अरण्डी तेल के नुकसान और फायदे की सम्पूर्ण जानकारी

Spread the love

अरण्डी तेल के नुकसान और फायदे की सम्पूर्ण जानकारी – बालों के लिए अरण्डी का तेल के कई फायदे हैं। अरंडी के पौधे की ऊंचाई 20 से 25 मीटर तक हो सकती हैं। इस पौधे में हरे रंग के फल लगते हैं जिससे बीज निकलते हैं। बीजों से तेल का निर्माण किया जाता हैं। इस पौधे की पत्तियां पपीते के पत्ते जैसे दिखाई देते हैं। यह गर्मी के दिनों में गाँव और शहरों में खुद ही उग आते हैं। इसके बीज से बना तेल बेहद कीमती और फायदेमंद मानी जाती हैं। दरसल इसके बीज से कई तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स जैसे क्रीम और साबुन आदि बनायें जाते हैं। अरंडी से निकले द्रव्य का उपयोग कई दवाओं के निर्माण में भी किया जाता हैं। आज की इस पोस्ट में अरण्डी तेल के नुकसान और फायदे के बारें में विस्तृत जानकारी दी जा रही हैं।

अरण्डी तेल के नुकसान और फायदे की सम्पूर्ण जानकारी
अरण्डी तेल के नुकसान और फायदे की सम्पूर्ण जानकारी

अरंडी का उत्पादन सबसे ज्यादा भारत में ही किया जाता हैं। आपने कई साबुन यूज़ किया होगा जो बिल्कुल पारदर्शी दिखाई देते हैं। इस तरह के अधिकत्तर सोप में अरंडी के बीज का उपयोग किया जाता हैं। अरंडी के बीज में कुछ बेहद खतरनाक रसायन होते हैं जो काफी नुकसानदायक हैं। आइए विस्तार से जानते हैं की अरण्डी तेल के नुकसान और फायदे क्या हैं।

अरण्डी का तेल के फायदे और नुकसान

दोस्तों, अरंडी के बीजों से कई आयुर्वेदिक औषधियां तैयार की जाती हैं। मार्किट में इस बीज से बने कई दवाएं उपलब्ध हैं। खराब पाचन, कब्ज , पेट दर्द और त्वचा संबंधी रोगों में यह काफी लाभप्रद हैं। इसका तेल लम्बे समय तक बालों में नमी बनायें रखता हैं। नीचे विस्तार से अरण्डी तेल के नुकसान और फायदे बताएं गए हैं।

अरण्डी का तेल के फायदे

1. खाद्य पदार्थों को संरक्षित करने में

जी हाँ, अरंडी के तेल का उपयोग हमारे रोजाना के खाद्य पदार्थों को सड़ने से बचाने के लिए किया जाता हैं। दरसल यह फफूंदी को रोककर चावल को लम्बे समय तक बचाएं रखता हैं। इसलिए चावल दाल जैसे जरुरी खाद्य पदार्थों के ऊपर इसे लगाकर रखा जाता हैं। खासकर भारत में इस तेल का उपयोग इस कार्य के लिए किया जाता हैं।

2. पेट से जुड़ी समस्यायों के इलाज में

एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर अरंडी के बीज पेट और त्वचा के सुजन को कम करता हैं। इसका उपयोग बाह्य और आंतरिक दोनों तरीकों से किया जाता हैं। अगर आपको अक्सर पाचन संबंधी समस्या रहती हैं जैसे कब्ज तो इससे बने औषधियों को उपयोग कर सकते हैं। यह पाचन को दुरुस्त करने के लिए जाना जाता हैं। इसमें मौजूद रिसिनोलिक फैटी एसिड आंत में मांसपेशियों को संकुंचित करके भोजन के स्थानान्तरण में मदद करता हैं।

यह भी पढ़ें नीम के 10 फायदे – इसके 10 अद्भुत फायदे जानकर हैरान हो जाएंगे

3. अरण्डी का तेल के फायदे बालों के लिए

अरंडी से निर्मित तेल का उपयोग भारत में खूब किया जाता हैं। गाँव में खासकर इस तेल का प्रचलन हैं। इस तेल को लगते रहने से बाल झड़ने कम हो जाते हैं। यह स्कैल्प को नमी प्रदान कर बालों को ड्राई होने से रोकता हैं। अगर आपके बाल सफ़ेद हो रहे हैं तो इस तेल का उपयोग कर सकते हैं। जो लोग रुसी की समस्या से अक्सर परेशान रहते हैं उन्हें भी इस तेल का उपयोग करने की सलाह दी जाती हैं। स्कैल्प या बालों की जड़ों में संक्रमण होने पर भी एंटी-फंगल और एंटी बैक्टीरियल गुणों से युक्त अरंडी के बीज काफी फायदेमंद हैं। रोजाना रात के समय इस तेल से हल्का मसाज देने से बाल मजबूत और शाइनी होता हैं।

यह भी पढ़ें सांडे के तेल के फायदे (Sanda oil ke fayde in hindi)

