बीपी लो के घरेलू उपाय और इसके कारणों को विस्तार से जाने

Spread the love

बीपी लो के घरेलू उपाय और इसके कारणों को विस्तार से जाने – बीपी का मतलब हैं ब्लड प्रेशर, जब रक्तचाप सामान्य से कम या ज्यादा हो जाता हैं तो ऐसी स्थिति में शरीर के कई अंग सही से काम करना बंद कर देते हैं। बीपी लो होने की समस्या किसी को भी हो सकती हैं। कम उम्र के लोगों में भी यह समस्या देखी जाती हैं। जब बीपी लो होता हैं तो व्यक्ति को बार-बार चक्कर आता हैं। खेलने कूदने में भी जल्दी थक जाना सांस लेने में दिक्कत महसूस होना लो बीपी के लक्षण हैं। दरसल इस समस्या में ब्लड शरीर के कई महत्वपूर्ण अंगों तक तक ठीक से नहीं पहुँच पाता हैं। इस वजह से कमजोरी, थकान और चक्कर आना जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। इस समस्या को हल्के में नहीं लेना चाहिए। बीपी लो के घरेलू उपाय इस समस्या से निजात दिलाने में आपकी मदद करेगी।

बीपी लो के घरेलू उपाय और इसके कारणों को विस्तार से जाने
बीपी लो के घरेलू उपाय और इसके कारणों को विस्तार से जाने

लम्बे समय तक low बीपी की समस्या का रहना ब्रेम हैमरेज का कारण भी बन सकती हैं। दरसल लो बीपी में ब्लड ब्रेन और हृदय तक ठीक से नहीं पहुंच पाता हैं जिसकी वजह से कई अंग प्रभावित होते हैं। लो बीपी की समस्या हार्ट से जुड़ी समस्यायों के चलते भी हो सकता हैं। खैर आइये जानते हैं की बीपी लो के घरेलू उपाय क्या हैं। साथ ही आपको बतायेंगे की बीपी लो में क्या और कौन सा फल खाना चाहिए।

नार्मल बीपी कितना होना चाहिए – बीपी लो होने के नुकसान

120/80 mmHg को नार्मल बीपी माना जाता हैं। उम्र और जेंडर के हिसाब से भी नार्मल बीपी में अंतर होता हैं। 30 से 35 वर्ष के महिला और पुरुष में क्रमश: 110।5 /72।5 और 114।5 /75।5 नार्मल होती हैं। एक्सपर्ट्स के अनुसार, 20 से 25 वर्ष की आयु में पुरुषों और महिलाओं के बीपी में थोड़ा अंतर होता हैं। जहां महिलाओं में बीपी इस उम्र में 115।5/70।5 होना जरुरी हैं वही पुरुषों में 120।5/78।5 mm Hg होना आवश्यक हैं। ब्लड प्रेशर का अधिक बढ़ना या धिक् घटना दोनों ही खतरनाक स्थिति हैं। बीपी 200/120 mm Hg से ज्यादा हो जाने पर व्यक्ति को हार्ट सबंधी समस्याएं परेशान कर सकती हैं। वही अगर बीपी 90/60 mmHg से कम हैं तो इस स्थिति में खून का प्रवाह बाधित होता हैं जो हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी समस्यायों को जन्म दे सकता हैं।

लो बीपी के कारण

दोस्तों, लो बीपी की समस्या खून की कमी, हार्ट से जुड़ी बीमारियां, मधुमेह, किसी चोट या सर्जरी की वजह से अधिक खून का बह जाना, बीपी और हार्ट से सबंधित दवाओं आदि के सेवन से होता हैं। इसके अलावे गलत खान-पान और अनुवांशिक कारणों से भी यह समस्या देखी जाती हैं। आइये अब जानते हैं की बीपी लो के घरेलू उपाय कितना प्रभावी हैं।

