जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण – 5 लक्षण हैं गर्भ में जुड़वा बच्चे की पहचान

Spread the love

जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण – 5 लक्षण हैं गर्भ में जुड़वा बच्चे की पहचान – आप अक्सर ही सुनते होंगे की फलाना व्यक्ति को जुड़वा बच्चे हुए हैं। ऐसे में जुड़वा बच्चों के विषय में जानने की जिज्ञासा सबके मन में उठती हैं। जुड़वा बच्चे की शक्ल एक दुसरे से काफी मिलती हैं। जब घर में जुड़वा बच्चे आते हैं तो दूर-दूर के लोग बच्चे को देखने आते हैं। दरसल जुड़वा बच्चे बेहद कम पैदा होते हैं इसी कारण जुड़वा बच्चे के बारें में जानने के लिए लोग उत्सुक रहते हैं। जुड़वा बच्चे को लेकर मन में कई तरह के प्रश्न उठते हैं जैसे – जुड़वा बच्चे पेट में कैसे रहते हैं और जुड़वा बच्चे पैदा करने का तरीका क्या हैं अर्थात जुड़वा बच्चे कैसे होते हैं आदि। आइए जानते हैं की जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण क्या-क्या हो सकते हैं।

जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण
जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण

दोस्तों, पेट में जब जुड़वा बच्चा होता हैं तो ऐसे में सिजेरियन डिलेवरी करवानी पड़ती हैं। दरसल नार्मल डिलीवरी में खतरा ज्यादा होता हैं इसी वजह से डॉक्टर सिजेरियन करते हैं। दोस्तों गर्भ में जुड़वा बच्चे लड़का लड़का इसके कुछ लक्षण दिखाई देते हैं। लक्षणों के आधार पर आप यह अनुमान लगा सकते हैं की गर्भ में जुड़वा बच्चे लड़का लड़का हैं। नीचे विस्तार से बताया गया हैं की गर्भ में जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण क्या-क्या हैं।

जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण – गर्भ में जुड़वा बच्चे होने के लक्षण

जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण - गर्भ में जुड़वा बच्चे होने के लक्षण
गर्भ में जुड़वा बच्चे होने के लक्षण

गर्भ में जब जुड़वा बच्चे होते हैं तो महिला आसानी से कुछ लक्षणों के आधार पर यह पता कर सकती हैं। नीचे बताया गया हैं की पेट में जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण या संकेत क्या हैं:-

1. कमजोरी ज्यादा महूसस होना

जब गर्भ में 2 बच्चे एक साथ होते हैं तो ऐसी स्थिति में महिला को ज्यादा कमजोरी महसूस होती हैं। ऐसी महिलाओं को सुबह उठने के दौरान कमर और पैरों में अन्य की अपेक्षा अधिक तीव्र दर्द का अनुभव हो सकता हैं। इसके अलावे जुड़वा बच्चे होने की स्थिति में उल्टी और सर का चक्कर देना आम बात हैं। महिला हल्के फुल्के काम करने पर भी जल्दी थक जाती हैं। दरसल गर्भ में पल रहे जुड़वा बच्चे अधिक मात्रा में पोषक तत्वों को ग्रहण करते हैं। अगर महिला का खान-पान सही हैं तो थकान का अनुभव कम भी हो सकता हैं।

Also, Read मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है – मुठ मारने से क्या होता है सम्पूर्ण जानकारी

2. महिला के शरीर का वजन बढ़ना

गर्भधारण के पश्चात महिला का वजन अगर जरूरत से ज्यादा बढ़ जाता हैं तो यह जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण माने जाते हैं। हालाँकि मोटापा और वजन बढ़ना दोनों अलग-अलग हैं। गर्भ में जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने पर दो बच्चों का भार पेट पर होता हैं। इस वजह से महिला के वजन में बढ़ोतरी देखी जाती हैं। अगर वजन पुरे शरीर का बढ़ रहा हैं तो इसका कारण गलत खान-पान या किसी अन्य कारण से भी हो सकता हैं। एक्सपर्ट्स के अनुसार, जब महिला के पेट में जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होता हैं तो महिला का वजन 5 किलों तक बढ़ जाता हैं।

यह भी पढ़ें बिना प्रेगनेंसी के अनवांटेड किट खाने से क्या होता है? – जाने अभी नहीं तो पछताना पड़ेगा

3. पेट में बच्चे का ज्यादा कूदना

गर्भ में जुड़वा बच्चे होने पर हलचल ज्यादा होती हैं। अगर कोई महिला प्रेगनेंसी के 8 हफ्ते बाद ही गर्भ में ज्यादा हलचल महसूस करती हैं तो यह इशारा हैं की गर्भ में जुड़वा बच्चे हैं। वही सामान्यत: देखा जाता हैं की गर्भ में हलचल 12 हफ्ते बाद होती हैं। यानी अगर गर्भ में एक बच्चा हैं तो हलचल आपको देर से महसूस होती हैं।

