मिर्गी जड़ से खत्म करने का इलाज – मिर्गी के कारण लक्षण और घरेलू उपाय

Spread the love

मिर्गी जड़ से खत्म करने का इलाज : – मिर्गी एक गंभीर मानसिक समस्या हैं जिसमें व्यक्ति को अक्सर दौरे पड़ते हैं। इस समस्या को न्यूरोलॉजिकल डिसॉर्डर कहते हैं। दौरे के दौरान व्यक्ति का दिमाग अचानक से काम करना बंद कर देता हैं और रोगी गिर जाता हैं। इस बीमारी में व्यक्ति तेजी से हाथ पैर मारता हैं और दांत लगने जैसी समस्या आती हैं। पूरी दुनियां में इस बीमारी से लगभग 1% लोग पीड़ित हैं। इस बीमारी की जागरूकता के लिए कई तरह के अभियान चलायें जा रहे हैं। १७ नवम्बर को विश्व मिर्गी दिवस के रूप में जाना जाता हैं। इस तरह लोगों को इस रोग के प्रति जागरूक करने के लिए १७ नवम्बर को विशेष अभियान चलाया जाता हैं। इस पोस्ट में हम आपको मिर्गी जड़ से खत्म करने का इलाज और मिर्गी के लक्षण और उपाय के बारें में विस्तार से बताने जा रहे हैं।

मिर्गी जड़ से खत्म करने का इलाज
मिर्गी जड़ से खत्म करने का इलाज

मिर्गी क्या हैं?

जैसा की मैंने आपको बताया की मिर्गी न्यूरोलॉजिकल डिसॉर्डर हैं इस स्थिति में तंत्रिका कोशिका ठीक से कार्य करने में असमर्थ हो जाती हैं। इस कारण व्यक्ति का दिमाग प्रभावित होता हैं। मिर्गी के दौरान तेज झटके और बेहोशी जैसी स्थिति का सामना करना पड़ता हैं। गाँव देहात में मिर्गी को फिट आना भी कहते हैं। आपने अपने आसपास कई लोगों को इस बीमारी का शिकार होते देखा होगा। बीमार व्यक्ति कुछ सेकंड लेकर से 5 मिनट तक मिर्गी के दौरे का सामना करते हैं। ज्यादात्तर मामले में रोगी बेहोश हो जाता हैं। मिर्गी की समस्या स्त्री पुरुष बच्चे किसी को भी प्रभावित कर सकती हैं। आइये जानते हैं की मिर्गी के लक्षण और कारण क्या हैं:

मिर्गी के लक्षण

मिर्गी के रोगियों को कई लक्षण दिखाई दे सकते हैं। इस रोग में अक्सर दौरे पड़ने की शिकायत होती जो की इसका सबसे आम लक्षण हैं। नीचे मिर्गी के कुछ महत्वपूर्ण लक्षण बताएं गए हैं ध्यान से पढ़ें। लक्षण दिखाई देने पे किसी अच्छे डॉक्टर से मिलकर इसका इलाज अवश्य कराए। इस रोग को आसानी से नियंत्रित किया जा सकता हैं।

1. अचानक से चक्कर आकर गिर पड़ना
2. हाथ रगड़ते रहना और पुरे शरीर में अजीब सा एहसास जैसे सनसनी और झुनझुनी होना
3. हाथ, पैर, और पुरे शरीर का एंठना या झटके पड़ते रहना
4. डर लगना किसी से चाह कर भी बात करने में असमर्थता
5. अधिक थकान जैसा महसूस करना
6. सबकुछ भूलने जैसा लगना मेमोरी का कमजोर होना
7. भ्रम जैसी स्थिति उत्पन्न होना

Also, Read मुंह का स्वाद गायब होने के लक्षण और 5 घरेलु उपाय

मिर्गी के कारण

ऊपर मैंने आपको मिर्गी के लक्षण विस्तार से बताएं हैं लक्षण मिलने पर चिकित्सक से जरुर संपर्क करें। आइये अब आपको मैं मिर्गी के कारणों के बारे में बताती हूँ।

1. अनुवांशिक जैसे अगर आपके परिवार के किसी सदस्य को कभी यह समस्या रही हो तो मिर्गी होने के चांसेस हो सकते हैं। हालाँकि अनुवांशिक तौर पे यह समस्या बहुत कम देखी जाती हैं।
2. किसी एक्सीडेंट की वजह से सिर पे चोत के कारण भी यह समस्या हो सकती हैं।
3. बच्चे को जन्म के वक्त पर्याप्त ऑक्सीजन न मिलने के कारण
4. इसके अलावे अत्याधिक शराब। तंत्रिका रोग, अल्जाइमर, एड्स, बेन स्ट्रोक आदि कारणों से भी यह समस्या उत्पन्न हो सकती हैं।

मिर्गी के दौरे में क्या खाना चाहिए

मित्रों मिर्गी की बीमारी होने पर फैट और प्रोटीन युक्त भोजन करने की सलाह दी जाती हैं। ध्यान रहें की ज्यादा कार्बोहाइड्रेट वाले खाद्य पदार्थों के सेवन से बचे। आप अपने भोजन में घी, मछली, चिकन, मीट, बादाम का आटा, सोयाबीन, पनीर, गोभी पालक, शिमला मिर्च, काजू, चिया के बीज, अलसी , प्याज, मेथी आदि को जरुर शामिल करे। इसके अलावे आप फैट और प्रोटीन युक्त कोई भी भोजन कर सकते हैं। इन सबके अलावे आपको विटामिन बी 6 युक्त भोजन जरुर करना चाहिए। गेहूं और चावल के उपरी परत में विटामिन बी 6 की भरपूर मात्रा होती हैं। आप इसके चोकर का सेवन कर सकते हैं।

