एड़ी के दर्द का पक्का इलाज – आयुर्वेदिक घरेलु इलाज

Spread the love

एड़ी के दर्द का पक्का इलाज – आयुर्वेदिक घरेलु इलाज – अगर आप भी एड़ी में दर्द की समस्या से परेशान हैं तो यह पोस्ट खासकर आपके लिए ही हैं। यह समस्या ज्यादात्तर वयस्कों में दिखाई देती हैं। एड़ी में दर्द होने पर चलने-फिरने में काफी दिक्कत महसूस होती हैं। जब आप ज्यादा चलने की कोशिश करते हैं तो दर्द अधिक तीव्र हो जाता हैं। जूता पहनने या चप्पल पहनने पर भी दर्द का अनुभव होता हैं। यह समस्या खान-पान की गलत आदतों की वजह से भी हो सकता हैं। गलत लाइफस्टाइल और चोट की वजह से भी यह समस्या उत्पन्न होती हैं। जिनकी उम्र 30 से ज्यादा हैं उनमें यह समस्या अक्सर देखी जाती हैं। एड़ी में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं। आइए सबसे पहले यह जानते हैं की एड़ी में दर्द क्यों होता है । उसके बाद आपको एड़ी के दर्द का पक्का इलाज बताएंगे।

एड़ी के दर्द का पक्का इलाज - आयुर्वेदिक घरेलु इलाज
एड़ी के दर्द का पक्का इलाज – आयुर्वेदिक घरेलु इलाज

कमजोर हड्डियां और शारीरिक गतिविधियों में सक्रीय न रहना भी इस समस्या का कारण हो सकता हैं। कुछ लोग घर के खाने से ज्यादा फ़ास्ट फ़ूड का सेवन करते हैं। फ़ास्ट फ़ूड के सेवन से पेट तो जरुर भर जाता हैं लेकिन शरीर को जरुरी पोषक तत्व प्राप्त नहीं होता हैं। अत: खान-पान को सही रखना बेहद जरुरी हैं। कड़े या बिल्कुल टाइट जूते लम्बे समय तक पहने रहने से भी एड़ी में दर्द की समस्या हो सकती हैं। नीचे एड़ी में दर्द के सभी संभावित कारणों और एड़ी के दर्द का पक्का इलाज के बारे में बताया गया हैं।

एड़ी में दर्द क्यों होता है

कुछ लोगों को सुबह-सुबह एड़ी में दर्द होता है। सुबह उठने के बाद जब पैर की एड़ी फर्श से टच करती हैं तो मानों ऐसा लगता हैं जैसे किसी ने एड़ी पर जोड़ से मार दिया हो। एड़ी की साफ-सफाई और केयर न करने की वजह से भी दर्द की समस्या झेलनी पड़ सकती हैं। दरसल गंदगी के कारण एड़ियाँ फटने लगती हैं। एड़ियों के फटने से त्वचा पर घाव बन जाते हैं जो दर्द का कारण बन सकती हैं। कभी-कभी एड़ी में दर्द होना तेज दौड़ने या अधिक चलने की वजह से भी होता हैं। ऐसे दर्द स्वत: ही कुछ दिनों में दूर हो जाते हैं। अगर दर्द की समस्या कई दिनों या महीनों से बनी हुई हैं तो एड़ी के दर्द का पक्का इलाज जानना आवश्यक हैं। एड़ी के अगले या पिछले हिस्से में दर्द का होना निम्नलिखित कारणों से होता हैं:-

एड़ी यूरिक एसिड के कारण दर्द

यूरिक एसिड की अधिकता एड़ी में दर्द का कारण बनता हैं। जब यूरिक एसिड शरीर में सामान्य से ज्यादा मात्रा में बनने लगता हैं तो पैर के तलवे और एड़ियों में दर्द होना आम बात हैं। यह समस्या खराब खान-पान की वजह से होती हैं। इस स्थिति में रेड मीट, बादाम, समुंद्री मछली, पनीर, दलिया, चावल आदि का सेवन कम कर देना चाहिए। दरसल यूरिक एसिड यूरिक प्युरिन प्रोटीन से बनता हैं। प्युरिन जब बॉडी में अधिक मात्रा में होती हैं तो यह टूटकर इस एसिड का निर्माण करती हैं। जब कोई व्यक्ति बहुत ज्यादा प्रोटीन का सेवन करता हैं और पच नहीं पाता हैं तो इसका स्तर बढने लगता हैं।

