अंडकोष खराब होने के लक्षण – अंडकोष और पेट के निचले हिस्से में दर्द किन कारणों से होता हैं

Spread the love

अंडकोष खराब होने के लक्षण – अंडकोष और पेट के निचले हिस्से में दर्द किन कारणों से होता हैं – अंडकोष पुरुष शरीर का एक बेहद जरुरी अंग हैं। अंडकोष में जब किसी प्रकार की समस्या आती हैं तो लोग चिंतित हो जाते हैं। यह बेहद संवेदनशील होता हैं। क्रिकेट खेलते वक्त या किसी वजह से चोट लगने पर अत्यंत पीड़ा का अनुभव होता हैं। जब इस अंग में दर्द की समस्या होती हैं तो व्यक्ति असहज महसूस करता हैं। आज की इस खास पोस्ट में मैं आपको अंडकोष खराब होने के लक्षण के साथ-साथ इससे जुडी समस्त जानकारियां देने जा रही हूँ। अक्सर लोग यह भी प्रश्न करते हैं की अंडकोष छोटा बड़ा होने का क्या कारण है तो निश्चिंत रहें इस पोस्ट में आपके समस्त सवालों के जवाब विस्तारपूर्वक दिए गए हैं।

अंडकोष खराब होने के लक्षण - अंडकोष और पेट के निचले हिस्से में दर्द किन कारणों से होता हैं
अंडकोष खराब होने के लक्षण – अंडकोष और पेट के निचले हिस्से में दर्द किन कारणों से होता हैं

अंडकोष और पेट के निचले हिस्से में दर्द का होना कई कारणों से हो सकता हैं। अंडकोष में किसी प्रकार का इन्फेक्शन, अंडकोष में पानी भरना, चोट, हार्निया, गाँठ, सुजन, हाइड्रोसील आदि अंडकोष को खराब कर सकता हैं। अत: उचित समय पर इसका इलाज आवश्यक हैं। अंडकोष में सुजन या नलियों के बंद होने से शुक्राणु नहीं बन पाता हैं जिससे पुरुष के लिए पिता बन पाना मुश्किल हो सकता हैं। इस पोस्ट में मैं आपको अंडकोष खराब होने के सभी लक्षण और अंडकोष में दर्द के लिए घरेलू उपचार भी बताउंगी।

अंडकोष और पेट के निचले हिस्से में दर्द क्यों होता हैं

अंडकोष में दर्द की बड़ी वजह चोट, संक्रमण, नसों में रक्त प्रवाह में बाधा, सुजन और गाँठ जैसी समस्याएं हैं। गाँठ अक्सर नसों में सुजन की वजह से होती हैं। कुछ मामलों में गाँठ कैंसर की वजह भी बन सकती हैं। अगर अंडकोष में गाँठ जैसा प्रतीत हो रहा हैं तो जल्द से जल्द डॉक्टर से मिलना चाहिए। गाँठ की वजह से अंडकोष और पेट के निचले हिस्से में दर्द की समस्या रहती हैं। अंडकोष में समस्या के चलते पीठ और पेट में दर्द का होना बेहद आम लक्षण हैं।

Also, Read Body Health Tips in Hindi: 10 आदतें जो आपको रखेगा डॉक्टर से कोसों दूर

अंडकोष में इन्फेक्शन के लक्षण – अंडकोष खराब होने के लक्षण

अंडकोष में इन्फेक्शन के लक्षण - अंडकोष खराब होने के लक्षण
अंडकोष में इन्फेक्शन के लक्षण – अंडकोष खराब होने के लक्षण

दोस्तों, अंडकोष में इन्फेक्शन होने पर व्यक्ति को कई तरह के लक्षण दिखाई दे सकते हैं। इस स्थिति में अंडकोष और पेट के निचले हिस्से में दर्द हो सकता हैं। इसके अलावे कुछ अन्य अंडकोष खराब होने के लक्षण निम्नलिखित हैं:-

  • खड़े होने पर पीठ में दर्द का अनुभव होना
  • अंडकोष में गांठ जैसा लगना
  • हल्का बुखार के साथ अधिक ठण्ड लगना
  • पेशाब करने में दर्द का अनुभव होना
  • सीने में दर्द और भ्रम जैसी स्थिति का होना
  • फर्टिलिटी का कम हो जाना
  • अंडकोष और पेट के निचले हिस्से में दर्द का होना
  • टेस्टिकल कैंसर होने पर गांठ के साथ सुजन देखने को मिलती हैं

Also, Read ब्रेस्ट कैंसर कितने दिन में फैलता है – इसके कारण, लक्षण और उपाय

अंडकोष छोटा बड़ा होने का क्या कारण है

कम उम्र के युवाओं में अक्सर यह प्रश्न उठता हैं की आख़िरकार एक अंडकोष दुसरे की तुलना में छोटा बड़ा क्यों हैं। दोस्तों अंडकोष का दुसरे अंडकोष से बड़ा या छोटा होना कोई समस्या नहीं हैं। अत: आप निश्चिंत रहें। अगर अंडकोष में दर्द नहीं हैं और अंडकोष का एक तरफ दुसरे की तुलना में थोड़ा ज्यादा बढ़ना हो गया हैं तो इसका कारण आपके द्वारा पहने जाने वाले कपड़े या टाइट अंडरवियर की वजह से भी हो सकती हैं। इसके अलावे यह जन्म से भी हो सकता हैं।

