पपीते के पत्ते के फायदे और नुकसान – पपीते से हाइड्रोसील का इलाज क्या संभव हैं?

Spread the love

पपीते के पत्ते के फायदे और नुकसान और सम्पूर्ण जानकारी – पपीता के जड़, पत्ते और फल सभी बेहद फायदेमंद हैं। इसके पत्ते औषधीय गुणों वाले होते हैं। पत्तों से कई तरह की बीमारियों का इलाज किया जाता हैं। बाजार में इसके पत्ते से निर्मित जूस की डिमांड बेहद ज्यादा हैं। ऐसे में अक्सर लोग इसके फायदे और नुकसान के बारें में पूछते हैं। आज की इस खास पोस्ट में मैं आपको पपीते के पत्ते के फायदे और नुकसान की सम्पूर्ण जानकारी दूंगी। साथ ही आपको बताउंगी की पपीते से हाइड्रोसील का इलाज कैसे संभव हैं। पपीता के जूस का सेवन करने से इम्युनिटी बूस्ट होती हैं। शरीर कई तरह के रोगों से स्वयं बचाव करने में सक्षम हो जाता हैं।

इस जूस को खरीदने की भी आवश्यकता नहीं हैं। जी हाँ इसके पत्ते का जूस आप घर पर स्वयं ही तैयार कर सकते हैं। नीचे मैंने आपको बताया हैं की पपीते के पत्ते का जूस कैसे बनाएं और इसे पीने का तरीका क्या हैं। इसके जूस का इस्तेमाल हाइड्रोसील, खून की कमी, पथरी, डेंगू बुखार, लिवर से जुडी समस्या और ख़राब पाचन तन्त्र जैसी अनेक समस्यायों के निदान में किया जाता हैं। इसका जूस त्वचा संबंधी अनेक समस्यायों को दूर करने में सक्षम हैं। तो आइए जानते हैं की पपीते के पत्ते के फायदे और नुकसान और पपीते से हाइड्रोसील का इलाज कैसे किया जाता हैं।

पपीते के पत्ते के फायदे और नुकसान

पपीते के पत्ते के फायदे और नुकसान
पपीते के पत्ते के फायदे और नुकसान

दोस्तों, पपीता का पत्ता औषधीय गुणों से भरपूर होता हैं। इसके पत्ते से बना हुआ जूस शरीर को स्वस्थ रखता हैं। जूस के सेवन से कई तरह की बीमारियों से बचा जा सकता हैं। पपीते के पत्ते के फायदे और नुकसान कुछ इस प्रकार हैं।

पपीते के पत्ते के फायदे

1. प्लेटलेट काउंट को बढ़ाने में

हर साल सैकड़ो लोगों की मौत डेंगू के चलते होती हैं। इलाज के अभाव में व्यक्ति की मृत्यु भी हो सकती हैं। इस समस्या में प्लेटलेट काउंट कम होने लगते हैं। इस समस्या से ग्रसित व्यक्ति को भयंकर बुखार हो जाता हैं। ज्यादा बुखार के कारण शरीर कांपने लगता हैं और शरीर में अकडन होने लगती हैं । प्लेटलेट काउंट को बढ़ाने के लिए पपीते के पत्ते का जूस का सेवन किया जाता हैं।

Also, Read प्लेटलेट्स बढ़ाने वाले फल – सिर्फ कुछ घंटे में बढ़ जायेंगे प्लेटलेट्स

2. खून की कमी की समस्या में

जी हाँ, पपीते की पत्तियों का रस खून की कमी को दूर करता हैं। यह ब्‍लड प्‍लेटलेट्स को बढाता हैं। जिन लोगों के शरीर में खून की कमी हैं उन्हें रोज 20 ml दवा की तरह इसका सेवन करने की सलाह दी जाती हैं। आप घर पर ही पपीते के साफ़ पत्तियों से इसका जूस बना सकते हैं। इसके सेवन से शरीर की थकान और कमजोरी भी दूर होती हैं।

Also, Read नाक से खून आना किस बीमारी का लक्षण है

3. पपीते से हाइड्रोसील का इलाज

पपीते का सेवन से हाइड्रोसील के कारण उत्पन्न होने वाली लक्षणों से आराम मिल सकता हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स गुण होते हैं। हाइड्रोसील की समस्या की वजह से होने वाले दर्द और सुजन से आराम मिल सकता हैं। हालांकि अब तक इसपर ज्यादा शोध नहीं किया गया हैं। सेवन से पहले चिकित्सक की सलाह बहुत आवश्यक हैं।