प्लान्टर फेशिआइटिस

जब एड़ी के नीचले हिस्से पर किसी कारण अधिक दबाव पड़ता हैं तो प्लान्टर फेशिआइटिस जो की एक लिगामेंट को नुकसान पहुंचता हैं। यह समस्या अधिक ऊंचाई से बार-बार कूदने या किसी चीज से जोरदार चोट लगने से हो सकती हैं। कुछ लोग गलत डिजाईन के जूते खरीद लेते हैं ऐसे में अधिक समय तक जूते पहनने से भी प्लान्टर फेशिआइटिस डैमेज हो सकता हैं। कूदते समय अक्सर लोग एड़ियों पर भार देकर कूदते हैं ऐसा करने से बचना चाहिए। ज्यादा ऊंचाई से कूदना लिगामेंट को क्षतिग्रस्त कर सकता हैं।

यह भी पढ़ें पैर के पंजे में सूजन और दर्द के कारण और प्रभावकारी घरेलु इलाज

गठिया रोग

यह रोग ज्यादात्तर 35 से अधिक उम्र के व्यक्तियों में देखा जाता हैं। इस रोग में शरीर हड्डियों के जॉइंट्स में अत्यंत दर्द का अनुभव होता हैं। गठिया के चलते भी एड़ियों में भयंकर दर्द का अनुभव हो सकता हैं। गठिया कई कारणों से होता हैं। यह समस्या शरीर के हड्डियों में यूरिक एसिड के जमाव, अधिक उम्र, अनुवांशिक, अधिक वजन, किसी प्रकार की चोट आदि के कारण हो सकता हैं। यह स्थिति पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में देखी जाती हैं। शारीरिक श्रम न करना भी इस समस्या को बढ़ाने का काम करता हैं।

यह भी पढ़ें कौन सी जड़ी-बूटी किस काम आती है – 22 जड़ी-बूटी इसके काम जान हैरान हो जाएंगे

ऑस्टियोकोंड्रोसिस

एड़ी में दर्द की समस्या बड़ों के साथ-साथ बच्चों में भी देखी जाती हैं। बच्चों में होने वाले एड़ी के दर्द के कारण अलग होते हैं। पोषण की कमी और हड्डियों का विकास सही ढंग से न होने की वजह से ऑस्टियोकोंड्रोसिस जैसी स्थिति का सामना करना पड़ता हैं। बच्चे की हड्डियों के विकास में जब बाधा पहुँचती हैं तो एड़ी में दर्द की समस्या होती हैं।

यह भी पढ़ें फौलाद भस्म के फायदे / 3 प्रकार के भस्मों को जानकारी – फायदे जान हैरान हो जायेंगे

एच्लीस टेंडनाइटिस

एच्लीस टेंडनाइटिस भी एड़ी में दर्द के मुख्य कारणों में से एक हैं। उछल कूद करने वाले गेम्स के चलते एच्लीस टेंडनाइटिस की समस्या हो सकती हैं। दरसल हमारी एड़ी की हड्डियों से जुड़ा एच्लीस टेंडन में सुजन उत्पन्न होती हैं। यह टेंडन एड़ी और पिंडली से जुड़ी होती हैं। इसमें सुजन होने पर चलने फिरने में दर्द का अनुभव होता हैं।

