प्रेगनेंसी में मंदिर जाना चाहिए या नहीं – विस्तार से

Spread the love

हैलो दोस्तों आज हम बात करने वाले है। महिलाओ के सबसे खास टॉपिक प्रेगनेंसी में मंदिर जाना चाहिए या नहीं के बारे में। 

प्रेगनेंसी में मंदिर जाना चाहिए या नहीं
प्रेगनेंसी में मंदिर जाना चाहिए या नहीं – विस्तार से

प्रेगनेंसी में मंदिर जाना चाहिए या नहीं: एक नज़र में-

दोस्तों प्रैगनेंसी किसी भी महिला के लिए सबसे खास और महत्त्वपूर्ण होती है। यह वक्त हर महिला के लिए सबसे ज्यादा खास और दिल के करीब होता है। 

लेकिन दोस्तो हमारे हिन्दू धर्म में गर्भवती महिलाओ के लिए कुछ नियम होते है जो किसी न किसी वजह से बनाए जाते है। लेकिन हर महिला का ये अरमान होता है की उसकी संतान स्वस्थ और अपने माता पिता को सुख देने वाली हो। 

शायद इसी वजह से उनके मन में इतने सारे  सवाल आते है की प्रेगनेंसी में मंदिर जाना चाहिए या नहीं, उन्हे भगवान की पूजा करनी चाहिए या नहीं और अगर मंदिर जाए तो कौनसे मंदिर जाएं, किस देवता की पूजा करें। आदि प्रश्न एक महिला के मन में आते है। इन सभी प्रश्नों के उत्तर आपको आज हमारे आर्टिकल में मिल जायेंगे इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक पढे।

प्रेगनेंसी में मंदिर जाना चाहिए या नहीं

प्रेगनेंसी में मंदिर जाना चाहिए या नहीं ये बात आपकी आस्था पर निर्भर करती है। जिन महिलाओं का विश्वास होता है की मंदिर जाने से उनकी संतान अच्छी और समझदार होगी। वे मंदिर जाकर ईश्वर का आशीर्वाद लेती है। लेकिन जिन महिलाओं को प्रैगनेंसी में मंदिर जाने पर भरोसा नहीं होता वह मंदिर नहीं जाती है।

इसलिए प्रेगनेंसी में मंदिर जाना चाहिए या नहीं यह पुरी तरह उस गर्भवती महिला के विश्वास पर निर्भर करता है।  लेकिन हम आपको यही कहेंगे की मंदिर का वातावरण सकारत्मक होता है। और वहां पॉजिटिव एनर्जी होती है तो आपको मंदिर जाना चाहिए। लेकिन कुछ खास बातों का ध्यान जरूर रखें। वो खास बात के लिए आर्टिकल पढे, हमने नीचे जानकारी दी है। 

गर्भवती  महिला को कौन से देवी और देवता की पूजा करनी चाहिए

भगवान की पूजा करना हर व्यक्ति की अपनी आस्था का विषय है। इसमें किसी प्रेगनेंट महिला के लिए कोई खास नियम नहीं है की वह किसी एक ही भगवान की पूजा करें। इसलिए आपकी आस्था जिस भी ईश्वर के प्रति है। उनकी पूजा कर सकती है। 

हा लेकिन हमारे शस्त्रों में कुछ विशेष परीस्तिथि में जरूर बताया गया है की उन्हे मंदिर नहीं जाना चाहिए।

Also, Read प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए (Pregnancy Me Kya Khana Chahiye)

प्रेगनेंट महिला को मंदिर क्यों नहीं जाना चाहिए

दोस्तों कुछ मंदिर ऐसे होते है जिनमे गर्भवती महिला के जाने पर रोक होती है। लेकिन इस रोक टोक के पीछे भी कोई खास वजह होती है। कुछ लोग बताते है की प्रेगनेंसी में कुछ महिलाए अपनी पवित्रता का ध्यान नहीं रख पाती जिसके कारण मंदिर जाना सही नहीं माना जाता है। लेकिन कोई गर्भवती औरत अपने डेली रूटीन का ख्याल रखती है और पवित्रता का ध्यान रखे तो फिर उन्हें मंदिर जाने में कोई आपत्ति नहीं है। 