Also, Read Papita Khane Ke Fayde | पपीता खाने के फायदे

4. त्वचा की समस्यायों में

पपीते की पत्तियों में कई तरह के पोषक तत्व होते हैं जो स्किन साफ़ करता हैं। यह खून की कमी को दूर करता हैं जिससे त्वचा पर निखार आता हैं। इसमें विटामिन सी और विटामिन इ पाया जाता हैं। असमय बुढ़ापे के लक्षणों जैसे स्किन पर आ रही झुर्रियों और कालेपन की समस्या को दूर कर ग्लो को बढ़ाता हैं।

Also, Read व्हाइट टोन क्रीम कब लगाना चाहिए – व्हाइट टोन क्रीम लगाने से चेहरे पर क्या होता है

5. पाचन तन्त्र को करता हैं दुरूस्त

इसकी पत्तियों का जूस पाचन क्रिया को बढ़ावा देता हैं। इसमें अमीनो एसिड होता हैं जो कब्ज होने से रोकने में मदद करता हैं। दरसल आपके द्वारा ग्रहण किया गया भोजन जल्दी पच जाता हैं। इसके सेवन से गैस और अपच में लाभ मिलता हैं। अगर आप घंटों लैट्रिन में बैठे रहते हैं तो चिकित्सक से सलाह लेकर इसका सेवन कर सकते हैं।

पपीते की पत्तियों के कई अन्य फायदे भी हैं। अगर आपके बालों में अधिक डैंड्रफ है तो इसकी पत्तियों के रस को बालों में लगा सकते हैं। इसके रस को लगाने से डैंड्रफ की समस्या दूर होती हैं। इसमें मौजूद विटामिन बालों को स्वस्थ रखने में मदद करती हैं। विटामिन सी और इ बालों को मजबूती बनायें रखती हैं।

Also, Read ओआरएस पाउडर के फायदे और नुकसान – जाने ओआरएस पाउडर बनाने की विधि

पपीते के पत्ते के नुकसान

गर्म प्रकृति की होने की वजह से गर्मी के मौसम में अधिक नहीं पीना चाहिए। अत्यधिक सेवन से गर्भपात और बांझपन जैसी समस्या हो सकती हैं। जिन लोगों को इससे एलर्जी हैं उन्हें इसका सेवन नहीं करना चाहिए। बच्चों को गलती से भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

पपीते के पत्ते का जूस कितनी मात्रा में पीना चाहिए

आवश्यकता से अधिक इसके रस के सेवन से नुकसान भी हो सकता हैं। अत: इसका सेवन उचित मात्रा में ही करें। दिन में एक बार इसके जूस या रस का सेवन करना पर्याप्त हैं। इसका सेवन एक दिन में 10 से 20ml तक करना सेफ माना जाता हैं। चिकित्सक 30 से 90 दिनों तक इसका सेवन करने की सलाह दे सकते हैं। खून की कमी दूर करने के लिए 90 दिन तक पीने की आवश्यकता हो सकती हैं।

Also, Read Parsley in Hindi – पार्सले के असीमित फायदे हैरान कर देगी

पपीते के पत्ते का जूस खाली पेट पीना चाहिए?

जी हाँ, आप पपीते के पत्ते का जूस खाली पेट पी सकते हैं। परन्तु ध्यान रहें की इसके रस के सेवन के बाद कम से कम 1 घंटे तक किसी अन्य चीज का सेवन न करें। इसका सेवन भोजन के 1 घंटे पश्चात भी किया जाता हैं। अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से सलाह जरुर लें।

पपीते की जड़ से पथरी का इलाज

आयुर्वेद में पपीते की जड़ का इस्तेमाल बहुत से रोगों के निदान हेतु किया जाता हैं। पथरी की समस्या में भी यह बेहद फायदेमंद माना जाता हैं। इसके जड़ से घरेलू नुस्खा तैयार करने के लिए जड़ को अच्छी तरह पानी में धो लें। उसके बाद 10 ग्राम जड़ को कुचकर सस्पेन में डाल दें। उसमें एक गिलास पानी डालें और अच्छी तरह उबालें। जब पानी आधा बच जाएं तो इसे निकालकर बोतल में बंद कर दें। रोजाना इसके सेवन से पथरी गलने लगती हैं।

पपीते के पत्ते की तासीर कैसी होती है

पपीते की पत्तियों की तासीर बेहद गर्म होती हैं। अत: गर्मी के मौसम में इसका सेवन ज्यादा करने से नुकसान भी हो सकता हैं। इसका सेवन चिकित्सक द्वारा बताएं गए मात्रा अनुसार ही करना सही हैं।

