इंद्र जौ के फायदे (Inderjo ke fayde)

Spread the love

इंद्र जौ के फायदे (Inderjo ke fayde): नमस्कार दोस्तों हम आपका स्वागत करते हैं अपने नए ब्लॉग पोस्ट में और आज हम बात करेंगे, इंद्र जौ के फायदे (inderjo ke fayde) के बारे में। प्राचीन काल से ही इस्तेमाल हो रही इंद्रजौ औषधि हमारे शरीर को रोगों से बचाने में मदद करती है। यह एक ऐसा पौधा है जिसके जड़ों से लेकर फूल तक का इस्तेमाल शरीर को रोगों से बचाने के लिए किया जाता है। वैसे तो  इसका स्वाद बेहद कड़वा होता है लेकिन इसके फायदे भी उतने ही अनेक होते हैं। अगर आप लोग इंद्रजौ का उपयोग करते हैं तो आपकी पेट से जुड़ी समस्याएं, त्वचा से जुड़ी समस्याएं ठीक होती है,  और ब्लड शुगर लेवल नियंत्रण में रहता है। सुंदरता के इस लेख में आज मैं आपको बताऊंगा इंद्रजौ के फायदे (inderjo ke fayde), इसके उपयोग, इसमें मिलने वाले पोषक तत्व, इसके इस्तेमाल के तरीके, और इसके नुकसान के बारे में।

इंद्र जौ के फायदे (Inderjo ke fayde)
इंद्र जौ के फायदे (Inderjo ke fayde)

इन्द्रजौ क्या होता है (Indrajau kya hota hai)

सबसे पहले जानते हैं आखिरकार इंद्रजौ है क्या?

इंद्रजौ एक ऐसा जंगली पौधा है जिसकी ऊंचाई 5 से 10 फुट होती है। इसके  पत्ते दिखने में बिल्कुल बादाम के पत्तों की तरह ही  लंबे होते हैं।  इंद्रजौ के फूलों का इस्तेमाल सब्जी बनाने के लिए किया जाता है। इसमें लगने वाली फलियां   साग और अचार बनाने के काम में आती है। इसकी  फलियों में से जौ की तरह बीज निकलता है इसलिए इस  इंद्रजौ भी कहा जाता है।

Also, Read उड़द की दाल के फायदे (Urad ki Dal ke Fayde)

इंद्रजौ में पोषक तत्व (Indrajau Me Kya Kya Paya Jata Hai)

चलिए अब मैं आपको बताता हूं इंद्रजौ में मिलने वाले पोषक तत्वों के बारे में:

इसमें मिलने वाले पोषक तत्व जैसे कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, पोटैशियम, फाइबर, सोडियम, फास्फेट, विटामिन, मिनिरल, आयरन, fat, फास्फोरस, इत्यादि हमारे लिए काफी फायदेमंद होते हैं।

Indrajau Istemal Karne Ka Tarika (इन्द्रजौ इस्तेमाल कैसे करें)

अब हम जानेंगे इंद्रजौ के इस्तेमाल के बारे में:

  • इंद्रजौ का काढ़ा बनाकर आप लोग अपने दांत के दर्द को ठीक कर सकते हैं।
  • एक चम्मच शहद के साथ 5 से 10 ग्राम इंद्रजौ की छाल के रस को मिला दिया जाए तो आप को दस्त में मदद करेगा।
  • इसकी छाल को पीसकर दही में मिला लें और इसका सेवन करें आपकी पथरी नष्ट हो जाएगी।
  • आप लोग इसके चूर्ण का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

Also, Read सत्यानाशी के फायदे (Satyanashi ke fayde)

फायदे (Inderjo ke fayde)

चलिए अभी मैं आपको बताता हूं इंद्रजौ के फायदे(inderjo ke fayde) के बारे में:

मुंह के छालों में

इंद्रजौ के फायदे(inderjo ke fayde) में सबसे पहला फायदा है, यह करता है आपके मुंह के छालों को ठीक। मुंह में छाले होना आम बात है लेकिन अगर इसका सही समय पर इलाज न किया जाए तो यह समस्याएं दे सकता है। अगर आपको छालों की समस्या हो गई है तो आप लोग इंद्रजौ को इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके फूलों को  जीरे के साथ पीसकर इसका चूर्ण बना लें और इसे छालों को ठीक करने के लिए दिन में दो बार लगाएं। वैसे इसकी छाल का इस्तेमाल पेट में मौजूद कीड़ों को मारने के लिए काम में आता है।

Also, Read तालमखाना के फायदे (Talmakhana ke Fayde)

