बाल किस दिन धोना चाहिए और किस दिन नहीं – दाढ़ी-बाल बनाने का सही समय

Spread the love

बाल किस दिन धोना चाहिए और किस दिन नहीं – दाढ़ी-बाल बनाने का सही समय – शास्त्रों में हर काम के एक निश्चित समय के बारें में बताया गया हैं। आपने आस-पास के कई लोगों से सुना होगा की पीरियड आने पर में कोई शुभ या अच्छा काम नहीं करना चाहिए। हिन्दू धर्म में प्रत्येक कार्य का एक सही समय बताया गया हैं। वास्तु शास्त्र कहता हैं की सही समय पर कार्यों को सम्पादित करना व्यक्ति के जीवन में शुभता को आकर्षित करता हैं। शास्त्रों द्वारा बताएं गये नियमों का पालन करते हुए दैनिक कार्यों को पूरा करना चाहिए। पुरुष हो स्त्रियां हर किसी को दाढ़ी-बाल किस दिन कटवाने चाहिए इसकी जानकारी जरुरी हैं। नीचे विस्तार से बताया गया हैं की बाल किस दिन धोना चाहिए और किस दिन नहीं ?

बाल किस दिन धोना चाहिए और किस दिन नहीं
बाल किस दिन धोना चाहिए और किस दिन नहीं

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, नाख़ून, दाढ़ी, सर के बाल आदि हर दिन नहीं काटना चाहिए। शास्त्र कुछ खास दिन ही नाख़ून, दाढ़ी, सर के बाल बनाने या काटने की सलाह देते हैं। अक्सर महिलाएं इस तरह के सवाल करती हैं। हालांकि बाल धोने के नियमों का पालन सभी को करना चाहिए। जो लोग शास्त्रों के अनुसार चलते हैं उनके जीवन में सकारात्मकता आती हैं और धन की वृद्धि होती हैं। आइये जानते हैं की बाल किस दिन धोना चाहिए और किस दिन नहीं और दाढ़ी-बाल बनाने का सही समय क्या हैं।

बाल किस दिन धोना चाहिए और किस दिन नहीं

सप्ताह में सात दिन होते हैं। हिन्दू धर्म में सातों दिन का विशेष महत्त्व हैं। पुरुष, महिला, बूढ़े, बच्चे हर किसी को शास्त्रों के अनुसार ही बालों को धोना चाहिए। वृहस्पतिवार के दिन बालों का धोना अशुभ हैं। इस दिन बाल धोना हर किसी के लिए अशुभ हैं। सनातन धर्म में लक्ष्मी कही जाने वाली महिलाओं को खासकर इस नियमों का पालन करने के लिए कहा जाता हैं। दरसल मान्यता हैं की शस्त्रों द्वारा बताएं गए नियमों का पालन करने से परिवार में सुख समृद्धि आती हैं।

अविवाहित स्त्रियां बुधवार, मंगलवार और गुरुवार को छोड़कर किसी भी दिन बाल धो सकती हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इन दिनों बाल धोने से शादी-विवाह में परेशानी आती हैं। इसके अलावे मान-सम्मान में कमी आती हैं। परन्तु शादी शुदा महिलाएं बुधवार के दिन बाल धो सकती हैं। शादी-शुदा महिलाओं को शनिवार, सोमवार और गुरुवार के दिन बाल धोने से बचना चाहिए। अगर घर की आर्थिक स्थिति डामाडोल हैं तो शुक्रवार के दिन बाल धोना सबसे शुभ माना जाता हैं।

ध्यान रहे की गुरुवार के दिन बाल धोने से धन, मान-सम्मान की हानि होती हैं। इसके अलावे कुछ विशेष दिनों जैसे अमावस्या, दुर्गा पूजा की कलश स्थापना से सप्तमी और व्रत के दिन और पूर्णिमा को बाल धोना पूर्णत: वर्जित हैं। शुक्रवार ऐसा दिन हैं जो माता लक्ष्मी से जुड़ा हैं। इस दिन सभी लोग बाल कटवा सकते हैं।

