मैं 1 महीने की गर्भवती हूं और मुझे यह बच्चा नहीं चाहिए कौन सी गोलियां? – गर्भपात से जुड़ी जरुरी जानकारी

Spread the love

मैं 1 महीने की गर्भवती हूं और मुझे यह बच्चा नहीं चाहिए कौन सी गोलियां? – गर्भपात से जुड़ी जरुरी जानकारी – भारत में गर्भपात को लेकर कई कानून बनाएं गए हैं। गर्भावस्था के शुरुवाती सप्ताह में सुरक्षित गर्भपात संभव हैं। भारतीय कानून के अनुसार, 20 सप्ताह तक गर्भपात की अनुमति हैं। अगर कोई महिला इस समय को पार कर चुकी हैं तो कानून इसकी मान्यता नहीं देता हैं। हालांकि इस स्थिति में भी गर्भपात तभी संभव जब डॉक्टर के अनुसार यह सुरक्षित हो। जांच प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद ही डॉक्टर इस पर अपनी राय देते हैं।

कुछ विशेष परिस्थितियों में गर्भपात का समय 24 सप्ताह तक भी मान्य हैं। अगर किसी महिला के पेट में पल रहा शिशु माँ के जीवन के लिए खतरा बनता हैं तो इस स्थिति में गर्भपात 20 सप्ताह के बाद भी हो सकता हैं। अन्य कुछ स्थितियों जैसे शारीरिक, दुष्कर्म, मानसिक बीमारी आदि में भी यह संभव हैं।

मैं 1 महीने की गर्भवती हूं और मुझे यह बच्चा नहीं चाहिए कौन सी गोलियां? – गर्भपात से जुड़ी जरुरी जानकारी

अगर आप सिर्फ 1 महीने की गर्भवती हैं तो आपको बच्चा नहीं चाहिए तो डॉक्टर की सलाह पर एबॉर्शन किट का सेवन कर सकती हैं। ध्यान रहे की बिना चिकित्सीय सलाह के एबॉर्शन किट का सेवन कभी-कभी बड़ी समस्यायों को भी जन्म देती हैं। इसलिए दवाओं का सेवन तभी करना चाहिए जब डॉक्टर गर्भपात के लिए रजामंदी दें। आइए अब आपके सवाल ” मैं 1 महीने की गर्भवती हूं और मुझे यह बच्चा नहीं चाहिए कौन सी गोलियां? ” का जवाब विस्तार से देती हूँ।

मैं 1 महीने की गर्भवती हूं और मुझे यह बच्चा नहीं चाहिए कौन सी गोलियां?

एबॉर्शन पिल्स
एबॉर्शन पिल्स

दोस्तों, गर्भपात के लिए दो तरह की गोलियों का सेवन किया जाता हैं। एक हैं मिफेप्रिस्टोन और दूसरा हैं मिसोप्रोस्टोल। 1 महीने की गर्भवती महिलाएं डॉक्टर की सलाह पर दवाओं का सेवन कर सकती हैं। डॉक्टर की सलाह लेना बेहद जरुरी होता हैं क्योकिं एबॉर्शन किट के कई साइडइफेक्ट्स होते हैं। कभी-कभी गलत तरीके से दवाओं के सेवन बच्चे का कुछ अंश पेट में ही रह जाता हैं जिसकी वजह से गंभीर दुष्परिणामों का सामना करना पड़ सकता हैं। हालांकि 1 महीने या उससे कम में गर्भपात सामान्यत: सुरक्षित माना जाता हैं।

दवाओं के सेवन से ब्लीडिंग अत्याधिक होती हैं जिससे भयंकर सर दर्द, पेट दर्द, उल्टी आदि हो सकते हैं। महिला को अत्याधिक कमजोरी महूसस हो सकती हैं। दरसल दवा के सेवन से होने वाले हार्मोनल परिवर्तन की वजह से होती हैं। दवाएं प्रोजेस्टेरोन हार्मोन की क्रिया को प्रभावित करती हैं। इसलिए गर्भपात कराने से पहले दुबारा जरुर सोचें। अगर आप 1 महीने की गर्भवती हैं और बच्चा नहीं चाहिए तो डॉक्टर की सलाह पर निम्नलिखित गोलियां ले सकती हैं।

1. Unwanted-Kit

सभी एबॉर्शन पिल्स मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोन का कॉम्बिनेशन होता हैं। यह दवा टेबलेट के रूप में होती हैं। इस दवा को 3 दिनों के अंदर लेनी होती हैं। यह प्रोजेस्टेरोन होर्मोंस के निर्माण को बाधित करती हैं। इस दवा के कुछ नुकसान भी देखें जा सकते हैं। पेट का खराब होना, अधिक ब्लीडिंग होना, उल्टी जैसा लगना, सर दर्द अधिक होना इस दवा के मुख्य साइडइफ़ेक्ट हैं। दवा का सेवन खाने के बाद करें। सबसे पहले मिफेप्रिस्टोन की एक गोली पानी के साथ सेवन करें। उसके 24-48 घंटे बाद मिसोप्रोस्टोल की चारों गोलियां लेकर जीभ से दबाकर तब तक रखें जब तक यह पूरी तरह से घुल ण जाएं।