इन सबके अलावे समतल जूते, बर्साइटिस, कसे हुए जूते, एड़ी में किसी चीज के चुभने, नसों से जुड़ी समस्या, अधिक मोटापा और हड्डियों का टूटना आदि भी इस समस्या के कारण हो सकते हैं। अगर यह समस्या ज्यादा दिनों से नहीं हैं तो घरेलु उपायों और खान-पान में सुधार लाकर भी इस समस्या से निजात पाया जा सकता हैं। अगर स्थिति कई दिनों या महीनों से बनी हुई हैं तो डॉक्टर एक्स-रे द्वारा स्थिति की समीक्षा कर उचित निदान करते हैं। एक्स-रे द्वारा पता नहीं चलने पर एमआरआई की सलाह भी दी जा सकती हैं। घरेलु उपचार दर्द से राहत देने में आपकी मदद करते हैं। आइए जानते हैं एड़ी के दर्द का पक्का इलाज क्या हैं।

यह भी पढ़ें Adi phatne ka gharelu ilaaj । फटी एडियों का इलाज

एड़ी के दर्द का पक्का इलाज – घरेलु आयुर्वेदिक इलाज

एड़ी के दर्द का पक्का इलाज - घरेलु आयुर्वेदिक इलाज
एड़ी के दर्द का पक्का इलाज – घरेलु आयुर्वेदिक इलाज

घरेलु इलाज से एड़ी के सुजन और दर्द से तुरंत आराम मिलता हैं। एड़ी में दर्द की समस्या लगातर रहने पर व्यायाम जरुर करना चाहिए। अगर आप अक्सर जूते पहनते हैं तो कपड़े से बने जूते या अंदर से गद्देदार जूते का ही उपयोग करें। साथ ही खान-पान में कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन जरुर करें। शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने पर सिमित मात्रा में ही प्रोटीन से युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें। प्रभावित स्थान को हल्की मालिश देना भी बेहद फायदेमंद हैं। नीचे एड़ी के दर्द का पक्का इलाज बताया गया हैं जो इस समस्या से आपको निजात दिलाएगा।

1. एड़ी के दर्द का पक्का इलाज – आंकड़े का पत्ता

आंकड़े का पत्ता के बेहतरीन आयुर्वेदिक औषधि हैं जिसका इस्तेमाल कई रोगों के इलाज में किया जाता हैं। आकड़े के कुछ पत्तों को तोड़कर तवे पर सरसों तेल के साथ भूंजे। जब तेल गर्म हो जाएं तो पत्ते सहित उसे उतारकर बर्तन में रखें। अब एक सूती कपड़ा ले और उसमें तेल और पत्तों को बीच में रखें। ध्यान रहें की तेल गर्म होना चाहिए। अब कपड़े को एड़ी में अच्छे से बांधकर रात में सो जाएं। ऐसे लगातर कुछ दिनों तक करते रहने से दर्द छूमंतर हो जाएगा।

यह भी पढ़ें t3 और t4 सामान्य है लेकिन tsh अधिक है / क्या होता अगर tsh स्तर उच्च है

2. बर्फ की सिंकाई

बर्फ फुले हुए एड़ी को आराम देता हैं। लगातार बर्फ से 10 से 15 मिनट तक प्रभावित स्थान को सेंकने से सुजन में कमी होती हैं। सुजन कम होने से दर्द से काफी राहत मिलती हैं। चलने पर दर्द का अनुभव नहीं होगा। इसके अलावे आप ठंडे पानी में पैर को डुबाकर भी रख सकते हैं। ये दोनों तरीके दर्द और सुजन को कम करने में काफी प्रभावी हैं। अगर बर्फ सहन नहीं होता हैं तो आप कपड़े में बर्फ को लपेटकर सिंकाई कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें पैर के पंजे में सूजन और दर्द के कारण और प्रभावकारी घरेलु इलाज

