सफेद दाग में दूध पीना चाहिए कि नहीं

Spread the love

सफेद दाग में दूध पीना चाहिए कि नहीं :- नमस्कार दोस्तो आज हम जानेंगे की आपको सफेद दाग में दूध पीना चाहिए कि नहीं। क्योंकि यह एक स्किन से जुड़ी समस्या है और आयुर्वेद के अनुसार इस बिमारी से बचने के लिए आपको कुछ खाद्य पदार्थो के प्रति सावधानी रखने की ज़रूरत होती है।

सफेद दाग में दूध पीना चाहिए कि नहीं
सफेद दाग में दूध पीना चाहिए कि नहीं

इसलिए सफेद दाग में दूध पीना चाहिए कि नहीं इस बारे में जानने के लिए हमारे आर्टिकल को पूरा पढे।

यह क्या है और सफेद दाग का कारण

सफेद दाग त्वचा से सबंधित एक बिमारी है। जिसे इंग्लिश में विटीलिगो कहा जाता है। सफेद दाग की बीमारी में मरीज के हाथ-पैर, चेहरे और शरीर के बाकी अंगो पर सफेद दाग होने लगते है। सफेद दाग की बिमारी का कारण मेलिनोसाइट्स नाम की कोशिकाओं को माना जाता है। जब मेलिनोसाइटस नाम की कोशिका नष्ट होती है तो सफेद दाग की बीमारी हो जाती है। मेलिनोसाइटस हमारे शरीर की स्कीन को रंग देने का काम करती है। लेकीन जब किसी वजह से ये कोशिकाएं खतम हो जाती है तो या फिर काम करना बंद कर देती है तो त्वचा का रंग बदलने लग जाता है। जिसके कारण शरीर पर सफेद दाग की बीमारी होती है।

Also, Read शरीर में सुस्ती और थकान दूर करने के उपाय

सफेद दाग में दूध पीना चाहिए कि नहीं

अगर आयुर्वेद के अनुसार बात करे तो कुछ खाद्य पदार्थो के साथ कुछ अन्य पदार्थ लेने से सफेद दाग की बिमारी हो सकती है। आपने अकसर सुना होगा की दूध के सात कभी नमक नहीं लेना चाहिए और दूध के साथ मछली भी खाने से बचे। इस लापरवाही के कारण सफेद दाग की बिमारी हो सकती है। लेकिन दोस्तो अगर रिपोर्ट्स की माने तो एसा कोई फैक्ट अभी मिला नहीं है की दूध के साथ मछली खाने से सफेद दाग हो सकते है। इस बारे में अभी तक कोई ठोस जानकारी उपलब्ध नहीं है। लेकिन सफेद दाग का अन्य कारण फंगल इन्फेक्शन हो सकता है। या कोशिका का नष्ट होना।

दोस्तो आजकल मछली को पकाते वक्त ऐसी की रेसीपी है जिनमे भरपुर दूध या दही का इस्तेमाल किया जाता है। तो ऐसे में आप सफेद दाग में दूध और मछली खाने के डर को दूर करके अपने भोजन का आनंद ले। और अगली बार जब कोई आपसे पूछे सफेद दाग में दूध पीना चाहिए कि नहीं तो बेझिझक आप उनकी इस गलतफहमी को दूर कर सकते है।

अगर मेडिकल साइंस के अनुसार यह बात करे की यह सफेद दाग की बीमारी कितनी बढ़ सकती है। यह अभी तक स्पष्ट नहीं है लेकिन फिर भी वक्त पर ईलाज करवाने से ने दाग बनने से रोका जा सकता है। डॉक्टर्स कहते है की कभी कभी सफेद दाग की प्रोब्लम इम्यूनिटी डिसऑर्डर के कारण भी हो सकती है। लेकिन सफेद दाग होने की ये प्रोब्लम अचानक क्यों हो जाती है इसका कारण तो अभी तक किसी को भी स्पष्ट नहीं पता है। वही आयुर्वेद इस बात को स्वीकार करता है। विपरीत प्रकृति के खाद्य पदार्थ एक साथ खाने के लिए मना करता है। मुझे यकीन हैं की आपको आपके सवाल सफेद दाग में दूध पीना चाहिए कि नहीं का जवाब मिल गया होगा.

