पति को पत्नी का कौन सा अंग नहीं छूना चाहिए / स्त्रियों के किस अंग को छूना शुभ माना जाता है

Spread the love

पति को पत्नी का कौन सा अंग नहीं छूना चाहिए / स्त्रियों के किस अंग को छूना शुभ माना जाता है – आज का यह पोस्ट कुछ विशेष हैं। इस पोस्ट में मैं आपको कुछ ऐसी जानकारियां देने जा रही हूँ जिसके बारें में अधिकत्तर लोग नहीं जानते हैं। प्राचीन मान्यताओं के अनुसार स्त्री और पुरुषों के कुछ अंगों को छूने की मनाही हैं। शास्त्रों में पति और पत्नी को बराबर का दर्जा दिया गया हैं। स्वयं महादेव नें भी अर्ध नारीश्वर रूप धारण कर संसार को बताया की पति और पत्नी वास्तव में एक ही शरीर के दो अंग हैं। ऐसे में कई बार लोग इससे जुड़े हुए अनेक प्रश्न करते हैं जैसे – पत्नी का पैर दबाना चाहिए कि नहीं और पति को पत्नी का कौन सा अंग नहीं छूना चाहिए आदि। आइए इस पोस्ट के द्वारा आपके संशय को दूर करते हैं।

पति को पत्नी का कौन सा अंग नहीं छूना चाहिए
पति को पत्नी का कौन सा अंग नहीं छूना चाहिए

सनातन संस्कृति में स्त्री के पैर को स्पर्श करना बेहद शुभ माना जाता हैं। परन्तु कुछ स्थितियों में स्त्री के पैर छूने की मनाही हैं। चलिए आपको विस्तार से बताते हैं की पति को पत्नी का कौन सा अंग नहीं छूना चाहिए और स्त्रियों के किस अंग को छूना शुभ माना जाता है।

पति को पत्नी का कौन सा अंग नहीं छूना चाहिए

सामुद्रिक शास्त्र और अन्य धर्म ग्रंथों में स्त्री के एक अंग को छूने की मनाही हैं। जो लोग स्त्री के उस अंग को छूते हैं उनके जीवन में समस्याएं आनी शुरू हो जाती हैं। शास्त्रों में कहा गया हैं की पति को पत्नी का नाभि को छूना दरिद्रता को आमंत्रण देने जैसा हैं। शास्त्र कहते हैं की प्रेम करते समय नाभि को देखना गलत नहीं हैं लेकिन उसे छूने से घर की आर्थिक स्थिति खराब होने लगती हैं।

दरसल स्त्री के नाभि में माँ काली का स्थान माना जाता हैं। जो पुरुष इसे जानबुझकर छूते हैं उन्हें मां काली का कोप झेलना पड़ता हैं। इसे छूने से घर में दरिद्रता, दुःख, नकारात्मकता आदि आती हैं। इसलिए बताया गया हैं की पति को पत्नी का इस अंग को टच करना उचित नहीं हैं। पति अगर पत्नी की नाभि को छूता हैं तो इससे पति का भाग्य उसका साथ देना छोड़ सकता हैं। घर के बड़े बुजुर्ग पत्नी के पैर न छूने की सलाह देते हैं। बड़े बुजुर्गों का कहना हैं की पत्नी को पति के पैर कभी नहीं छूने चाहिए। परन्तु ऐसा किसी भी शास्त्र में नहीं लिखा गया हैं। आइये आगे जानते हैं की पत्नी का पैर दबाना चाहिए कि नहीं

Also, Read पति को कैसे सुधारें – पति के बिगड़ने की वजह और उपाय

पत्नी का पैर दबाना चाहिए कि नहीं

पत्नी का पैर दबाना चाहिए कि नहीं
पत्नी का पैर दबाना चाहिए कि नहीं

पत्नी और पति का रिश्ता प्रेम, विश्वास और समर्पण का हैं। पति और पत्नी दोनों की उम्र में अंतर होने बावजूद दोनों को बराबर का दर्जा दिया जाता हैं। हिन्दू धर्म में कहा गया हैं की दोनों में से कोई छोटा या बड़ा नहीं हैं। गृहस्थ जीवन चलाने का दायित्व दोनों ही पर होता हैं। शिव जी द्वारा अर्धनारीश्वर धारण करना इस बात का सबुत हैं की दोनों के कार्य, पद, कर्तव्य एक समान हैं। ऐसे में कई बार लोग यह प्रश्न करते हैं की पत्नी का पैर दबाना चाहिए कि नहीं तो आपको मैं बता दूँ की पति पत्नी को हर स्थिति में एक दुसरे का साथ देना चाहिए।

