नाभि में तेल लगाने के नुकसान और फायदे जानकर हैरत में पड़ जायेंगे

Spread the love

नाभि में तेल लगाने के नुकसान – फायदे के साथ-साथ इसके कुछ नुकसान भी हैं इसलिए जानना हैं बेहद जरुरी – आपने बड़े बुजुर्गों से नाभि में तेल के फायदे के बारें में सुना होगा। नाभि में कई तरह के तेल लगाएं जाते हैं। नाभि में सरसों का तेल, नारियल तेल, तील का तेल, बादाम का तेल ज्यादा लगाया जाता हैं। नाभि में तेल लगाने के कई फायदे हैं वही इसके कुछ नुकसान भी हैं। नाभि में तेल लगाने के नुकसान की जानकारी कोई नहीं देता हैं तो आइए जानते हैं की नाभि में तेल लगाने के नुकसान क्या हैं। साथ ही नाभि में तेल के फायदे के बारें में भी इस पोस्ट के जरिए आप लोगों को समुचित जानकारी मिलेगी।

नाभि में तेल लगाने के नुकसान और फायदे जानकर हैरत में पड़ जायेंगे
नाभि में तेल लगाने के नुकसान और फायदे जानकर हैरत में पड़ जायेंगे

दोस्तों, नाभि शरीर का एक बेहद महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। जैसे ही आप नाभि में तेल लगाते हैं तो इसके पीछे स्थित पेकोटि ग्रंथि उसे तुरंत ही खींचने लगता हैं। नाभि शरीर के सभी अंगों से जुड़े होने के चलते तेल में मौजूद सभी पोषक तत्वों को भिन्न-भिन्न अंगों में पंहुचा कर लाभ पहुँचाने का काम करता हैं। इस पोस्ट में मैंने चार तरह के तेल के बारें में बताया हैं जिसे लगाने से अद्भुत लाभ देखने को मिलता हैं। यह व्यक्ति को मानसिक और शारीरिक दोनों तरह से स्वस्थ रखने में मदद करता हैं। आइए नाभि में तेल लगाने के नुकसान के बारें में विस्तार से जानते हैं।

नाभि में तेल लगाने के फायदे और नुकसान

अक्सर आपने पेरेंट्स को बच्चे के नाभि में तेल लगाते देखते होंगे। युवा लोग भी नाभि में तेल लगाते हैं। नाभि में तेल लगाने के कई फायदे हैं। नाभि में अलग-अलग तरह के तेल के इस्तेमाल से आपको क्या फायदा हो सकता हैं इसकी जानकारी निचे विस्तार से पढ़ें।

बादाम का तेल नाभि में लगाने के फायदे

बादाम का तेल नाभि में लगाने के फायदे
बादाम का तेल नाभि में लगाने के फायदे

इसमें विटामिन इ से और फैटी एसिड होता हैं जो स्किन में निखार लाता हैं । यह तेल कोलेजन उत्पादन को बढ़ाकर त्वचा को फायदा पहुंचाता हैं। जिनके बाल अत्यधिक झड़ते हैं या टूटते हैं उन्हें यह तेल जरुर लगाना चाहिए। इसमें मौजूद विटामिन इ बालों और स्किन को स्वस्थ और मजबूत बनाता हैं। इस तेल को लगाने से होठों का फटना बंद हो जाता हैं। अगर आपकी स्किन बहुत ड्राई हैं या होठ पर सूखापन अधिक रहता हैं तो इसे लगा सकते हैं। रोज सिर्फ 2 से 3 बूंद इस तेल को लगाने से त्वचा में सूखेपन की समस्या नहीं आती हैं। इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण भी हैं जो घावों को फैलने से रोकती हैं।

यह भी पढ़ें पित्त की थैली निकालने के बाद नुकसान

नाभि में लौंग का तेल लगाने के फायदे

रोज रात के समय सोने से पहले सिर्फ 2 बूंद लौंग का तेल नाभि में लगाने से कई तरह की समस्या दूर होती हैं। इसे लगाने से एसिडिटी, पेट में जलन, जोड़ों का दर्द आदि में आराम मिलता हैं। यह तेल सुजन की समस्या को भी दूर करता हैं। बैक्टीरियल संक्रमण को दूर कर स्किन को हेल्दी रखता हैं। अगर आपकी आँखें सूजी-सूजी सी लग रही हैं या उसमें जलन हैं तो रोज रात को नाभि में इस तेल को जरुर लगाएं। इसके अलावे अस्थमा रोगी को सांस लेने में होने वाली दिक्कत से राहत मिल सकती हैं। इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण आपके स्कैल्प को साफ़ रखने में मदद करती हैं और बालों का जुड़ाव काफी मजबूत हो जाता हैं.

