बच्चे को potty करने के लिए क्या खिलाएं – सभी उम्र के शिशुओं के लिए बेस्ट उपाय

Spread the love

बच्चे को potty करने के लिए क्या खिलाएंसभी उम्र के शिशुओं के लिए कारगर उपाय – १ मंथ, 2 मंथ, 3 मंथ, 4 मंथ और अधिक उम्र के शिशु या बच्चों में अक्सर potty न होने की समस्या देखी जाती हैं। दरसल यह समस्या ज्यादात्तर कब्ज के कारण होती हैं। जब कब्ज की समस्या होती हैं तो बेबी शिशु के पेट में दर्द हो सकता हैं। बच्चे खाना-पीना बंद कर देते हैं। जाहिर सी बात हैं की अगर पॉटी नहीं होगा तो खाना पीना मुश्किल हैं। कब्ज में बेबी शिशु का potty कड़ा हो जाता हैं। मल के कड़े या सख्त होने से potty होने में दिक्कत होने लगती हैं। कई बार मल त्याग के वक्त खून भी आ सकते हैं। ऐसे में माता-पिता का चिंतित होना स्वाभाविक हैं। आइये जानते हैं की बच्चे को potty करने के लिए क्या खिलाएं जिससे मल आसानी से बाहर निकल आएं।

बच्चे को potty करने के लिए क्या खिलाएं - सभी उम्र के शिशुओं के लिए बेस्ट उपाय
बच्चे को potty करने के लिए क्या खिलाएं – सभी उम्र के शिशुओं के लिए बेस्ट उपाय

दोस्तों, अगर आपका बच्चा potty नहीं कर रहा हैं तो इसके हल्के में लेना ठीक नहीं हैं। मल का ज्यादा समय तक पेट में रहना समस्या को और अधिक बढ़ा सकता हैं। दरसल, मल जब ज्यादा समय तक पेट में रहता हैं तो ऐसी स्थिति में मल और अधिक सख्त होने लगता हैं। ऐसे में नवजात शिशु या बेबी को पेट दर्द अधिक हो सकता हैं। शिशु दूध पीना छोड़ सकता हैं। ऐसे में शिशु धीरे-धीरे कमजोर होने लगता हैं। इसलिए बेबी को पॉटी न आये तो घरेलु उपाय जरुर करें। आइये जानते हैं की बच्चे को potty करने के लिए क्या खिलाएं ताकि कब्ज से निजात मिल सकें।

बच्चे को potty करने के लिए क्या खिलाएं

अगर आपका बच्चा 6 महीने का हो चूका हैं और उसे कब्ज हैं तो खान-पान को सही कर कब्ज से की समस्या से निजात मिल सकता हैं। बच्चे को potty करने के लिए क्या खिलाएं इसकी जानकारी विस्तारपूर्वक नीचे पढ़ें।

1. बच्चे को potty करने के लिए खिलाएं सौंफ

कब्ज की समस्या पाचन से जुड़ी हैं। शिशु द्वारा ग्रहण की गया भोजन का सही से नहीं पचना कब्ज का कारण बनती हैं। सौफ बच्चे के पाचन सबंधी दिक्कतों को दूर कर कब्ज से तत्काल राहत देता हैं। 2 चम्मच सौंफ को 2 कप पानी में मिलाकर गैस पर चढ़ा दें। जब यह अच्छी तरह उबलने लगें तो 2 से 3 मिनट के बाद उतारकर ठंडा करें। उसके बाद बच्चे को 3 बार एक-एक चम्मच पिलायें। इससे कब्ज से राहत मिलती हैं।

यह भी पढ़ें सौंफ खाने के फायदे (Sof khane ke fayde)

2. बच्चे को potty करने के लिए खिलाएं फल और दूध

फाइबर से भरपूर फल कब्ज की समस्या में फायदेमंद हैं। सेब और पपीता जैसे फलों में में फाइबर होता हैं। इन फलों का जूस बच्चे के कब्ज को दूर करने में सहायता करेगा। जूस शरीर में पानी की कमी को भी पूरा करेगा। शरीर में पानी की अपर्याप्त मात्रा कब्ज का कारण बनती हैं। इसलिए बच्चे को समय-समय पर दूध और फलों के जूस पिलाते रहें।

3. बच्चे को potty करने के लिए खिलाएं टमाटर

अगर आपके बच्चे को अक्सर कब्ज की समस्या रहती हैं तो टमाटर का जूस भी दे सकते हैं। इसमें भी फाइबर की मौजूदगी हैं। मेटाबोलिज्म को बूस्ट कर शिशु को कब्ज से की समस्या से दूर करेगा। इसे पानी में उबालकर रोजाना एक बार में 3 से 4 चम्मच बच्चे को देने कब्ज से राहत मिलती हैं।

यह भी पढ़ें सुंदरता बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए – हमेशा दिखेंगे यंग

शिशु को पॉटी न आये तो क्या करे ( 1 , 2 ,3 , 4 month baby ko potty na aaye to kya kare )

शिशु को पॉटी न आये तो क्या करे ( 1 , 2 ,3 , 4 month baby ko potty na aaye to kya kare )
शिशु को पॉटी न आये तो क्या करे ( 1 , 2 ,3 , 4 month baby ko potty na aaye to kya kare )

