t3 और t4 सामान्य है लेकिन tsh अधिक है / क्या होता अगर tsh स्तर उच्च है

Spread the love

t3 और t4 सामान्य है लेकिन tsh अधिक है / क्या होता अगर tsh स्तर उच्च है – अगर आप भी थायरॉयड की समस्या से जूझ रहे हैं तो आपके लिए यह जानना बेहद आवश्यक हैं की टी एस एच बढ़ने के लक्षण क्या हैं और t3 t4 tsh टेस्ट क्या होता हैं। थायरॉयड की समस्या आज के समय में बेहद आम हो चुकी हैं। जब किसी व्यक्ति को इस समस्या के होने की आशंका होती हैं तो डॉक्टर t3 t4 tsh test करने की सलाह देते हैं।

t3 और t4 सामान्य है लेकिन tsh अधिक है
t3 और t4 सामान्य है लेकिन tsh अधिक है

दरसल t3 t4 होरमोंस होते हैं जो की थायरॉयड ग्रंथि द्वारा निर्मित की जाती हैं। जब व्यक्ति को थायरॉयड के लक्षण दिखते हैं तो ऐसे में डॉक्टर t3 t4 tsh test कर स्थिति की समीक्षा करते हैं और उचित दवा लेने की सलाह देते हैं। यह टेस्ट होर्मोन की स्थिति देखने के लिए की जाती हैं।

t3 t4 tsh test in hindi

t3 t4 tsh test in hindi
t3 t4 tsh test in hindi

आपके सवाल t3 और t4 सामान्य है लेकिन tsh अधिक है , इसका जवाब जानने से पहले t3 t4 tsh test के बारें में जान लेते हैं। आखिर इसकी आवश्यकता क्यों होती हैं और t3 t4 tsh क्या हैं। दोस्तों t3 का मतलब होता हैं ट्राईआयोडीनथायरोक्सिन और t4 थायरॉक्सिन होर्मोन को कहते हैं। ये दोनों होर्मोन थायरॉयड ग्रंथि से निकलती हैं। जब दोनों में से कोई कम या ज्यादा हो जाती हैं तो ऐसे में व्यक्ति को कुछ लक्षण दिखाई देते हैं। लक्षणों को आधार मानकर डॉक्टर t3 t4 tsh test करने के लिए रोगी को कहते हैं।

t3 t4 का असामान्य स्तर कई तरह की समस्यायों को जन्म देता हैं। गर्दन में स्थित इस ग्रंथि द्वारा निर्मित होर्मोन असंतुलन का प्रभाव शरीर के वजन, बाल, नींद मेटाबोलिज्म आदि पर सीधा असर पड़ता हैं। 30 से ज्यादा उम्र के व्यक्ति में यह समस्या ज्यादा देखने को मिलती हैं। यह रोग अनुवांशिक कारणों से भी होती हैं। गर्भावस्था के दौरान भी t3 t4 होर्मोन का स्तर घटते बढ़ते रहता हैं। बच्चों और महिलाओं में यह समस्या अक्सर देखी जाती हैं। इस समस्या से प्रभावित बच्चे का दिमाग का विकास स्लो हो सकता हैं। अत: जल्द से जल्द इसका उपचार आवश्यक हैं।

Also, Read ईएसआर बढ़ने से क्या होता है – ईएसआर क्या हैं इसका घरेलु उपाय

t3 और t4 सामान्य है लेकिन tsh अधिक है

दोस्तों अगर t3 और t4 सामान्य है लेकिन tsh अधिक है तो ऐसी स्थिति को Subclinical Hypothyroidism के नाम से जाना जाता हैं। इसका कारण हैं ऑटोइम्यून थायरोइड और थायरोइड से सम्बंधित सर्जरी या थेरेपी, थायरोइड ग्रंथि में लगी चोट आदि। इस स्थिति में व्यक्ति अधिक थका हुआ महसूस करता हैं। ठंड अधिक लगती हैं और पेट में कब्ज की समस्या अक्सर रहती हैं। इसके अलावे वजन का बढ़ना और बालों का अधिक झड़ना भी इसके प्रमुख लक्षण हैं। इसका निदान जांच के पश्चात ही संभव हैं। अगर TSH का स्तर 10 mIU/L से अधिक हैं तो डॉक्टर से सम्पर्क कर इसका इलाज करवाया जाना बेहद जरुरी माना जाता हैं।

Also, Read ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने के लिए सबसे अच्छा भोजन -ट्राइग्लिसराइड्स क्या हैं?