Also, Read शिलाजीत के फायदे हिंदी में – शिलाजीत के 5 अद्भुत फायदे

पपीते के पत्ते का जूस कैसे बनाएं

पपीते के पत्ते का जूस कैसे बनाएं
जाने – पपीते के पत्ते का जूस कैसे बनाएं

पपीते के पत्ते का जूस बहुत ही आसान हैं। सबसे पहले आपको 10 साफ़ और ताजे पत्ते को तोड़ लेना हैं। उसके बाद सस्पेन में 2 गिलास पानी डालकर पत्तों को छोटे-छोटे भाग में तोड़कर मिला दें। अब सस्पेन को चूल्हें पर रखकर 10 मिनट तक उबालें। अच्छी तरह उबालने के बाद जब पानी एक गिलास के लगभग बच जाएं तो इसे गैस से उतार लें। अब इस पानी को किसी साफ़ बोतल में रखकर बंद कर दें। प्रतिदिन इसका सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढती हैं और अन्य कई लाभ देखने को मिलते हैं। जिन लोगों को कब्ज की समस्या लम्बे समय से हैं वे इसका सेवन कर सकते हैं। इसके सेवन से कब्ज से छुटकारा मिलता हैं।

Also, Read दूध में घी मिलाकर पीने के नुकसान और फायदे – दूध में अन्य चीजें मिलाकर पीने से क्या होता है

पपीते के पत्ते का जूस कब पीना चाहिए

पपीते के पत्ते का जूस खाने के बाद या खाने के पहले पिया जा सकता हैं। खाने और इस जूस को पीने का अन्तराल कम से कम 1 घंटे का रखें। इसका सेवन खून की कमी, इम्युनिटी की कमजोर होने और पाचन ठीक न होने पर किया जाता हैं।

Also, Read कच्चे चावल खाने का मन क्यों करता है – कच्चे चावल खाने के फायदे और नुकसान

पपीते का दूध आँख में जाने क्या होता है

इसका दूध अगर गलती आँख में चला जाता हैं तो आँख को नार्मल पानी से जल्दी से धोएं। इसके दूध से आँखे लाल हो जाती हैं। आँखों में दर्द हो सकती हैं।

Also, Read दिल मिली जड़ी बूटी – दिल मिली का पौधा और इसके असीमित फायदे

पपीते के पत्ते का रस कितना पीना चाहिए

पपीते के पत्ते का रस दिन भर में 20 ml पीना पर्याप्त हैं। इसके अलावे चिकित्सक द्वारा सुझाएं गए तरीके से इसका सेवन करना चाहिए।

Also, Read दांतों में मसाला भरने के नुकसान और फायदे की सम्पूर्ण जानकारी

पपीते के पत्ते का जूस कितने दिन पीना चाहिए

पपीते के पत्ते का जूस प्लेटलेट्स काउंट को बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान देता हैं। इसके पत्ते को पीसकर रोजाना सेवन करने से एनीमिया जैसी समस्या से छुटकारा मिलता हैं। इसका सेवन लगातार 1 महीने तक करने से फायदा दिखना शुरू हो जाता हैं। जिन लोगों के शरीर में खून की कमी हैं उन्हें इस जूस का सेवन जरुर करना चाहिए।

Also, Read चांदी धारण करने की विधि – चांदी का कड़ा पहनने के फायदे

निष्कर्ष

दोस्तों, इस पोस्ट में मैंने आपको बताया हैं की पपीते के पत्ते के फायदे और नुकसान क्या हैं। बाजार में इसके पत्तियों से निर्मित कई दवाइयां उपलब्ध हैं। इसके सेवन से पहले चिकित्सीय सलाह आवश्यक हैं। गंभीर परिस्थिति में डॉक्टर से सलाह ले खुद डॉक्टर बनने की कोशिश न करें। घरेलु उपाय सामान्य स्थितियों में लाभप्रद हैं। अगर स्थिति ज्यादा दयनीय हैं तो बीना देरी किये डॉक्टर से मिलें। दरसल पपीते के पत्ते का रस के फायदे और नुकसान दोनों ही होते हैं।

मुझे आशा हैं की आपको आज की यह जानकारी ” पपीते के पत्ते के फायदे और नुकसान ” अच्छी लगी होगी। इस जानकारी को सोशल मीडिया पर जरुर से जरुर शेयर करें।

Also, Read माजून अरद खुरमा कितने दिन तक खाना चाहिए – माजून अरद खुरमा के फायदे

2 thoughts on “पपीते के पत्ते के फायदे और नुकसान – पपीते से हाइड्रोसील का इलाज क्या संभव हैं?”

Leave a Comment