सरल मेहंदी डिजाइन पैर की

Spread the love

तो चलिए दोस्तो जानते है बिना देर किए मेंहदी के बारे में और उसके विभिन्न डिजाइन जेसे सरल मेहंदी डिजाइन पैर की, सरल मेंहदी डिजाइन विभिन्न उत्सव के लिए आदि टॉपिक कर आज हम चर्चा करेंगे।

सरल मेहंदी डिजाइन पैर की
सरल मेहंदी डिजाइन पैर की

मेंहदी क्या होती है?

दोस्तों मेंहदी भारत में काफ़ी प्राचीन समय से महत्त्वपूर्ण रही है। भारत में मेंहदी की शुरुआत सल्तनत काल से मानी जाती है। लेकिन हिन्दू कथाओं के अनुसार भी मेहंदी का इतिहास भारत में बहुत पुराना है। मेंहदी एक अस्थाई कला है जिसके माध्यम से शरीर यानी हाथ पैरो पर अलग अलग डिजाइन बनाकर रंगा जाता है। हाथ पैरो के अलावा मेंहदी का उपयोग बालों को रंगने में भी किया जाता है।

मेंहदी बनती किससे है

दोस्तो मेंहदी का एक पौधा होता है जिसकी सुखी पत्तियों से मेंहदी पाउडर तैयार किया जाता है। वही मेंहदी पाउडर का इस्तेमाल फिर शरीर पर किया जाता है जिस से हाथ पैरो पर अस्थाई रूप से मेंहदी का रंग चढ़ जाता है।

मेहंदी का महत्त्व

भारत में कोई भी उत्सव हो मेंहदी के बीना अधूरा माना जाता है। जब भी कोई त्यौहार आता है तो उसके एक दिन पहले  मेहंदी लगाने की परम्परा है।  शादी में दुल्हन को हाथ पैरो पर फूल मेहंदी डिजाइन लगाया जाता है। मेंहदी को सुंदरता के नजरिए से भी देखा जाता है। जब हाथ पैरो पर मेहंदी अपना लाल रंग छोड़ती है तो एक अलग ही रंगत और खूबसूरती दिखाई देती है।

मेहंदी का महत्त्व भारत में शगुन के तौर पर भी देखा जाता है। कोई भी शुभ काम हो मेंहदी का शगुन किया जाता है। शादी में एक रस्म निभाई जाती है जिसके अनुसार दूल्हे को दुल्हन की मेहंदी में अपना नाम ढूंढना होता है। इस रस्म के दौरान नव विवाहित जोड़े का प्रेम की ओर अग्रसर होना स्वाभाविक ही हो जाता है। आज की इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा सरल मेहंदी डिजाइन जो की पैर की हैं। मेहंदी रस्म रिवाज के अलावा अन्य कारणो से भी महत्त्व रखती है।

Also, Read बालों को सिल्की कैसे बनाये | Sundarta

मेहंदी डिजाइन का मतलब क्या होता है

मेहंदी डिजाईन या तो हाथो पर पीछे के हिस्से में या दोनो तरफ लगाए जाते है इसके अलावा सरल मेहंदी डिजाइन पैर पर भी लगाए जाते है। कहते है की पैरो पर लगाई जानें वाली मेंहदी डिजाईन के कुछ मतलब और संकेत होते है। जैसे पैरो पर मेहंदी लगाना पृथ्वी और मनुष्य के बीच के संबंध की ओर संकेत करता है। इसके अलावा मेंहदी में कुछ ऐसे डिजाइन और भी शामिल होते है जो किसी का संकेत होते है जैसे:

मंडल– यह पूरे ब्रह्मांड और मनुष्य के बीच के संबंध का प्रतीक है।

ऊपर की तरफ बनाए जाने वाले त्रिकोण –  यह त्रिकोण वाला डिजाइन पुरुष सिद्धान्त का प्रतीक होता है।

वर्ग- यह निर्भरता और व्यवस्था का प्रतीक है।

हीरा- आत्मज्ञान का प्रतीक है।

वृत– यह सच और वास्तविकता का प्रतीक है।

इन डिजाइन को किसी त्योहार पर लगाया जाता है।

Also, Read सफेद बालों को 7 दिन में जीवनभर के लिए काला करने का चमत्कारी घरेलु नुस्खा ll करोड़ो में एक नुस्खा

सरल मेहंदी डिजाइन पैर की कौन कौन सी हैं?

सरल मेहंदी डिजाइन पैर की कौन कौन सी है यह भी देख लेते है।हाथो के साथ महिलाए पैर पर भी मेहंदी लगवाना पसंद करती है।

सर्कल मेहंदी

सर्कल मेहंदी
सर्कल मेहंदी

दोस्तों सर्कल मेहंदी डिजाइन जो की एक सदाबहार डिजाइन है देखने में यह कभी पुराना नहीं लगता है। यह दिखने में काफी सुंदर लगता है

बेल डिजाइन

सरल मेहंदी डिजाइन पैर की
सरल मेहंदी डिजाइन पैर की बेल डिज़ाइन

बेल डिजाइन भी एक सदाबहार डिजाइन है इसे हाथो पर मुख्य रूप से बनवाया जाता है लेकिन आजकल इसका प्रचलन पैरो पर भी देखने को मिलता है। यानी आप पैरो पर भी बेल मेंहदी डिजाइन बनवा सकती है।