3. फलों का करें सेवन

यूरिक एसिड का बढ़ना एड़ी में दर्द को जन्म देता हैं। विटामिन सी से भरपूर फल यूरिक एसिड को कण्ट्रोल करने काफी कारगर हैं। स्ट्रोबेरी, संतरा, अनानास, किवी आदि में भरपूर मात्रा में विटामिन सी होता हैं। यूरिक एसिड जब बढ़ जाता हैं तो यह हड्डियों के जोड़ो पर पथरी की तरह जम जाता हैं। विटामिन सी उनको तोड़कर दर्द से राहत देता हैं। जैसा की मैंने आपको बताया की अधिक प्रोटीन लेने की वजह से प्युरिन का पाचन ठीक से नहीं होने पर यह यूरिक एसिड में टूट जाता हैं। अनानास पाचन को बेहतर कर एक्स्ट्रा प्रोटीन को भी पचा देता हैं। हालांकि आपको ध्यान रखना हैं की किसी भी ऐसे चीज के सेवन से बचना हैं जिसे पचाने में दिक्कत हो रही हैं।

यह भी पढ़ें सबसे ज्यादा कैल्शियम किस चीज में पाया जाता है

4. एड़ी के दर्द का पक्का इलाज हैं व्यायाम

व्यायाम एड़ी के दर्द को धीरे-धीरे पूरी तरह खत्म कर देता हैं। इसके लिए आपको एक दिवार के पास खड़ा होना हैं। अपने एक पैर को थोड़ा आगे रखना और दुसरे पैर को पीछे रखना हैं। दिवार से इतनी दुरी पर खड़े होना जितना आपके हाथ की लम्बाई हैं। हाथों से दिवार को पकड़ते हुए पीछे वाले पैर को बिल्कुल सीधा रखें। आगे वाले पैर को धीरे-धीरे झुकाना हैं। पीछे वाले पैर की एड़ी पर शरीर को भार देना हैं। अब इसी चीज को दुसरे पैर से करना हैं। ऐसा 3 से 4 बार जरुर करें। इससे दर्द से तत्काल राहत मिलेगी।

यह भी पढ़ें व्यायाम के 10 लाभ – जानकर हैरान रह जायेंगे

5. एड़ी के दर्द का पक्का इलाज – आयुर्वेदिक ARNO

आयुर्वेदिक ARNO – यह एक आयुर्वेदिक औषधि हैं जिसका इस्तेमाल गठिया या जोड़ों के दर्द के इलाज में किया जाता हैं। अगर गठिया के कारण एड़ी में दर्द की समस्या हैं तो इस दवा के सेवन से दर्द की समस्या दूर हो जाएगी। यह दवा ऑनलाइन अमेज़न पर भी उपलब्ध हैं। इसमें मुलेठी, मंजिषा, अनंतमूल जैसे जड़ीबूटियों से मिलकर बना हैं। यह क्षतिग्रस्त उत्तकों को रिपेयर करता हैं।

यह भी पढ़ें

निष्कर्ष – एड़ी के दर्द का पक्का इलाज

दोस्तों, इस पोस्ट में मैंने आपको बताया हैं की एड़ी के दर्द का पक्का इलाज क्या हैं। इस पोस्ट में दी गयी बताएं गए इलाज डॉक्टर से राय के बाद की जानी चाहिए। दर्द की समस्या अधिक होने पर जल्दी से जल्दी डॉक्टर से मिलकर जांच करवानी चाहिए। दर्द से आराम के लिए मालिश भी एक बेहतरीन घरेलु इलाज हैं। मालिश के लिए अरंडी का तेल उपयोग कर सकते हैं। गठिया की समस्या से राहत पाने के लिए अश्वगंधा,हल्दी और अदरक जैसे आयुर्वेदिक औषधियों का उपयोग भी किया जा सकता हैं। अगर दर्द अधिक तीव्र हैं तो तत्काल राहत के लिए बर्फ से सिंकाई करना न भूलें।

मुझे उम्मीद हैं की आपको आज की यह खास पोस्ट ” एड़ी के दर्द का पक्का इलाज – आयुर्वेदिक घरेलु इलाज ” बेहद अच्छी लगी होगी। इस जानकारी को सोशल मीडिया पर जरुर से जरुर शेयर करें।

यह भी पढ़ें लैट्रिन जाने के बाद पेट में दर्द क्यों होता है – एक्सपर्ट्स क्या कहते हैं जाने

1 thought on “एड़ी के दर्द का पक्का इलाज – आयुर्वेदिक घरेलु इलाज”

Leave a Comment