शुगर को कंट्रोल करने में

इंद्रजौ के फायदे(inderjo ke fayde) में दूसरा फायदा है, करता है आपके शुगर को कंट्रोल। जो लोग डायबिटीज के पेशेंट हैं या फिर जिन्हें डायबिटीज की समस्या है वह लोग इंद्रजौ का फायदा उठा सकते हैं। इंद्रजौ में मिलने वाले anti-diabetic गुण आपके खून में शुगर की मात्रा को नियंत्रण में रखने में मदद करते हैं। आप लोग इसके फूलों का चूर्ण बनाकर उसे गुनगुने पानी में मिला लें और इसका सेवन करें जिससे आपके खून में शुगर की मात्रा नियंत्रण में रहेगी। घाव के लिए भी इसके फूल का चूर्ण काफी असरदार माना गया है जो आपके घाव को ठीक करने में मदद करता है।

Also, Read गिलोय घनवटी के फायदे (Giloy Ghanvati ke fayde)

पेट की समस्या में

इंद्रजौ के फायदे(inderjo ke fayde) में तीसरा फायदा है, करेगा आपकी पेट की समस्या को दूर। पेट से जुड़ी समस्याएं हमें काफी परेशान करती हैं लेकिन  इंद्रजौ का इस्तेमाल इन परेशानियों को दूर करने के लिए किया जा सकता है। दस्त में आप इसकी छाल को पीसकर इसका चूर्ण बना लें और पानी में मिलाकर इसका सेवन करेंगे तो आप को दस्त से राहत मिलेगी। अगर आप इसके बीज को गर्म पानी में भिगाएँगे और ठंडा होने के बाद उस पानी को छानकर पिएंगे तो पेट में ऐठन की समस्या भी दूर होगी।

पथरी से राहत

इंद्रजौ के फायदे(inderjo ke fayde) में  चौथा फायदा है, आपको दिलाएगा पथरी से राहत। पथरी की समस्या होने के कारण आपको असहनीय दर्द को झेलना पड़ता है। इसीलिए मैं आपको सलाह देता हूं कि आप इंद्रजौ का इस्तेमाल करें। आप इसकी छाल का पाउडर बनाकर दूध में मिला लें और और उसका सेवन करें। यह आपकी पथरी को नष्ट करने में मदद करेगा।

Also, Read सफेद तिल के फायदे (Safed Til ke Fayde)

त्वचा के रोगों को दूर करने में

इंद्रजौ के फायदे(inderjo ke fayde) में पांचवा फायदा है, करता है त्वचा के रोगों को दूर। अगर आपको खुजली की समस्या है तो आप इसकी छाल का पेस्ट बनाकर इस्तेमाल कर सकते हैं उससे आप की खुजली और सूजन दूर हो जाएगी। आप लोग इसका चूर्ण बनाकर अपनी त्वचा पर इस्तेमाल कर सकते हैं जिससे आपकी त्वचा खिली खिली नजर आएगी।

Also, Read सांडे के तेल के फायदे (Sanda oil ke fayde in hindi)

इंद्र जौ के नुकसान (IndraJau Ke Nuksan)

अब जानते हैं इंद्रजौ के नुकसान के बारे में:

  • कई लोगों की त्वचा सेंसिटिव होती है तो अगर आपकी त्वचा भी सेंसेटिव है तो इंद्रजौ के इस्तेमाल से आपको एलर्जी हो सकती है।
  • अधिक रूप में इसके इस्तेमाल से पेट से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं।
  • अगर आप प्रेग्नेंट हैं या फिर स्तनपान कराती है तो आपको इंद्रजौ के इस्तेमाल से पहले  डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
  • अधिक रूप में इस्तेमाल करने से आपका पाचन तंत्र बिगड़ सकता है।

Also, Read कद्दू के बीज के फायदे (Kaddu ke beej ke fayde)

FAQ:

इंद्रजौ का उपयोग कैसे करें?

आप लोग इसका उपयोग चूर्ण बनाकर कर सकते हैं।

इंद्रजौ का क्या काम है?

यह एक ऐसी आयुर्वेदिक दवा है जिसका इस्तेमाल हमारे शरीर से जुड़ी समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता है।

इंद्रजौ चूर्ण कैसे लेते हैं?

आप लोग खाना खाने के बाद एक चम्मच चूर्ण पानी में डालकर ले सकते हैं।

इंद्रजौ को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

इसे अंग्रेजी में  कुर्ची कहा जाता है।

Also, Read हेमपुष्पा के फायदे (Hempushpa ke fayde)

4 thoughts on “इंद्र जौ के फायदे (Inderjo ke fayde)”

Leave a Comment