रुक रुक के ब्लीडिंग होना – पीरियड रुक रुक के आना क्या कारण है -उपाय

रुक रुक के ब्लीडिंग होना : नमस्कार दोस्तों, महिलाओं में पीरियड सबंधी कई समस्याएं आती हैं उन्हीं में से एक हैं रुक रुक के ब्लीडिंग होना। आज की इसी आर्टिकल में मैं आपको बताउंगी की पीरियड रुक रुक के ब्लीडिंग होना और पीरियड रुक रुक के आना क्या कारण है। साथ ही रुका हुआ पीरियड लाने की syrup और कुछ अन्य उपाय भी बताउंगी। अत: इस पोस्ट को अंत पढ़ें और जाने की इस समस्या को कैसे दूर किया जा सकता हैं।

रुक रुक के ब्लीडिंग होना - पीरियड रुक रुक के आना क्या कारण है -उपाय
रुक रुक के ब्लीडिंग होना – पीरियड रुक रुक के आना क्या कारण है -उपाय

दोस्तों यह तो आप जानते ही हैं की पीरियड के अनियमित होने से कई तरह की परेशानियाँ आती हैं जैसे प्रेगनेंसी में दिक्कत होना, कही आने जाने में परेशानियों का सामना करना आदि। ऐसे में पीरियड सबंधी समस्यायों का समाधान बेहद आवश्यक हो जाता हैं। इस आधुनिक युग में भी कई लोग पीरियड सबंधी समस्यायों को लेकर खुल कर बात नहीं करते हैं और यही कारण हैं ऐसे सवालों के जवाबी महिलाएं अक्सर google पे सर्च करती हैं। तो आइयें आपके प्रश्न रुक रुक के ब्लीडिंग होना क्या हैं और पीरियड रुक रुक के आना क्या कारण है इसका जवाब देती हूँ।

पीरियड रुक रुक के आना क्या कारण है और यह क्या हैं समझे

दोस्तों पीरियड जब सही तरीके से या खुलकर नहीं आती हैं तो इससे दर्द जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं साथ ही यह किसी गंभीर स्थिति का भी संकेत हो सकता हैं। कई महिलाओं में देखा जाता हैं की उन्हें या तो पीरियड के दौरान ज्यादा ब्लीडिंग होती हैं या बिल्कुल कम या रुक रुक कर। डॉक्टर्स के अनुसार 21से 38 दिन का पीरियड साइकिल बिल्कुल नार्मल होता हैं। पीरियड में ब्लीडिंग की बात करें तो यह 2 से 7 दिन तक हो सकता हैं लेकिन 2 दिन से कम ब्लीडिंग भी बिल्कुल नार्मल हैं। एक स्वस्थ पीरियड के दौरान 30 मिली लीटर तक ब्लीडिंग होती हैं यानी करीब करीब आपको 7 पैड्स की जरूरत होगी। लेकिन जब कम ब्लीडिंग होती हैं तो इसे पीरियड में का कम आना कहते हैं।

नीचे इस स्थिति के कुछ प्रमुख कारण बताएं गए हैं ध्यान से पढ़ें।

1. उम्र की वजह से रुक रुक के ब्लीडिंग होना

जी हाँ, ब्लीडिंग का ज्यादा या कम होना आपकी उम्र के अनुसार भी हो सकता हैं। दरसल रुक रुक के ब्लीडिंग होना या कम और ज्यादा ब्लीडिंग होना अधिक उम्र या टीनएज की अवस्था में अधिक होता हैं। 40-50 की महिलाओं में मोनोपौज आम हैं। इस स्थिति के कारण पीरियड रुक रुक कर आते हैं। साथ कम उम्र की लड़कियों में भी हार्मोनल असंतुलन की स्थिति इसका कारण बन सकती हैं।

Also, Read ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने के लिए सबसे अच्छा भोजन -ट्राइग्लिसराइड्स क्या हैं?