यह भी पढ़ें एक ही रात में बाल झड़ने होंगे गारंटी से बंद – 5 घरेलू उपाय

दाढ़ी-बाल किस दिन कटवाने चाहिए

दाढ़ी-बाल किस दिन कटवाने चाहिए
दाढ़ी-बाल किस दिन कटवाने चाहिए

पुरुषों को भी दाढ़ी-बाल कटवाने से पहले यह ध्यान में रखना चाहिए की गुरुवार का दिन इस क्रिया को करने से व्यापार और जॉब पर बुरा असर पड़ सकता हैं। कुल मिलाकर कहे तो आर्थिक हानि की संभावना रहती हैं। अत: इस दिन दाढ़ी-बाल नहीं कटवाने चाहिए। महाभारत के अनुशासन पर्व के अनुसार रविवार का दिन दाढ़ी-बाल कटाने के लिए बेहद अशुभ हैं। इस दिन अगर कोई पुरुष ऐसा करता हैं तो उसे आर्थिक हानि के साथ-साथ बौद्धिक हानि भी हो सकती हैं। व्यक्ति की सोच और कार्य क्षमता प्रभावित होती हैं।

पुरुषों को बाल और दाढ़ी शुक्रवार और बुधवार के दिन ही कटवाने चाहिए। विवाहित पुरुषों को सोमवार के दिन बाल नहीं कटवाना चाहिए। शास्त्र के अनुसार, इस दिन इन कार्यों को करने से पुत्र या पुत्री की सेहत पर बुरा असर पड़ सकता हैं । शनिवार और मंगलवार के दिन बाल कटवाने से अकाल मृत्यु होने का डर रहता हैं।

यह भी पढ़ें बिना केमिकल वाला शैंपू कौन सा है – बालों के लिए 5 सबसे अच्छा शैम्पू

पीरियड में बाल किस दिन धोना चाहिए

पीरियड आने पर पूजा-पाठ और कोई भी शुभ कार्य करने को मनाही रहती हैं। इस दौरान महिलाओं का शरीर अशुद्ध माना जाता हैं। महिलाएं अक्सर यह सवाल करती हैं की पीरियड में बाल किस दिन धोना चाहिए। दोस्तों आपको बता दें की पीरियड मुख्यत: ३ से ५ दिनों तक चलता हैं। इस दौरान बाल धोना नहीं चाहिए। ज्योतिष शास्त्र कहता हैं की पीरियड खत्म होने के तुरंत बाद आप बाल धो सकती हैं। बाल धोने के लिए शैम्पू का भी उपयोग कर सकती हैं। माना जाता हैं की बाल धोने वाले पानी में सेंधा नमक मिला देने से महिला पर दुष्प्रभाव नहीं पड़ता हैं।

शास्त्रों के अनुसार, पीरियड में शरीर अशुद्ध होता हैं। ऐसे में पीरियड समाप्त होते ही अगले दिन बाल धोया जा सकता हैं। अत: आप दिन के चक्कर में न पड़े।

यह भी पढ़ें

निष्कर्ष –

इस पोस्ट में मैंने आपको बताया हैं की बाल किस दिन धोना चाहिए और किस दिन नहीं और दाढ़ी-बाल बनाने का सही समय क्या हैं। शास्त्रों के अनुसार, नियमों का पालन करते हुए जीवन व्यतीत करने से सांसारिक जीवन सुखमय व्यतीत होता हैं। धन, आय, पद-प्रतिष्ठा, बुद्धि आदि में वृद्धि होती हैं। लक्ष्मी जी कृपा प्राप्त करने के लिए शुक्रवार का दिन सबसे अच्छा माना जाता हैं। इस दिन सौन्दर्य से जुड़े कार्यों को करने से व्यक्ति की सुंदरता और धन बढ़ता हैं।

मुझे आशा हैं की आपको आज की यह पोस्ट ” बाल किस दिन धोना चाहिए और किस दिन नहीं – दाढ़ी-बाल बनाने का सही समय ” बेहद अच्छी और उपयोगी लगी होगी। इस पोस्ट को अपने महिला दोस्तों के साथ जरुर से जरुर शेयर करें।

यह भी पढ़ें टेटमोसोल साबुन के फायदे – टेटमोसोल साबुन की सम्पूर्ण जानकारी

1 thought on “बाल किस दिन धोना चाहिए और किस दिन नहीं – दाढ़ी-बाल बनाने का सही समय”

Leave a Comment