Also, Read बार-बार बच्चा क्यों गिर जाता है / पेट में बच्चा कैसे खराब होता है

4. पारिवारिक इतिहास

अगर आपके दादा-दादी के भी जुड़वा बच्चे थे तो यह संभव हैं की आपको भी जुड़वा बच्चे हो। जी हाँ, आपके आस पास भी कई ऐसे एक्साम्प्ल देखने को मिल सकते हैं। हालाँकि यह आवश्यक भी नहीं हैं की इस स्थिति में भी आपके जुड़वा बच्चे हो। परन्तु पारिवारिक इतिहास भी गर्भ में जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण हैं।

यह भी पढ़ें एक महिला को कैसे पता चलता है कि वह गर्भवती है` कोई तीन कारण – 3 मुख्य लक्षण

5. बहुत ज्यादा भूख का लगना

जब महिला गर्भवती होती हैं तो उसे सामान्य से ज्यादा भूख लगती हैं। लेकिन अगर गर्भ में जुड़वा बच्चे हैं तो महिला को और अधिक भूख लगती हैं। अगर आप भी बहुत ज्यादा भूख का अनुभव करती हैं तो हो सकता हैं की आपके गर्भ में भी जुड़वा बच्चे हो। दरसल दोनों बच्चों के बढ़ने के लिए सामान्य से ज्यादा पोषक तत्वों की आवश्यकता होती हैं। यही कारण हैं की भूख भी ज्यादा लगती हैं।

ऊपर बताएं गए संकेत पेट में जुड़वा बच्चे होने के लक्षण हो सकते हैं। इसके अलावे जुड़वा बच्चे होने के अन्य लक्षणों में जल्दी डिलीवरी, पेट में दो धड़कने महसूस होना आदि भी शामिल हैं।

Also, Read प्रेगनेंसी के 8 महीने में क्या क्या सावधानी रखनी चाहिए? – छोटी गलती भी कर सकती हैं बड़ा नुकसान

जुड़वा बच्चे कैसे होते हैं – जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण

ओव्यूलेशन के दौरान महिला के ओवरी द्वारा रिलीज हुआ अंडा टूटकर 2 बन जाते हैं और 2 अलग स्पर्म से इनका मिलन होता हैं तो इस स्थिति में जुड़वा बच्चे होते हैं। इस स्थिति में पैदा हुआ बच्चा एक दुसरे का कॉपी होता हैं। अर्थात दोनों ही एक समान दिखते हैं। इस स्थिति में पैदा होने वाले जुड़वा बच्चे लड़का लड़का या लड़की लड़की ही होती हैं। अर्थात गर्भ में दो बच्चे भिन्न लिंग के नहीं होते हैं इसका कारण हैं दोनों का एक अंडे से निकलना। एक अलग स्थिति में जब दो अंडे एक साथ 2 अलग-अलग स्पर्म के साथ मिलन करते हैं तो ऐसी स्थिति में भी बच्चा जुड़वा होता हैं। इस स्थिति में बच्चों का लिंग अलग हो सकता हैं। इस प्रकार से पैदा बच्चा रूप रंग में समान नहीं दीखता हैं।

Also, Read क्या प्रेगनेंसी टेस्ट किट गलत हो सकता है – हैरान हो जायेंगे जानकर

जुड़वा बच्चे कितने प्रकार के होते हैं

मुख्यत: जुड़वा बच्चे दो ही प्रकार के होते हैं। एक लड़का लड़का और एक लड़की लड़का। यानी दोनों के लिंग सामान भी हो सकते हैं और अलग-अलग भी। कुछ जुड़वा बच्चे की शक्ल बिल्कुल एक दुसरे से मिलती हैं। वही कुछ जुड़वा बच्चे देखने में बिल्कुल अलग भी हो सकते हैं।

Also, Read एक साल के लड़के के लिए खिलौने – 5 खिलौने जो बच्चे के मानसिक विकास के लिए हैं जरुरी

निष्कर्ष

इस पोस्ट में मैंने आपको बताया हैं की जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण क्या हैं। कैसे कोई महिला जान सकती हैं की गर्भ में पल रहा बच्चा जुड़वा हैं इसकी सम्पूर्ण जानकारी इस पोस्ट में विस्तारपूर्वक दी गयी हैं। गर्भ में जुड़वा बच्चा होने पर महिला को आभास हो जाता हैं। इसके अलावे कुछ लक्षण भी दिखाई पड़ते हैं जिससे यह पता करना बेहद आसान हैं की गर्भ में पल रहा बच्चा एक हैं या दो।

मुझे आशा हैं की आपको आज की यह पोस्ट जुड़वा बच्चे लड़का लड़का होने के लक्षण – 5 लक्षण हैं गर्भ में जुड़वा बच्चे की पहचान हैं की जानकारी अच्छी लगी होगी। इस जानकारी को प्रेग्नेंट महिला के whatsapp पर जरुर से जरुर शेयर करें।

Also, Read किन परिस्थितियों में बच्चे को मां का दूध नहीं पिलाना चाहिए

Leave a Comment