मंदिर में भिड़ बहुत होती है। इस प्रोब्लम से बचने के लिए महिला को घर पर ही पूजा करना चाहिए। ताकि उसे किसी तरह की परेशानी न हो।  कुछ मंदिर ऊंचाई पर बने होते है। ऐसे में एक गर्भवती महिला का सीढ़िया चढ़कर मंदिर में जाना पैरो में सुजन का कारण बन सकता है। और थकान हो सकती है। 

गर्भावस्था में महिला को इन्फेक्शन का खतरा होता है। और मंदिर में पूजा के लिए बहुत लोग आते है। ऐसे में हो सकता है की उनके संपर्क में आने के कारण किसी तरह का इन्फेक्शन हो जाए। 

Also, Read प्रेगनेंसी में पीरियड जैसा दर्द होना क्या है

कौनसा मंदिर प्रेगनेंसी में जाने के लिए फेमस है

ऐसे तो आप किसी भी मंदिर में जा सकती है। जिसमें आपकी मान्यता हो या फिर आपकी कुलदेवी या देवता के मंदिर जा सकती है। लेकिन हिमाचल प्रदेश में एक ऐसा मंदिर है जिसकी मान्यता है की यदि कोई गर्भवती महिला इस मंदिर में जाती है तो उसका बच्चा दिव्य रूप से जन्म लेता है। इस मंदिर का नाम सिमसा मंदिर है। 

Also, Read प्रेगनेंसी के लक्षण कितने दिन में दीखते है

प्रेगनेंसी में शिव मंदिर जाएं या नहीं- प्रेगनेंसी में मंदिर जाना चाहिए या नहीं

इस सवाल का जवाब पुरी तरह से प्रेगनेंट महिला की मर्जी पर निर्भर है। क्योंकि किसी भी गर्भवती महिला पर शिव मंदिर जाने पर कोई रोक टोक नहीं है। यदि आप मंदिर जाना चाहती है तो जरूर जाए यह आपके शिशु की सेहत के लिए अच्छा माना जाता है। लेकिन यदि आप अपनी पवित्रता का ध्यान रखने में असमर्थ है तो शिव मंदिर ना जाए। 

दूसरी तरफ आपको इस बात का भी ख्याल रखना है की आप शिव जी के दर्शन दूर से ही करे। क्योंकि शिव जी को विनाश का देवता माना जाता है। और यदि गर्भवती महिला शिवलिंग को छू लेती है तो सही नहीं माना जाता है।

Also, Read प्रेगनेंसी कितने दिन में पता चलती है

क्या प्रेगनेंट महिला हवन कर सकती है

अगर गर्भवती महिला पवित्रता और खुद का ख्याल रखती है तो वह हवन में जरूर बैठ सकती है। लेकिन अक्सर यह देखा जाता है की गर्भावस्था में महिलाओ में कमजोरी आ जाती है। जिसके कारण उनका शरीर उनका साथ नही दे पता है और वह हवन पूजा में नहीं बैठ सकती। ऐसे में यदि आपकी सेहत ठिक है तो आप जरूर बैठ सकती है हवन में। लेकिन यदि आप कमजोरी या थकान महसूस करती है तो फिर हवन का आयोजन ना करवाए। 

दोस्तो प्रेगनेंसी में मंदिर जाना चाहिए या नहीं के बारे में लिखा गया यही आर्टिकल आपको जरूर पसंद आया होगा। इसे आप लाईक और शेयर जरूर करे। इस पोस्ट पर आने के लिए आपका धन्यवाद। 

Also, Read प्रेगनेंसी में पति से कब दूर रहना चाहिए – जानें की दुरी कब हैं आवश्यक

FAQ

Q. क्या गर्भवति महिला उपवास कर सकती है?

Ans: गर्भवति महिला को उपवास नहीं करना चाहिए। क्योंकि इस से आपके बच्चे की सेहत पर असर हो सकता है। 

Q. गर्भवति महिला को पवित्र भोज खाना चाहिए या नहीं?

Ans: बिल्कुल खाना चाहिए। 

Q. क्या प्रेगनेंट औरत पूजा कर सकती है?

Ans: यदि आप अपनी पवित्रता का ख्याल रखती है तो बिल्कुल कर सकती है।

Also, Read करवा चौथ की रात को पति-पत्नी क्या करते हैं | करवा चौथ कब है 2023