4. त्वचा के लिए

यह प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र हैं जिसका उपयोग कई सौन्दर्य क्रीम बनाने में किया जाता हैं। इस तेल में एंटीएजिंग गुण होता हैं। समय से पहले त्वचा के लटकने की समस्या को दूर करता हैं। इसमें एंटीफंगल गुण भी होता हैं जो त्वचा को संक्रमण से बचाता हैं। गर्मी के मौसम इस तेल को लगाने से त्वचा के सूखेपन की समस्या दूर होती हैं। अगर आपकी त्वचा पर डार्क सर्कल्स या धब्बे हैं तो इस तेल को जरुर लगाएं। इस तेल में फैटी एसिड हैं जो त्वचा को कोमलता प्रदान करता हैं। एंटीऑक्सिडेंट गुणों के चलते फ्री रेडीकल्स से त्वचा को सुरक्षित रखती हैं।

यह भी पढ़ें अणु तेल के फायदे (Anu Tel ke Fayde)

5. दर्द के इलाज में

जैसा की मैंने आपको बताया हैं की इस तेल में रिसिनोलिक एसिड हैं जो दर्द की समस्या में बेहद फायदेमंद हैं। इससे कई ऐसे आयुर्वेदिक उत्पाद बनायें जाते हैं जिसका उपयोग पेट दर्द के उपचार में किया जाता हैं। इसके अलावे इसके तेल से जॉइंट पेन की समस्या से भी राहत मिलती हैं। तेल से जॉइंट्स पर हल्की मसाज देने से दर्द और सुजन कम होता हैं। यह स्किन के अंदर तक पहुंचकर जोइंट्स को नमी प्रदान करता हैं।

यह भी पढ़ें सरसों के तेल में लहसुन मिलाकर लगाने के फायदे

अरण्डी तेल के नुकसान

अरंडी के फायदे जानकर आप सोच रहे होंगे की भला इसका नुकसान क्या हो सकता हैं ?। दोस्तों, किसी भी चीज का आवश्यकता से अधिक सेवन या उपयोग नुकसानदायक होता हैं। इसके बीज में मौजूद राइसिन एंजायम होता हैं जो विषाक्त होता हैं। हालांकि तेल बनाने के क्रम में यह रसायन नष्ट हो जाता हैं। कई बार कुछ लोगों को इस तेल के कारण एलर्जी भी होती हैं। अगर त्वचा पर तेल लगाने से किसी प्रकार की एलर्जी दिखाई दे रही हैं तो इसका उपयोग नहीं करना चाहिए। अरंडी के तेल के निम्नलिखित प्रमुख नुकसान हो सकते हैं।

यह तेल बहुत गाढ़ा होता हैं जिसके कारण बालों की उचित साफ़-सफाई के अभाव में सर पर मोटी परत जम सकती हैं। ऐसे में नए बाल नहीं उग पाते हैं। यह जड़ों तक रक्त के प्रवाह को बाधित कर बाल झड़ने की समस्या को बढ़ा सकता हैं। दरसल इसकी परत हेयर पोर्स को ब्लाक कर देता हैं। अत: अगर आप अरंडी के तेल का इस्तेमाल कर रहे हैं तो बालों की साफ़-सफाई पर ध्यान जरुर दें।

अरंडी का तेल अधिक मात्रा में सेवन करने से उल्टी और दस्त की शिकायत हो सकती हैं। यह शरीर के पानी को सोखकर स्थिति को गंभीर कर सकता हैं। गर्भावस्था में अरंडी का उपयोग या सेवन खतरनाक हो सकता हैं। इसके सेवन से समय से पहले बच्चा होने के लक्षण दिखाई देने लगते हैं।

अरण्डी तेल के अन्य नुकसान

अगर आप रोजाना इस तेल को हाथों , फेस और पैर में लगाते हैं तो सावधान हो जाइए। कुछ लोग बहुत ज्यादा मात्रा में स्किन पर इस तेल को लगा लेते हैं। ऐसे मोटे तेल की वजह से त्वचा रन्ध्र बंद हो जाता हैं। ऐसे में आपका चेहरे फुंसी से भर सकता हैं इसलिए हाथ-पैरो की त्वचा को साफ़ रखे। इस तेल के इस्तेमाल से मांपेशियों में ऐंठन, एसिडिटी, पेट में दर्द, जी मिचलाना जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं।

निष्कर्ष – अरण्डी तेल के नुकसान

अरंडी का तेल मार्किट में आसानी से मिल जाता हैं। इसके तेल का आवश्यकता से अधिक सेवन और उपयोग नुकसानदायक हैं। सिमित मात्रा में इसका उपयोग करने से फायदे ही फायदे होते हैं। लेकिन ध्यान रहे की की अगर आप बालों में इस तेल को रात्री के समय लगा रहे हैं तो सुबह उठते ही किसी हर्बल शैम्पू से बालों को अच्छी तरह धो लेना चाहिए। अगर आप स्किन और बालों को नहीं धोएंगे तो एक समय पश्चात स्किन और बालों की जड़ों में गंदगी जमा हो जाएगी। ऐसे में इन्फेक्शन का खतरा बढ़ सकता हैं। अरण्डी तेल के नुकसान की यह जानकारी उन तक जरुर शेयर करें जो इसका इस्तेमाल आवश्यकता से अधिक करते हैं।

मुझे आशा हैं की आपको आज की यह पोस्ट ” अरण्डी तेल के नुकसान और फायदे की सम्पूर्ण जानकारी ” बेहद अच्छी और उपयोगी लगी होगी। इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर जरुर से जरुर करें।

यह भी पढ़ें

1 thought on “अरण्डी तेल के नुकसान और फायदे की सम्पूर्ण जानकारी”

Leave a Comment