यह भी पढ़ें अनवांटेड किट खाने के नुकसान – अनवांटेड किट के गंभीर साइड इफेक्ट्स

2. Pregnot Tablet

इस किट का सेवन भी भोजन के साथ करना ज्यादा अच्छा हैं। इसमें भी मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोन की गोलियां ही होती हैं। यह अन्य किट की तरह ही कार्य करती हैं। Pregnot Tablet में दो तरह की गोलियां होती हैं। सबसे पहले मिफेप्रिस्टोन की गोली को खाने के बाद पानी के साथ लें। उसके 1 -२ दिन बाद मिसोप्रोस्टोल का सेवन करें। ध्यान रहें की इन दवाओं के सेवन से चक्कर आना, सर दर्द जैसे साइडइफेक्ट्स दिखते हैं इसलिए दवा खाने के बाद गाड़ी न चलाएं।

यह भी पढ़ें क्या प्रेगनेंसी टेस्ट किट गलत हो सकता है – हैरान हो जायेंगे जानकर

3. Mifegest Kit

यह किट भी गर्भावस्था को नष्ट करने के लिए उपयोग में लायी जाती हैं। इस किट का इस्तेमाल 1 महीने की गर्भावस्था को समाप्त करने के लिए कर सकते हैं। इस किट की गोलियों को खाने के बाद लिया जाना सही हैं। मिफेप्रिस्टोन को पानी के साथ सेवन के 24 घंटे बाद मिसोप्रोस्टोल की गोलियां गाल के पास रखकर गलाना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से सलाह लें। इस तरह की दवाओं का सेवन बिना डॉक्टर के सलाह के करने से आपको नुकसान भी हो सकता हैं।

यह भी पढ़ें बिना प्रेगनेंसी के अनवांटेड किट खाने से क्या होता है? – जाने अभी नहीं तो पछताना पड़ेगा

4. क्लीयर 200mg/200mcg टैबलेट

यह किट भी प्रोजेस्टेरोन के कार्य को रोककर गर्भाशय को सिकोड़ देती हैं। इस दवा को भोजण के बाद लिए जाने की सलाह दी जाती हैं। इस दवा के सेवन से भी कभी-कभी ब्लीडिंग से ज्यादा हो सकती हैं। भोजन के बाद आप कभी भी इस दवा को ले सकती हैं। दवा लेने के बाद अगर आपको पेट में गंभीर दर्द हो रही हैं तो डॉक्टर से सम्पर्क करें। इस दवा को निगलकर खाया जाता हैं। मिफेप्रिस्टोन को पानी के साथ खाने के 36 घंटे बाद मिसोप्रोस्टोल टेबलेट को मुंह में रखकर खाया गलाया जाता हैं।

यह भी पढ़ें अनवांटेड किट खाने के बाद ब्लीडिंग न हो तो क्या करें

5. MTP Kit

यह एक प्रसिद्ध एबॉर्शन किट हैं। जिसका इस्तेमाल बिना सर्जरी एबॉर्शन करने के लिए किया जाता हैं। इसमें भी मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल की गोलियां होती हैं। ये गोलियां प्रोजेस्टेरोन के कार्य को पूरी तरह से रोककर गर्भावस्था को समाप्त कर देती हैं। इसके अंदर मौजूद गोलियों का सेवन कुछ खाने के बाद ही करें। इस किट के साथ शराब का सेवन हानिकारक हैं। शिशु भ्रूण के विकास के लिए प्रोजेस्टेरोन आवश्यक हैं। इसमें मौजूद गोलियां प्रोजेस्टेरोन को ब्लॉक कर देती हैं। मिफेप्रिस्टोन को खाने के बाद सेवन करें। उसके कम से कम 24 घंटे बाद अन्य चार गोलियों जो की मिसोप्रोस्टोल की होती हैं उसे मुंह में रखकर छोड़ दें। आधे घंटे के पश्चात पानी की मदद से बाकी अवशेष को गले के अंदर लें।

यह भी पढ़ें

नोट:- यह एक सामान्य जानकारी हैं। किसी भी सुरत में डॉक्टरी सलाह के बिना इसका सेवन न करें।

निष्कर्ष – मैं 1 महीने की गर्भवती हूं और मुझे यह बच्चा नहीं चाहिए कौन सी गोलियां?

दोस्तों, इस पोस्ट में मैंने आपके सवाल ” मैं 1 महीने की गर्भवती हूं और मुझे यह बच्चा नहीं चाहिए कौन सी गोलियां? – गर्भपात से जुड़ी जरुरी जानकारी ” का जवाब विस्तारपूर्वक दिया हैं। गर्भपात की गोलियों के सेवन से पहले इसके साइडइफेक्ट्स के बारें में जरुर पढ़ें। बाजार में कई कंपनिया गर्भपात से जुड़ी दवाइयां बनाती हैं। शुरुवाती अवस्था में गर्भपात बिल्कुल सेफ हैं। परन्तु अगर आपकी गर्भावस्था ज्यादा दिनों की हैं तो गलती से भी खुद से दवाओं का सेवन न करें। कभी-कभी मिफेप्रिस्टोन की गोली खाने के बाद कुछ महिलाओं को उल्टी भी होती हैं। ऐसे में आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। उल्टी के बाद दवा बेअसर हो सकती हैं।

मुझे उम्मीद हैं की आपको आज की यह पोस्ट ” गर्भपात से जुड़ी जरुरी जानकारी ” बेहद अच्छी लगी होगी। इस पोस्ट को जरुर से जरुर शेयर करें।

यह भी पढ़ें प्रेगनेंसी में पेट के निचले हिस्से में दर्द क्यों होता है

Leave a Comment