Also, Read Sundarta (सुंदरता) के लिए योग | Sundarta Tips

अब हम जानेंगे सरल मेहंदी डिजाइन पैर की कैसे आपके पैरो की शोभा बढ़ाते हैं।  फ्लावर मेहंदी डिजाइन जो हर तरह की मेहंदी की शोभा बढ़ाते है। देखने में यह सिंपल और क्लासी लुक देती है।  फ्लावर मेहंदी डिजाइन महिलाओ की पहली पसंद होती है और पैरो पर सुंदर फ्लावर मेहंदी डिजाइन हो व पायल पहनी हो तो क्या ही कहना यह आपके पैरो में बहुत खूबसूरत लगती है देखने में।

  • छोटे से फूल के साथ मोर वाला डिजाइन और ऊपर फूलो वाला डिजाइन बहुत ख़ूबसूरत लुक देता है आपके पैरो को।
  • छोटी पत्तियों वाला मेहंदी डिजाइन जो देखने में किसी पेड़ की शाख जैसा लगता है मानो नेचर का कोई डिजाइन हो।
  • सिंपल चेक यानी जाल के साथ फूलो वाला डिजाइन आपके पैरो को एकदम न्यू लुक देता है। यह देखने में बेहद खूबसूरत लगता है।

Also, Read Sundarta Ki Haddi (ब्यूटी बोन) किसे कहा जाता हैं?

यदि आपको ज्यादा भरवा और एकदम  मेंहदी से भरा भरा  डिजाइन पसंद नहीं आता है तो आप सिर्फ पैरो के किनारे पर भी सिंपल मेंहदी डिजाइन लगवा सकती है।  या फिर आप सिर्फ पैर की अंगुलियों पर ही मेंहदी लगा सकती है और बिछिया पहने यह भी देखने में अच्छा लगता है। इसके अलावा आप किनारों पर डॉट वाली लाइन बनवा सकती है।

बॉक्स डिजाइन

अगर आप एक ही तरह के मेंहदी डिजाइन लगवा कर बोर हो गई है तो इस बार बॉक्स मेंहदी डिजाइन जरुर ट्राई करे और यह आपको बहुत पसंद भी आएगा। इसके लिए पैर के बीच में दोनो साइड डॉट लगा कर बॉक्स बना ले आप चाहें तो बॉक्स को नीचे से चेक वाले डिजाइन से भर भी सकती है। उसके बाद आप पैर की उंगलियों पर छोटे फ्लावर वाला डिजाइन बनवा ले।

Also, Read तुरंत गोरा होने के उपाय(Gore Hone Ke Upay)

क्रिस क्रॉस मेंहदी डिजाइन

सरल मेहंदी डिजाइन पैर की
सरल मेहंदी डिजाइन पैर की

यह एकदम भरवा मेंहदी डिजाइन है जो देखने में बेहद सुंदर लगता है। इस डिजाइन से पूरा पैर कवर हो जाता है। यदि आप चाहें तो इसे भी बनवा सकती है।

मेहंदी लगाने के फायदे

तो यह थी सरल मेहंदी डिजाइन पैर की अब बात करेंगे हम मेंहदी लगाने का  लाभ क्या है और इसका क्या महत्त्व  होता है।

  • दोस्तो मेंहदी में एंटीबेक्टीरियल गुण होते है जो आपके पैरो को संक्रमण से बचाती है। पैर में मेंहदी लगाने से एथलीट फुट और नाखून कवक की संभावना को रोकती है।
  • मेंहदी लगाने से पैरो को प्राक्रतिक रूप से नमी मिलती है और स्किन की कंडिशनिंग होती है। जिन्हे फटी एडियो की प्रोब्लम हो वो पैरो में मेंहदी लगा सकती है।
  • पैरो की जलन को कम करने में सहायक होती है। दोस्तो मेंहदी की तासीर ठंडी होती है इसलिए जिन लोगो को पैरो में जलन लगने की समस्या हो वो पैरो में मेंहदी लगा सकते है। इस से उन्हे तुरंत आराम मिलेगा।

हम उम्मीद करते है आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आएगा। आपका धन्यवाद हमारे ब्लॉग पर आने के लिए।

Also, Read Breast Size Kaise Badhaye In Hindi

FAQ

ज्यादा मेंहदी लगाने से क्या हो सकता है?

आजकल जो मेंहदी मार्केट में मिलती है उसमे केमिकल होते है यदि आप ज्यादा मेंहदी लगाएंगे तो हो सकता है आपकी स्किन को नुकसान हो। जहां तक हो आप ऑर्गेनिक मेंहदी ही खरीदे।

मेंहदी का दूसरा नाम बताइए?

मेंहदी का दूसरा नाम लॉसोनिया इनर्मिस है।

क्या मेंहदी लगाने के साइड इफेक्ट हो सकते है?

किसी किसी को मेंहदी लगाने से एलर्जी हो सकती है और मेंहदी लगाने पर उन्हे खुजली, जलन, छाले जैसी प्रोब्लम हो सकती है।

अन्य मेहंदी की डिजाईन

Also, Read दुल्हन का मेकअप करने का तरीका (Dulhan ka Makeup Karne ka Tarika)