लो बीपी के लक्षण और इलाज

जैसा की मैंने आपको बताया की लो बीपी व्यक्ति की शारीरिक क्षमता को कई गुणा तक घटा सकती हैं। इसके अलावे दिल और ब्रेन को भी काफी क्षति पहुंचाती हैं। बीपी कम होने के लक्षण महिलाओं में कम दिखाई देते हैं। पुरुषों में इसके लक्षण अधिक प्रकट होते हैं। आइये जानते हैं की बीपी कम होने के लक्षण क्या-क्या हैं और बीपी लो के घरेलू उपाय क्या हैं।

बीपी कम होने के लक्षण

बीपी कम होने के लक्षण
बीपी कम होने के लक्षण
  • कुछ देर बैठकर अचानक उठने पर सर घुमने लगना
  • आसपास की चीजें धुंधला सा प्रतीत होना
  • अचानक खड़े होने पर बेहोश होकर गिर पड़ना
  • हल्के फुल्के काम करने पर भी तुरंत थक जाना
  • हार्ट में हल्का दर्द और धड़कने का कम या तेज होना

यह भी पढ़ें हाई ब्लड प्रेशर में चाय पीना चाहिए या नहीं

बीपी लो के घरेलू उपाय – बीपी लो कैसे ठीक होता है

लो बीपी की समस्या में लाइफस्टाइल और खान-पान में सुधार करने की आवश्यकता होती हैं। बीपी लो होने पर खूब पानी पीना चाहिए। इसके अलावे खाने में नमक, प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ, हरी शब्जियां, तरबूज, अनार, चुकंदर के जूस, नारियल पानी, और अन्य फलों को भी जरुर शामिल करें। बीपी का low होना किडनी फेलियर और हार्ट अटैक जैसी अनेक समस्यायों का कारण बन सकता हैं। अत: इसका इलाज आवश्यक हैं। बीपी low की स्थिति में अगर सर पर जोरदार चोट लगा जाता हैं तो ब्रेन हैमरेज भी हो सकता हैं। नीचे बताएं गए बीपी लो के घरेलू उपाय बीपी को नार्मल रखने में मदद कर सकता हैं।

1. बीपी लो के घरेलू उपाय हैं नमक

अगर बीपी लो हो गया हैं तो तत्काल नमक और पानी का सेवन करें। नमक में सोडियम होता हैं जो बीपी को नार्मल करने में मदद करता हैं। इसके अलावे खाने में नमक की मात्रा थोड़ी बढ़ा सकते हैं। ऐसा करने से लो बीपी के कारण आ रहे चक्कर कम होंगे। अधिक पानी पीने से बीपी ऊपर उठने लगता हैं। इसके अलावे सेंधा नमक और निम्बू के रस के साथ अदरक को पीसकर रोज दिन में आधा चम्मच 2 बार खाने से भी निम्न रक्तचाप से छुटकारा मिलता हैं। सेंधा नमक खून की कमी को भी पूरा करने में सहयोग करता हैं। इसमें आयरन और कई विटामिन और खनिज हैं तो लो बीपी की समस्या में लाभप्रद हैं।

यह भी पढ़ें नमक पानी पीने के फायदे (Namak Pani Peene ke Fayde)

2. बीपी लो के घरेलू उपाय हैं कॉफ़ी

अगर आपको लो बीपी के कारण चक्कर आ रहा हैं तो ऐसी स्थिति में कैफीन युक्त कॉफ़ी या चाय का सेवन करें। यह बीपी लो के बेहतरीन घरेलू उपाय हैं। कॉफ़ी तुरंत ही इस समस्या से राहत देता हैं। यह रक्तचाप को नार्मल कर लक्षणों से आराम देता हैं।

3. छाछ का करें सेवन

अगर ब्लड प्रेशर घट गया हैं और कमजोरी महसूस कर रहे हैं तो छाछ का सेवन जरुर करें। छाछ बीपी को नार्मल को नार्मल कर मौजूदा स्थिति को बेहतर करेगा। छाछ में सोडियम अर्थात नमक और जीरे को तवे पर भुन कर जरुर मिलाएं।