दोनों के साइज़ में हल्का अंतर होना चिंता का कारण नहीं हैं। कुछ मामलों में वारिकोसेल जैसी समस्या के कारण भी एक अंडकोष दुसरे से ज्यादा बड़ी हो जाती हैं। दरसल इस समस्या में नसों में सुजन हो जाती हैं। जिससे यह प्रतीत होता हैं की एक अंडकोष दुसरे से बड़ा हैं। परन्तु अगर दर्द की समस्या नहीं हैं तो यह चिंता का विषय नहीं हैं।

Also, Read लैट्रिन जाने के बाद पेट में दर्द क्यों होता है – एक्सपर्ट्स क्या कहते हैं जाने

अंडकोष में दर्द के लिए घरेलू उपचार – अंडकोष में सूजन की आयुर्वेदिक दवा

अंडकोष में दर्द से राहत पाने के लिए आप कुछ घरेलू उपायों को कर सकते हैं। परन्तु ध्यान रहे की यह उपाय सिर्फ दर्द से राहत देती हैं। इसलिए जितनी जल्दी हो सके आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए। अंडकोष में गांठ या किसी अन्य बड़ी समस्या के होने पर सर्जरी की आवश्यकता हो सकती हैं।

बर्फ और गर्म पानी

अंडकोष में अधिक दर्द होने पर बर्फ से प्रभावित जगह को को सेंकने से दर्द में आराम मिलता हैं। बर्फ से सिकाई करने के लिए आप बर्फ को सूती कपड़े में बांध सकते हैं। इसके अलावे गर्म पानी से अंडकोष को धोना भी दर्द से राहत देता हैं। आप नहाने के पानी को हल्का गर्म करें और उस पानी से स्नान करें।

रेहान के बीज

इस बीज का इस्तेमाल दर्द और सुजन की समस्या से राहत देती हैं। रेहान के बीज को मिक्सी में पीसकर अंडकोष पर अप्लाई करके 30 मिनट तक छोड़ दें। उसके बाद लेट को हटाकर गर्म पानी से अंडकोष को साफ़ करें। ऐसा आप रोज करें। ऐसा करने से दर्द और सुजन में राहत मिलती हैं।

छोटी हरड़

छोटी हरड़ को सरसों तेल में मिलाकर अच्छी तरह पीसकर अंडकोष पर लगाने से इन्फेक्शन से राहत मिल सकती हैं। इसका उपयोग दर्द की समस्या में भी लाभकारी हैं। दिन में 2 बार इसका उपयोग जरुर करें।

बकायन का पत्ता

बकायन का पत्ता पुरुष अंडकोष के सुजन को कम करता हैं। इसका इस्तेमाल सुजन को तेजी से कम करता हैं। इसके 30 पत्तों को तोड़कर पानी के साथ मिक्सी में पीस लें। पीसने के बाद इसे गैस पर चढ़ाकर पकने दें। जब यह पाक जाएँ तो गर्म अवस्था में ही सूती कपड़े में बांधकर अंडकोष पर रखे। इससे सुजन खत्म हो जाएगी।

डॉक्टर से कब मिलें

अगर आपके अंडकोष में कई दिनों से दर्द हैं और पेशाब आदि करने में दिक्कत होती हैं तो डॉक्टर से जल्दी मिलें। अंडकोष में गाँठ पर इसका जल्दी से जल्दी निदान किया जाना चाहिए। डॉक्टर अल्ट्रासाउंड के जरिए गांठ का पता करते हैं। सर्जरी ही इसका सबसे बेस्ट उपचार हैं।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद हैं की आपको आज की यह पोस्ट अंडकोष खराब होने के लक्षण – अंडकोष और पेट के निचले हिस्से में दर्द किन कारणों से होता हैं , बेहद अच्छी लगी होगी। अंडकोष में समस्या होने पर डॉक्टर से दिखाना बेहद जरूरी हैं। इस समस्या के चलते कई पुरुष बाप नहीं बन पाते हैं। अंडकोष में अधिक पानी जमना भी बेहद खराब हैं। यह समस्या हाइड्रोसील का कारण बन सकती हैं।

मुझे आशा हैं की आपको आज की यह पोस्ट अंडकोष खराब होने के लक्षण – अंडकोष और पेट के निचले हिस्से में दर्द किन कारणों से होता हैं , बहुत पसंद आई होगी। इस पोस्ट को जरूरतमंद लोगों तक जरुर से जरुर सहारें करें।

Also, Read कलेजे में दर्द होना (kaleje me dard hona) – कलेजे में दर्द के कारण और घरेलू उपाय

Leave a Comment