Also, Read मुल्तानी मिट्टी के नुकसान और फायदे हैरान कर देगा

नाभि में सरसों का तेल लगाने के फायदे

नाभि में सरसों का तेल हल्का गुनगुना कर लगाने से अनेक फायदे हो सकते हैं। कहा जाता हैं की यह तेल खराब पाचन तंत्र को ठीक कर सकता हैं। इस तेल को रोज लगाने से चेहरे की सुंदरता बढती हैं। जिन लोगों के पैर हाथ और सर में अक्सर दर्द की समस्या रहती हैं वे इस तेल को प्रतिदिन लगा सकते हैं। प्रतिदिन तेल को लगाकर सोने से सुबह ताजगी फील होती हैं। चेहरे पर उपस्थित डलनेस और काल रंग के डार्क सर्कल्स हल्के पड़ने लगते हैं। इसके अलावे शरीर के सुजन, कब्ज, अपच आदि में भी लाभ मिलता हैं।

Also, Read बालों में मेथी लगाने के नुकसान – लगाने का सही तरीका

नाभि में नारियल तेल लगाने के फायदे

नाभि में नारियल तेल लगाने से चयापचय क्रिया तेज होती हैं। पेट में दर्द रहने पर भी इस तेल को लगाया जाता हैं। यह तेल पेट में एंठन और दर्द में लाभ देता हैं। अगर आपको हमेशा कब्ज की शिकायत रहती हैं तो इस तेल को लगा सकते हैं। इससे कब्ज और गैस की समस्या में आराम मिलता हैं। यह तेल ठंडी प्रकृति की होती हैं। गर्मी के दिनों में इस तेल को लगाना बेहद फायदेमंद हैं। यह लम्बे समय तक त्वचा में नमी को बरकरार रखता हैं। इसे रोज लगाते रहने से होठों और एडियों का फटना बंद हो जाता हैं।

Also, Read प्रेगनेंसी के 8 महीने में क्या क्या सावधानी रखनी चाहिए? – छोटी गलती भी कर सकती हैं बड़ा नुकसान

नाभि में तेल लगाने के नुकसान

दोस्तों, नाभि में तेल लगाने फायदे तो आपने जान लिए हैं अब आपको बताते हैं की नाभि में तेल लगाने के नुकसान क्या हो सकते हैं।

1. बच्चे के नाभि में किसी भी प्रकार के तेल लगाने से फंगल इन्फेक्शन हो सकता हैं। अत: नाभि को तेल से दूर ही रखें। ज्यादा तेल डालने से बैक्टीरियल संक्रमण का खतरा भी कई गुणा बढ़ सकता हैं।
2. सरसों के तेल में एरिटिक अम्ल होता हैं जो ह्रदय के लिए अच्छा नहीं माना जाता हैं।
3. सरसों तेल का ज्यादा इस्तेमाल खुजली और त्वचा में कालापन आने की समस्या हो सकती हैं।
4. अस्थमा के पेशेंट को नाभि में इसे लगाने की सलाह नहीं दी जाती हैं। दरसल इसमें यूरिक एसिड होता हैं जो सांस लेने सबंधी परेशानियों को बढ़ाने का काम करता हैं।

Also, Read दांतों में मसाला भरने के नुकसान और फायदे की सम्पूर्ण जानकारी

निष्कर्ष

इस पोस्ट के माध्यम से मैंने आपको बताया हैं की नाभि में तेल लगाने के नुकसान और फायदे क्या-क्या हैं। दरसल फायदे के साथ-साथ इसके कुछ नुकसान भी हैं इसलिए जानना हैं बेहद जरुरी होता हैं। कम उम्र के बच्चों तेल नाभि में डालने की सलाह नहीं दी जाती हैं। इस तेल से स्किन मुलायम रहती हैं। बालों के ग्रोथ और मजबूती के लिए भी नाभि में तेल लगाया जाना फायदेमंद हैं। नाभि में तेल लगाने के नुकसान भी होते हैं। अधिक तेल लगाने से जीवाणु और कवक संक्रमण का खतरा हो सकता हैं।

मुझे उम्मीद हैं की आपको आज की यह जानकारी ” नाभि में तेल लगाने फायदे ” अच्छी लगी होगी। इस जानकारी को सोशल मीडिया पर जरुर से जरुर शेयर करें।

Also, Read पपीते के पत्ते के फायदे और नुकसान – पपीते से हाइड्रोसील का इलाज क्या संभव हैं?

1 thought on “नाभि में तेल लगाने के नुकसान और फायदे जानकर हैरत में पड़ जायेंगे”

Leave a Comment