Also, Read दोनों किडनी खराब होने पर आदमी कितना दिन जिंदा रह सकता है

मिर्गी के दौरे में क्या नहीं खाना चाहिए

ध्यान रहें की मिर्गी के दौरे पड़ने की स्थिति में चीनी, शराब, दूध, खजूर, मिठाई, पिज्जा, आलू, , गुड़, गाजर, गेहूं, चावल, चोकलेट आदि से परहेज करना चाहिए। यानी आपको ज्यादा कार्बोहाइड्रेट से युक्त भोजन नहीं करना चाहिए। ध्यान रहे की ज्यादा तेल मसालें युक्त भोजन से भी मिर्गी के दौरे में वृद्धि देखी जा सकती हैं। साथ ही आप चाय, कॉफ़ी, गुटखा, खैनी आदि का सेवन बंद कर दे।

Also, Read सरसों के तेल में लहसुन मिलाकर लगाने के फायदे

मिर्गी जड़ से खत्म करने का इलाज

आइये जानते हैं की मिर्गी जड़ से खत्म करने का इलाज क्या हैं।

1. दवा से

दवा के माध्यम से इसका इलाज संभव हैं लेकिन कई बार दवाओं से भी मरीज ठीक नहीं हो पाते हैं। उस स्थिति में सर्जरी ही एक मात्र उपाय बच जाता हैं। दवा से इसका इलाज होने पर 60% मरीज ठीक हो जाते हैं। अगर आप दवाओं के साथ हेल्थ का ध्यान रखेंगे तो ठीक होने के चांसेज कई गुणा तक बढ़ जाता हैं। कई मरीजों की मिर्गी की दवा लेने की जरूरत ताउम्र हो सकती हैं। मिर्गी के इलाज के लिए मिर्गी रोधी दवाओं जैसे एपिसिज़े 500 एमजी टैबलेट आदि का उपयोग किया जाता हैं।

Also, Read स्वस्थ रहने के उपाय 2023 | Sundarta

2. सर्जरी

ज्यादात्तर मामलों में रोगी दवाओ के सेवन से ठीक हो जाता हैं लेकिन कुछ परिस्थतियों में इस रोग को ठीक करने के लिए सर्जरी का सहारा लिया जाता हैं। मष्तिष्क का ऑपरेशन कर मिर्गी के दौरे को उत्पन्न करने वाले हिस्से को बदलकर या निकालकर इस समस्या का समाधान निकाला जाता हैं।

जानियें मिर्गी का रामबाण आयुर्वेदिक इलाज

दोस्तों मिर्गी रोग से छुटकारा पाने के लिए कुछ बेहतरीन आयुर्वेदिक औषधियाँ मार्किट में उपलब्ध हैं। इसके अलावे आपको कुछ घरेलु आयुर्वेदिक उपाय भी कर सकते हैं। पतंजली की मेधावटी और अश्वगंधा कैप्सूल इस रोग से निजात पाने में आपकी मदद करेगा। किसी भी पतंजली स्टोर से इस दवा को आप खरीद सकते हैं। मिर्गी के दौरे पड़ने की समस्या में आप सुबह शाम 2 , 2 गोली का सेवन करें। ज्यादा जानकारी के लिए किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से समपर्क करें। इसके अलावे आप अमृत रसायन का सेवन भी कर सकते हैं यह मिर्गी में बेहद फायदेमंद माना जाता हैं। सुबह शाम एक एक चम्मच खाने से इस रोग में आराम मिलता हैं।

Also, Read 2 महीने से पीरियड नहीं आया तो क्या करें । Sundarta

मिर्गी रोग कैसे फैलता है

मिर्गी कोई फैलने वाली बीमारी नहीं हैं। इस रोग से ग्रसित व्यक्ति के साथ रहने से यह नहीं फैलता हैं। आप बेझिझक बीना किसी चिंता के रोगी के साथ रह सकते हैं।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में आपने जाना की मिर्गी जड़ से खत्म करने का इलाज क्या हैं। दोस्तों यह समस्या किसी भी उम्र में किसी को भी प्रभावित कर सकती हैं। इस समस्या में अपने खान पान पर विशेष ध्यान रखना बेहद आवश्यक हैं। अगर खान पान पर ध्यान रखते हुए दवाओं का सेवन किया जाएँ तो सर्जरी की कोई आवश्यकता नहीं होती। विषम परिस्थितयों में ही डॉक्टर आपको सर्जरी की सलाह देते हैं।

मिर्गी जड़ से खत्म करने का इलाज की इस पोस्ट में मैंने आपको विस्तार से मिर्गी के लक्षण, कारण और मिर्गी के दौरे में क्या नहीं खाना चाहिए इसके बारें में बताया हैं। यह जानकारी आपको कैसी लगी हमें कमेंट के द्वारा जरुर बताएं।

wikipedia पर और अधिक पढ़ें

Also, Read बार-बार दस्त लगने का क्या कारण है इसे तुरंत कैसे ठीक करें?