नोट : यह एक सामान्य जानकारी हैं. बीना डॉक्टर के सलाह के किसी भी चीज के सेवन से बचें.

Also, Read क्या लड़कों को भी पीरियड्स होते हैं

सफेद दाग के अन्य संभावित कारण

पिगमनटेंशन

दरअसल त्वचा का ज्यादा धूप में रहने के कारण रंग फीका पड़ जाता है या त्वचा अपना रंग को देती है। जिसके कारण उस जगह पर सफेद दाग दिखाई देने लगते है।

एक्जिमा

एक्जिमा की प्रोब्लम में स्किन पर सुजन आ जाती है। और व्हाइट स्पॉट बन जाते है। एक्जिमा की बिमारी का इलाज है और इसे आगे बढ़ने से रोक सकते है। लेकिन इसके लक्षण जो त्वचा पर उभर आए जो उन्हें ठीक नहीं किया जा सकता है। सफेद दाग होने पर त्वचा में किसी तरह का कोई दर्द नही होता बस स्किन खराब नज़र आने लगती है। इसलियर जिन लोगो को सफेद दाग की बिमारी है वो अपने आहार का ध्यान रखे और सफेद दाग को बढ़ाने वाले आहार से परहेज करे।

Also, Read आँख फड़कना कैसे रोके – जबरदस्त उपाय

सफेद दाग की बीमारी में क्या ना खाना चाहिए

  • मसालेदार ऑयली फूड खाने से परहेज करे।
  • भोजन के साथ कोल्ड्रिंक न ले।
  • शराब फास्ट फूड, बाहर खाना जैसे जंक फूड, पैक्ड फूड, का सेवन ना करें।
  • नया अनाज, मैदा आदि के बारे में ख्याल रखें।

सफेद दाग के लक्षण

दाग होने पर त्वचा का रंग उड़कर फीका पड़ने लगता है। इस का असर सबसे पहले होठ, चेहरा, गर्दन आदि पर दिखाई देता है। यानी जो अंग सूर्य की रोशनी में सीधे दिखाई देते है उन पर इसका असर। सबसे पहले दिखता है। पुरुषो में जब ये लक्षण उभरते है तो दाढ़ी वाले स्थान पर भी इसके लक्षण दिखाई देते है। इसके अलावा बाल रूखे हो जातें है। आईब्रो का रंग भी उड़ जाता है और आंख के रेटीना का रंग भी फीका पड़ जाता है।

Also, Read लैट्रिन में खून आए तो क्या खाना चाहिए?

सफेद दाग के लिए घरेलू उपचार क्या है

  • तांबे के बर्तन में पानी पिए।
  • अदरक का रस का सेवन करे क्योंकि यह आपके सफेद धब्बे वाले स्थान पर खून के प्रवाह को बढ़ाती है।
  • रोज छाछ जरूर पीए।

दोस्तो यह थी सफेद दाग में दूध पीना चाहिए कि नहीं के बारे में जानकारी। हम उम्मीद करते है की आपको हमारा ब्लॉग पोस्ट जरुर पसंद आएगा। आपका इस आर्टिकल पर आने के लिऐ धन्यवाद।

Also, Read चिया के बीज की पूरी जानकारी Hindi में ( Chia Seeds in Hindi)

FAQ

Q. सफेद दाग को ठिक करने का घरेलू उपचार?

Ans: सरसो और हल्दी का मिश्रण दाग वाली जगह पर लगाए।

Q. सफ़ेद दाग की दवाई का नाम क्या है?

Ans: ल्युकोस्कीन।

Q. जो सफेद दाग हो गए उन्हे ठिक किया जा सकता है?

Ans: नही, लेकिन उन्हें और बनने से रोका जा सकता है।

Also, Read चक्कर आने पर किस डॉक्टर को दिखाएं – चक्कर के कारण क्या हैं ?