्दी का पेस्ट प्रभावित स्थान पर लगाकर आधे घंटे तक छोड़ने से काफी आराम मिलता हैं। सबसे पहले हल्दी के पाउडर में थोड़ा सा पानी मिक्स करना हैं। अब हल्दी के इस पेस्ट को हल्का गर्म कर बिना मुँह वाले फोड़े पर लगाकर कम से कम आधा घंटा छोड़ दें। ऐसा दिन में 2 बार करने से फोड़े पकने लगते हैं और 1 से 2 दिनों में ही पस बाहर निकल जाते हैं। पस बाहर निकलने के बाद फोड़े सुख जाते हैं।

यह भी पढ़ें हल्दी दूध पीने के फायदे (Haldi Doodh Pine Ke Fayde)

3. नीम

नीम फोड़े फुंसी सुखाने की बेस्ट दवा मानी जाती हैं। दरसल यह बैक्टीरिया और फंगस से होने वाले फोड़े को जल्दी सुखाने में मदद करती हैं। नीम से बने कई दवाएं भी मार्किट में मिलती हैं। साफी का नाम तो आपने सुना ही होगा। साफी खून को साफ़ कर फोड़े फुंसी से निकलने से रोकते हैं। हालांकि आपको दवा खरीदने की जरूरत नहीं हैं। प्रतिदिन नीम की 5 से 10 पत्तियों को चबाने से भी ब्लड साफ़ होता हैं। इसके अलावे नीम की कुछ पत्तियों को पीसकर प्रभावित स्थान पर लगाकर छोड़ दें। महज कुछ ही दिनों में बिना मुँह वाले फोड़े नष्ट हो जाएंगे।

यह भी पढ़ें नीम के फायदे (Neem ke Fayde)

4. एलोवेरा

इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटीसेप्टिक, एंटी-वायरल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण हैं जो त्वचा को कई तरह की समस्यायों से बचाती हैं। इसमें ठंडक प्रदान करने वाले गुण भी हैं जो त्वचा को जलन और दर्द से आराम देने में मदद करती हैं। बिना मुँह वाले फोड़े पर एलोवेरा जेल को लगाकर छोड़ देने से सुजन और दर्द में आराम मिलेगा। इसके अलावे फोड़ा जल्दी ही सूखने लगेगा।

यह भी पढ़ें एलोवेरा जेल के फायदे (Aloe Vera gel ke fayde)

5. बिना मुँह वाले फोड़े का इलाज हैं बेकिंग सोडा और नमक

बिना मुँह वाले फोड़े अगर नहीं पक रहे हैं और सारे उपाय कर चुकें हैं तो बेकिंग सोडा और नमक का मिश्रण आपकी इस समस्या से निजात दिलाएगा। इस मिश्रण में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। यह संक्रमण को रोकता हैं। यह बिना मुँह वाले फोड़े को भी जल्दी पका देता हैं। आपको एक छोटे कटोरे में बेकिंग सोडा और नमक को एक साथ मिलाकर मिक्स कर लेना हैं। उसके बाद इस पेस्ट को प्रभावित जगह पर अप्लाई करना हैं। आधे घंटे बाद इसे हटा देना हैं। ऐसा दिन इमं सिर्फ 2 बार करने से ही पस बाहर आने लगता हैं।

यह भी पढ़ें शरीर में चुनचुनाहट की दवा से मिनटों में समस्या से मिलेगी राहत – घरेलू उपाय भी पढ़ें

फोड़े फुंसी सुखाने की दवा

दोस्तों, फोड़े फुंसी सुखाने की दवा का इस्तेमाल डॉक्टर द्वारा सुझाएं अनुसार ही करना चाहिए। ऐल्थ्रोसिन 500 टैबलेट, एमोक्सिसिलिन, एम्पीसिलीन जैसे दवाओं का इस्तेमाल फोड़े के इलाज में किया जाता हैं। कोज़िबैक्ट 2% क्रीम और sumag मरहम फोड़े के लिए लाभप्रद हैं। ये सभी दवाएं एंटीबायोटिक हैं। इन दवाओं का इस्तेमाल तब किया जाता हैं जब फोड़े जल्दी नहीं सूखते हैं। अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

यह भी पढ़ें चेहरे की फुंसी हटाने के घरेलू उपाय | कूल्हे पर फुंसी का इलाज

फोड़े की गांठ कैसे निकाले?

फोड़े की गांठ निकालने के लिए बेकिंग सोडा और नमक के मिश्रण को फोड़े पर लगाकर 30 मिनट तक प्रतीक्षा करें। उसके बाद फोड़े को हल्का-हल्का प्रेस करें। ध्यान रहे की फोड़े को ज्यादा प्रेस नहीं करना हैं। मवाद जितना भी बाहर आये उसे निकालकर घाव को साफ़ करें। यह प्रक्रिया रोज दोहराएं। 1 से 2 दिनों में ही सारे पस बाहर निकल आएंगे। उसके बाद घाव आसानी से सुख जाएगा।

यह भी पढ़ें

निष्कर्ष – बिना मुँह वाले फोड़े का इलाज

दोस्तों, इस पोस्ट में मैंने आपको बताया हैं की बिना मुँह वाले फोड़े का इलाज कैसे किया जाता हैं। फोड़े की गांठ कैसे निकाले? इसकी जानकारी भी इस पोस्ट में दी गयी हैं। आम तौर पर फोड़े कुछ दिनों में स्वत: ठीक हो जाते हैं। परन्तु फोड़े अधिक दिन त्वचा पर बने रहने से कई स्वास्थ्य सम्बन्धि समस्याएं हो सकती हैं। फोड़े को सेंकने से उसका मुंह खुल जाता हैं। फोड़ा नरम होकर पक जाता हैं। पकने के बाद आसानी से पस बाहर फेंक देता हैं। अगर फोड़े नहीं सुख रहे हैं तो डॉक्टर उस प्रभावित हिस्से को चीरा लगाकर हटा सकते हैं।

मुझे आशा हैं की आपको आज की यह पोस्ट ” बिना मुँह वाले फोड़े का इलाज / फोड़े की गांठ कैसे निकाले? ” बेहद पसंद आयी होगी। इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर जरुर से जरुर शेयर करें।

यह भी पढ़ें केला और चूना खाने के फायदे और नुकसान कर देगा आपको हैरान

Leave a Comment