2. उल्टे सीधे भोजन की वजह से

अक्सर देखा जाता हैं की जो महिलाएं या लड़कियां कोल्डड्रिंक और फ़ास्ट फ़ूड का सेवन करती हैं उनका पीरियड अनियमित हो जाता हैं। ऐसे खाद्य पदार्थो के सेवन केन कारण भी हार्मोनल असंतुलन जैसी स्थिति उत्पन्न होती हैं और पीरियड रुक रुक कर आते हैं। बाहरी और ज्यादा तेल मसालें युक्त भोजन से पीरियड आने पर ब्लीडिंग बहुत कम होती हैं। रुक रुक के ब्लीडिंग होना उचित खान पान के आभाव में बेहद आम हैं।

3. रुक रुक के ब्लीडिंग होना वजन असंतुलन के कारण

अगर आप पीरियड रुक रुक कर आने की समस्या से परेशान हो चुके हैं तो इसका मुख्य कारण वजन का ज्यादा होना या कम होना हो सकता हैं। दरसल वजन असंतुलित होने के कारण हमारे शरीर में होरमोंस सही से काम कर पाने में असमर्थ हो जाते हैं जिसकी वजह से पीरियड रुक रुक कर आते हैं। रुक रुक के ब्लीडिंग होना वजन के कारण भी होता हैं।

4. गर्भधारण को रोकने वाली दवाइयों के अधिक सेवन से

कई बार महिलाएं प्रेगनेंसी के डर से गर्भ निरोधक की गोलियां कहा लेती हैं। यह भी एक बड़ी वजह हैं की आपका पीरियड रुक रुक कर आता हैं।

5. पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के कारण भी रुक रुक के ब्लीडिंग होना आम हैं

इस स्थिति में महिलाओं के पीरियड्स अनियमित होना बेहद आम हैं। दरसल इसमें एग का विकाश ठप हो जाता हैं और हार्मोनल बदलाव होते हैं। इस स्थिति में पीरियड रुक रुक कर आता हैं या ब्लीडिंग बहुत कम होती हैं। जी हाँ ज्यादात्तर मामलों में देखा गया हैं इसमें रुक रुक के ब्लीडिंग होना आम बात हैं। इस स्थिति में डॉक्टर से संपर्क कर जल्द इलाज किया जाना आवश्यक हैं।

6. अन्य कारण

इन सबके अलावे रुक रुक के ब्लीडिंग होना शारीरिक श्रम, तनाव, थाइरोटोक्सियोकोसिस आदि के कारण भी हो सकता हैं। मुझे उम्मीद हैं की आपके सवाल पीरियड रुक रुक के आना क्या कारण है इसका जवाब आपको मिल गया होगा। अब बात करेंगे रुके हुए पीरियड्स लाने के उपाय के बारें में साथ ही रुका हुआ पीरियड लाने की syrup कौन सी हैं उसके बारें में भी बताएँगे।

Also, Read सब्जा बीज (Sabja Seeds in Hindi) के असीमित लाभ और सम्पूर्ण जानकारी

रुके हुए पीरियड्स लाने के उपाय – 3 घरेलु उपाय

आइये अब हम आपको रुके हुए पीरियड्स लाने के घरेलु उपाय बता रही हूँ। इन उपायों से आप रुक रुक कर पीरियड आने की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।पीरियड

हल्दी – रुके हुए पीरियड्स लाने के उपाय

रुके हुए पीरियड्स लाने के लिए हल्दी का सेवन रामबाण उपाय हैं। गर्म पानी के साथ आधे चम्मच हल्दी के सेवन से रुक रुक के ब्लीडिंग होना रुक जाता हैं। यह पीरियड में कम ब्लीडिंग की समस्या से आपको निजात दिलाएगा। इसका सेवन आप पीरियड आने से 6 से 7 पहले से शुरू कर सकते हैं।

तिल और गुड़ भी कम ब्लीडिंग की समस्या से निजात दिलाएगा

गुड़ और तिल का मिश्रण पुराने समय से पीरियड्स की समस्या में किया जाता रहा हैं। दरसल तिल की तासीर गर्म होती हैं जो मासिक धर्म की समस्या से आपको निजात दिलाता हैं। इसके लिए आपको 1 चम्मच तिल के साथ थोड़ा सा गुड़ मिलाकर खाना हैं। इसका सेवन पीरियड आने से 8 दिन पहले से जरुर शुरू करें।