4. तुलसी के पत्ते का करे सेवन

बीपी लो होने पर तुलसी का पत्ता जरुर खाएं। इससे बीपी नार्मल बनाएं रखने में मदद मिलती हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होता हैं जो बीपी को नार्मल करने में समर्थ हैं। इसके अलावे इसमें पोटाशियम और मैग्नीशियम भी हैं जो low ब्लड प्रेशर की समस्या में राहत देता हैं। रोज सुबह-शाम सिर्फ 5 पत्तियों का सेवन ही पर्याप्त हैं।

यह भी पढ़ें तुलसी का पौधा किस दिन उखाड़ना चाहिए – लगाने और उखाड़ने के नियम जाने

5. बादाम और दूध का सेवन करें

ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर यह मिश्रण लो बीपी के मरीजों के लिए बहुत अच्छा हैं। सबसे पहले कुछ बादाम को रात भर फूलने के लिए छोड़ दें। सुबह उठकर बादाम को पीसकर दूध के साथ गैस पर उबाल लें। बादाम दूध को रोजाना दिन में कम से कम एक बार जरुर पिएं।

बीपी लो में कौन सा फल खाना चाहिए

बीपी लो होने पर भोजन का खास ख्याल रखना जरुरी हैं। इस स्थिति में विटामिन, प्रोटीन और मिनरल्स से भरपूर भोजन करें। बीपी लो होने पर किवी, तरबूज, नारियल पानी, केला, अंगूर, एवोकाडो, संतरा आदि का सेवन लाभप्रद हैं। फैटी एसिड और विटामिन बी से भरपूर एवोकाडो लो बीपी के लिए बहुत अच्छा और फायदेमंद हैं। पोटेशियम की मौजूदगी के चलते केला भी बेहद फायदेमंद हैं। यह ब्लड वेसल्स को को आराम देता हैं और ब्लड सर्कुलेशन को तेज करता हैं। शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए तरबूज, अंगूर और संतरे आदि का सेवन जरुर करें।

यह भी पढ़ें

डॉक्टर से कब मिलना चाहिए

अगर आपके हार्ट में ज्यादा पेन हैं और आप बार-बार बेहोश हो जाते हैं तो डॉक्टर से मिलना बेहद जरुरी हैं। समय पर इसका इलाज न होने से स्थिति गंभीर भी हो सकती हैं। अत: डॉक्टर से जरुर मिलें। डॉक्टर लो बीपी को नार्मल करने के लिए कुछ दवाएं सजेस्ट करेंगे। फ्लुड्रोकोर्टिसोन,मिडोड्रिन और मेफेंटरमाइन जैसे दवाइयों का इस्तेमाल लो बीपी की समस्या में की जा सकती हैं।

यह भी पढ़ें Body Health Tips in Hindi: 10 आदतें जो आपको रखेगा डॉक्टर से कोसों दूर

निष्कर्ष

बीपी लो के घरेलू उपाय और इसके कारणों को विस्तार से इस पोस्ट में बताया गया हैं। दोस्तों, लो बीपी की समस्या में बचाव ही सबसे बढियां घरेलु उपाय हैं। अत: पानी से भरपूर फल और शब्जियों का सेवन करें। सोडियम और पोटाशियम युक्त खाद्य पदार्थ इस समस्या से तत्काल राहत दे सकती हैं। बीपी लो के घरेलू उपाय काफी हद तक स्थिति को कण्ट्रोल करने में सहायता करती हैं। अगर आपको लो बीपी के कारण गंभीर लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो चिकित्सक से मिलकर उचित सलाह के साथ इलाज शुरू करें।

मुझे आशा हैं की आपको आज की यह पोस्ट ” बीपी लो के घरेलू उपाय ” बेहद अच्छी लगी होगी। इस जानकारी को सोशल मीडिया पर जरुर से जरुर शेयर करें। लो बीपी की समस्या में घरेलु उपाय और बचाव बेहद कारगर हैं।

यह भी पढ़ें क्या भाप लेने से चेहरा गोरा होता है सच जानकर हैरान हो जाएंगे

Leave a Comment