नवजात शिशु को पॉटी न आये तो क्या करे , 3 मंथ बेबी को पॉटी न आये तो क्या करे , 4 मंथ बेबी को पॉटी न आये तो क्या करे ,१ मंथ बेबी को पॉटी न आये तो क्या करे , 2 मंथ बेबी को पॉटी न आये तो क्या करे ऐसे कई सवाल माएं पूछती हैं। १ मंथ, 2 मंथ, 3 मंथ, 4 मंथ के बेबी में कब्ज की समस्या फार्मूला दूध के चलते ज्यादा होता हैं। मां का दूध शिशु के लिए सबसे उत्तम हैं। मां का दूध आसानी से पच जाता हैं। मां के दूध से कब्ज की समस्या बहुत कम होती हैं। कम उम्र के शिशुओं को ठोस आहार बिल्कुल न दें। अगर बेबी को कब्ज हैं तो गर्म पानी से नहलाएं इससे मांसपेशियों का तनाव कम होता हैं।

1 month baby ko potty na aaye to kya kare

इसके अलावे शिशु के पेट के नीचे पर धीरे-धीरे मालिश करें। इससे कब्ज से पॉटी जल्द ही बाहर आ जाएगी। सेब में मौजूद पेक्टिन कब्ज से राहत देता हैं। शिशु को सेब का रस निकालकर पिलाने से कब्ज में काफी आराम मिलता हैं। सेब का रस कब्ज को दूर करता हैं। ध्यान रहे की कम उम्र के शिशु को किसी भी प्रकार के ठोस आहार न दें। मां का दूध कब्ज के इलाज में सबसे उत्तम दवा मानी जाती हैं। १ मंथ बेबी को पॉटी न आये तो नाशपाती का रश दे सकते हैं। यह मल की कठोरता को कम कर potty का बाहर निकालता हैं। अगर दूध नहीं बन रहा हैं तो डॉक्टर से पूछकर अलग कंपनी के फार्मूला मिल्क दें।

बेबी को अधिक मात्रा में कैल्शियम मिलना भी कब्ज को बढ़ा सकता हैं। जब कोई शिशु आवश्यकता से अधिक दूध का सेवन करता हैं तो शरीर को कैल्शियम अधिक मिलने से यह समस्या उत्पन्न हो सकती हैं। अगर बेबी कब्ज से अधिक परेशान हैं तो डॉक्टर को जरुर दिखाएं। नवजात बच्चे को अधिक कब्ज होने पर कई तरह के जांच जैसे – एक्स-रे, रेक्टम की जांच कर दवा देते हैं।

अगर शिशु माँ का दूध पीता हैं तो माँ को भी खान-पान का ध्यान रखना चाहिए। माँ को जंक फ़ूड और ज्यादा तेल मसाले के बचना चाहिए। मां के खान-पान का सीधा असर बच्चे पर होता हैं। माँ को हरी साग सब्जियां और फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। रोज फल जैसे संतरा, सेब, अनार आदि का सेवन जरुर करें। शिशु को एक बार में बहुत दूध न पिलायें। हर 2 से 3 घंटे पर थोड़ा-थोड़ा दूध पिलाना कब्ज से बच्चे को सुरक्षित रखता हैं।

यह भी पढ़ें गर्भ में लड़का होने पर कहां दर्द होता है – लड़का होने पर होता हैं यहां दर्द

baby ko potty na aaye to kya kare

बच्चों को potty नहीं आ रही हैं तो हाथों पर नारियल तेल लेकर बच्चे के गुदा के पास लगाना चाहिए। इसके अलावे बच्चे को साइकिलिंग वाला व्यायाम भी करा सकते हैं। शारीरिक गतिविधि करने से कब्ज से राहत मिलेगी। गर्म पानी से पेट के नीचले एरिया में हल्का सेंकने से भी potty बाहर निकलने में आसानी होती हैं।

यह भी पढ़ें

निष्कर्षबच्चे को potty करने के लिए क्या खिलाएं

दोस्तों, इस पोस्ट में मैंने आपको बताया हैं की बच्चे को potty करने के लिए क्या खिलाएं । अक्सर मां यह सवाल करती हैं की बेबी को पॉटी ना आये तो क्या करे ( potty baby ko potty na aaye to kya kare )। जब किसी छोटे बच्चे जैसे १ मंथ बेबी या 2 मंथ बेबी को पॉटी न आने की समस्या होती हैं तो माँ अपने खान-पान पर ध्यान देना चाहिए। मां द्वारा ग्रहण किया गया गलत खान-पान अक्सर बच्चे को प्रभावित करती हैं। छोटे शिशु को कब्ज होने पर घरेलु उपाय जरुर अपनाएं। अगर बच्चा 6 महीने से ऊपर का हैं तो पपीता और सेब जैसे फल के रस देना लाभप्रद हैं।

मुझे आशा हैं की आपको आज की यह पोस्ट ” बच्चे को potty करने के लिए क्या खिलाएं – सभी उम्र के शिशुओं के लिए बेस्ट उपाय ” बेहद अच्छी लगी होगी. इस जानकारी को जरूरत मंद लोगों तक शेयर जरुर करें।

यह भी पढ़ें नवजात शिशु का प्राइवेट पार्ट कैसे खोला जाता है – बच्चे के प्राइवेट पार्ट में खुजली का घरेलू उपाय

Leave a Comment