पत्नी के बीमार होने पर पति का पत्नी की सेवा करना परम कर्तव्य हैं। स्त्री को हिन्दू धर्म में देवी कहा जाता हैं। ऐसे में देवी के चरणों को स्पर्श करने में कैसा संकोच। अत: हर परिस्थिति में एक दुसरे की सहायता करें इसके लिए आपको किसी से आज्ञा लेने की आवश्यकता नहीं हैं।

Also, Read जो पत्नी अपने पति का अपमान करती है – इस स्थिति में पति को क्या करना चाहिए

स्त्रियों के किस अंग को छूना शुभ माना जाता है

दोस्तों, हिन्दू धर्म स्त्री का दर्जा सबसे ऊपर हैं। एक स्त्री मां हो सकती हैं जो 9 महीने गर्भ बच्चे को रखकर जन्म देती हैं। स्त्री को जननी भी कहा जाता हैं। नवमी में छोटी बच्चियों को देवी मानकर उनकी पूजा की जाती हैं और उन्हें भोजन कराया जाता हैं। सनातन संस्कृति में स्त्री देवी का रूप मानी जाती हैं। कहते हैं की जो लोग स्त्री के पैर छूते हैं उन्हें जीवन में कभी भी दुःख का सामना नहीं करना पड़ता हैं। स्त्री के पैर छूने से सभी जन्मों के पुन्य फल पुरुष को प्राप्त होता हैं। अत: स्त्रियों के पैर को छूना शुभ माना जाता है।

जो लोग स्त्री के पैर छूते हैं उन्हें भौतिक संसार की सभी खुशियाँ मिल जाती हैं। व्यापार, जॉब आदि में आशातीत सफलता मिलती हैं। अत: रोज सुबह उठकर अपनी मां और अपने से बड़े लोगों के पैर जरुर स्पर्श करें। हिन्दू धर्म में आशीर्वाद का विशेष महत्त्व हैं। किसी स्त्री के पैर छूकर प्रणाम किये जाने के बाद मिलने वाला आशीर्वाद आपके अंदर सकारात्मक उर्जा का संचार करती हैं। इससे आपके आत्मविश्वास में भी बढ़ोतरी होती हैं।

Also, Read पत्नी का धर्म क्या होता है – जानकर हैरान हो जायेंगे

निष्कर्ष

पति को पत्नी का कौन सा अंग नहीं छूना चाहिए और स्त्रियों के किस अंग को छूना शुभ माना जाता है इसकी पूरी जानकारी मैंने इस विशेष पोस्ट के माध्यम से आपको दी हैं। शास्त्रों के अनुसार पत्नी के कुछ अंगों को छूना उचित नहीं माना जाता हैं। वही स्त्री के पैर छूना अति शुभ हैं। स्त्री का सम्मान करना और उनकी मदद करना हर पुरुष का कर्तव्य हैं। स्त्री का अपमान करने से मां शक्ति रुष्ट होती हैं जिससे घर में अनेक तरह की समस्याएं उत्पन्न होती हैं।

मुझे पूरी उम्मीद हैं की आपको आपके प्रश्न पति को पत्नी का कौन सा अंग नहीं छूना चाहिए और स्त्रियों के किस अंग को छूना शुभ माना जाता है आदि के उत्तर अच्छे लगे होंगे। ऐसी ही महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए हमार्वे ब्लॉग के साथ जुड़े रहें।

Also, Read पति-पत्नी में प्रेम बढ़ाने का उपाय – रोमांटिक बातें क्या होती है

2 thoughts on “पति को पत्नी का कौन सा अंग नहीं छूना चाहिए / स्त्रियों के किस अंग को छूना शुभ माना जाता है”

Leave a Comment