टी एस एच बढ़ने के लक्षण

जब शरीर में थायरोइड होर्मोन का स्तर घटता या बढ़ता हैं तो ऐसे में नीचे बताएं गए लक्षण दिखाई दे सकते हैं। टी एस एच बढ़ने के लक्षण निम्नलिखित हैं।

1. ज्यादा वजन का बढ़ना
2. सुखी-रुखी त्वचा का होना
3. बालों का पतला होकर ज्यादा झड़ना
4. बॉडी के जॉइंट में दर्द का होना
5. दिल का धीरे-धीरे धड़कना
6. महिलाओं में बच्चे पैदा करने की क्षमता कम होना
7. पीरियड का असामान्य होना और ज्यादा खून निकलना
8. चिंता और तनाव का बढ़ना
9. भूलने की समस्या का होना
10. गर्दन सुजा हुआ लगना
11. पैर के तलवे और एडी में एंठन की समस्या
12. अधिक ठंड महसूस होना
13. शरीर थका हुआ महसूस होना
14. पेट ज्यादा बाहर निकला हुआ प्रतीत होना – सुजन के कारण

Also, Read थायराइड के मरीज को कभी नहीं करनी चाहिए ये 7 चीजें

हालाँकि यह जरुरी नहीं हैं की सभी में में ऊपर बताएं गए लक्षण दिखाई दें।

t3 t4 और टी एस एच कितना होना चाहिए

टी एस एच का मतलब हैं थायराइड स्टिमुलेटिंग हार्मोन्स। टी एस एच टेस्ट ब्लड द्वारा किया जाता हैं। 0।4 से 4।0 mIU/L के बीच टी एस एच होना चाहिए। । T3 की रेंज 100-200 ng/dL को नार्मल माना जाता हैं। इससे ज्यादा बढ़ने से ग्रेव्स बीमारी होती हैं। शरीर में T4 का स्तर बढने से व्यक्ति का वजन घट सकता हैं। साथ ही व्यक्ति को ज्यादा ठंड का अनुभव भी हो सकता हैं। T4 और TSH टेस्ट हमेशा एक साथ की जाती हैं। टीएसएच T3 और T4 को संतुलित करता हैं। ​TSH के बढने से हाथों के नाख़ून कमजोर होकर टूटने लगते हैं। TSH 2।0 होने के बाद हाइपोथायरॉडिज्म हो सकती हैं । TSH का कम होने का अर्थ हैं की शरीर को पर्याप्त से अधिक आयोडीन की आपूर्ति हो रही हैं।

Also, Read थायराइड का रामबाण इलाज बहुत असरदार

क्या होता अगर tsh स्तर उच्च है

TSH बढने से व्यक्ति को हाइपोथायरॉडिज्म हो सकता हैं। इस स्थिति में रोगी का वजन असामान्य तरीके बदलता हैं। वजन में भारी बढ़ोतरी हो सकती हैं। इसके अलावे तनाव चिंता और हथेली और पैरों के नाख़ून कमजोर होकर गिरने लगते हैं।

क्या होता अगर tsh स्तर कम है

tsh स्तर कम होना संकेत हैं की शरीर में आयोडीन की अधिकता हैं। इस स्थिति में थायरोइड ग्रंथि आवश्यकता से अधिक होरमोंस बनती जिसकी वजह से व्यक्ति की हार्ट बीट बढ़ जाती हैं। इसके अलावे महिलाओं इमं मासिक धर्म की अनियमितता भी आ सकती हैं। इस स्थिति में वजन तेजी से घट सकता हैं।

Also, Read थायराइड क्यों होता है – जानियें कारण बचाव और उपाय

निष्कर्ष

इस पोस्ट में मैंने आपको बताया हैं की t3 और t4 सामान्य है लेकिन tsh अधिक है तो इसका मतलब क्या हैं और क्या होता अगर tsh स्तर उच्च है। मुझे उम्मीद हैं की यह जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित हुई होगी। इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरुर से जरुर शेयर करें। थायरोइड की समस्या के लक्षण दिखाई देने पर आपको डॉक्टर से जल्दी से जल्दी मिलना चाहिए।

मुझे आशा हैं की आपको आज की यह पोस्ट t3 और t4 सामान्य है लेकिन tsh अधिक है / क्या होता अगर tsh स्तर उच्च है , बेहद अच्छी लगी होगी। ऐसी ही जानकारियों के लिए आप हमारे ब्लॉग के अन्य पोस्ट को पढ़ सकते हैं।

Also, Read कच्चे चावल खाने का मन क्यों करता है – कच्चे चावल खाने के फायदे और नुकसान

Leave a Comment