Also, Read सुंदरता बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए – हमेशा दिखेंगे यंग

पपीता

जी हाँ, पपीता रुके हुए पीरियड्स लाने के उपाय में से एक हैं। पपीता में कैरोटीन की मौजूदगी एस्ट्रोजन होरमोंस को बढ़ावा देती हैं। इसके रोज सेवन से पीरियड्स अनियमित या रुक रुक कर आने की समस्या से निजात मिलता हैं।

मेथी पानी

मेथी में पायें जाने वाले पोषक तत्व कई तरह के रोगों में अमृत के समान हैं। मेथी पानी पीने के फायदे में एक फायदा पीरियड्स में कम ब्लीडिंग की समस्या को खत्म करना भी हैं। जी हाँ अगर आप गर्म पानी के साथ मेथी मिलाकर रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन किया जाएँ तो पीरियड्स में कम ब्लीडिंग की समस्या से आसानी से निजात मिल सकता हैं।

Also, Read सोते समय चक्कर आना गंभीर बीमारी के हैं लक्षण – सावधान

रुका हुआ पीरियड लाने की syrup

Dabur Mentsa Syrup : पीरियड में ज्यादा ब्लीडिंग या मासिक धर्म का रुक रुक कर आना या न आने की स्थिति में यह दवा बेहद प्रभावकारी हैं। अगर आप रुका हुआ पीरियड लाने की syrup ढूंढ रहे हैं तो यह सिरप आपके लिए बेस्ट रहेगा। लेकिन इसका सेवन डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही करें।

डॉक्टर से कब मिलें

दोस्तों अगर रुक रुक के ब्लीडिंग होना कई महीनों तक जारी हैं तो बिल्कुल देर न करें। इस समस्या के लिए किसी नजदीकी डॉक्टर से संपर्क कर इसकी जाँच करवाएं। डॉक्टर होरमोंस असंतुलन की जाँच के लिए ब्लड टेस्ट करेंगे और उचित दवाइयों के सेवन करने की सलाह देंगे।

नोट: यह एक सामान्य जानकारी हैं। बीना डॉक्टर के सलाह के दवाओं का सेवन फायदे की जगह नुकसान भी कर सकता हैं। इसलिए डॉक्टर की सलाह आवश्यक हैं।

Also, Read नजर उतारने के प्राचीन उपाय – यह उपाय अचूक हैं जरुर पढ़ें.

निष्कर्ष

दोस्तों रुक रुक के ब्लीडिंग होना कई कारणों से हो सकता हैं। यह खान पान के अलावे गंभीर समस्या के कारण भी संभव हैं। इसलिए डॉक्टर की सलाह अवश्य ले। सामान्य स्थिति में आप घरेलु उपाय कर सकते हैं। लेकिन गंभीर लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर से संपर्क कर इसका इलाज आवश्यक हैं। आपको बता की हर महिला में अलग पीरियड 21 से 38 दिन का हो सकता हैं। वही 2 से 7 दिन ब्लीडिंग भी नार्मल मानी जाती हैं।

इस पोस्ट में मैंने आपको पीरियड रुक रुक के आना क्या कारण है और रुका हुआ पीरियड लाने की syrup के बारें में विस्तार से बताया हैं। साथ ही रुके हुए पीरियड्स लाने के उपाय भी आपको बताएं गए हैं। ऊपर बताएं गए उपाय कर सामान्य स्थितियों में पीरियड्स के अनियमित होने की समस्या का निदान किया जा सकता हैं। लेकिन ध्यान रहें की गंभीर लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर से संपर्क जरुर करें।

दोस्तों इस पोस्ट में मैंने आपको रुके हुए पीरियड्स लाने के उपाय, रुक रुक के ब्लीडिंग होना क्या हैं, रुका हुआ पीरियड लाने की syrup आदि के बारें में विस्तार से बताया हैं। अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करना बिल्कुल न भूलें।

अधिक जानकारी के लिए यहाँ पढ़ें

Also, Read पिम्पल्स के काले दाग कैसे हटाये? – 5 दिनों में पिम्पल्स हो जायेगा गायब