प्रेगनेंसी टेस्ट में 1 लाइन डार्क और दूसरी फीकी तो इसका मतलब क्या हैं जाने

Spread the love

प्रेगनेंसी टेस्ट में 1 लाइन डार्क और दूसरी फीकी – प्रेगनेंसी टेस्ट किट की मदद से यह पता लगाया जाता हैं की महिला प्रेग्नेंट हैं या नहीं। इस टेस्ट को घर पर ही आसानी से किया जा सकता हैं। प्रेगनेंसी की शंका होने पर महिलाएं अक्सर किट की मदद से यूरिन टेस्ट के जरिये जांच स्थिति की जांच करती हैं। प्रेगनेंसी टेस्ट किट से जांच करने के बाद सामान्यत: एक या दो रेखाएं निर्मित होती हैं। प्रेगनेंसी किट से सटीक रिजल्ट पाने के लिए पीरियड मिस होने के 8 से 10 दिन बाद जांच करने की सलाह दी जाती हैं।

प्रेगनेंसी टेस्ट में 1 लाइन डार्क और दूसरी फीकी तो इसका मतलब क्या हैं जाने
प्रेगनेंसी टेस्ट में 1 लाइन डार्क और दूसरी फीकी तो इसका मतलब क्या हैं जाने

कभी-कभी टेस्ट रिजल्ट इतना अजीब आता हैं की लोगों को समझ में नहीं आता की इसका क्या मतलब हैं। जैसे प्रेगनेंसी टेस्ट में एक लाइन हल्की और एक लाइन डार्क होना और दोनों लाइन का फीका होना आदि। आइए जानते हैं की प्रेगनेंसी टेस्ट में एक लाइन हल्की और एक लाइन डार्क का मतलब क्या होता हैं।

दोस्तों, प्रेगनेंसी टेस्ट के बाद जब किट में सिर्फ एक लाइन दिखती हैं तो इसका मतलब होता हैं की आप प्रेग्नेंट नहीं हैं। अगर किट में दोनों लाइन दिखाई दे रही हैं तो इसका साफ़ मतलब हैं की आपके गर्भ में शिशु का विकास शुरू हो चूका हैं। इस तरह प्रेगनेंसी टेस्ट द्वारा प्राप्त रिजल्ट आसानी से समझा जा सकता हैं। कभी-कभी प्रेगनेंसी टेस्ट में एक लाइन हल्की और एक लाइन डार्क नजर आती हैं। ऐसे में कंफ्यूजन का होना आम बात हैं। प्रेगनेंसी टेस्ट में एक लाइन हल्की आने का मतलब क्या हैं और ऐसा रिजल्ट किन कारणों से आता हैं आइए विस्तार से जानते हैं।

प्रेगनेंसी टेस्ट में 1 लाइन डार्क और दूसरी फीकी

प्रेगनेंसी टेस्ट किट यूरिन में मौजूद एक विशेष होर्मोन द्वारा प्रेगनेंसी का पता करता हैं। जब कोई महिला प्रेग्नेंट हो जाती हैं तब शरीर में HCG (ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन) नामक होर्मोन बनना शुरू हो जाता हैं। इस होर्मोन की मदद से ही प्रेगनेंसी का पता लगाया जाता हैं। प्रेग्नेंट होने के बाद यह होर्मोन ब्लड और यूरिन में भी मिल जाता हैं। प्रेगनेंसी की जांच के लिए यूरिन या ब्लड का उपयोग किया जाता हैं। महिला शरीर में अगर HCG का स्तर कम हैं तो रिजल्ट प्रभावित होता हैं। कभी-कभी महिलाएं जल्दबाजी में पीरियड मिस होने के पहले ही प्रेगनेंसी किट से जांच कर लेती हैं। प्रेगनेंसी के शुरुवात में HCG का निर्माण धीमा होता हैं। ऐसे में रिजल्ट शंका में डालने वाला आ सकता हैं।

दोस्तों, प्रेगनेंसी टेस्ट में एक लाइन हल्की और एक लाइन डार्क का मतलब हैं की आप प्रेग्नेंट हैं। प्रेगनेंसी टेस्ट में 1 लाइन डार्क और दूसरी फीकी मुख्यत: HCG होर्मोन की कमी को दर्शाता हैं। हालांकि एक लाइन फीकी होने का कारण गलत समय के यूरिन का उपयोग करना भी हो सकता हैं। टेस्ट किट का सही से उपयोग न करने से भी रिजल्ट प्रभावित हो सकता हैं। ज्यादात्तर केसेज में यह गर्भावस्था के पॉजिटिव साईंन के रूप में देखा जाता हैं। इसलिए प्रेगनेंसी टेस्ट में हल्की लाइन का मतलब भी पॉजिटिव रिजल्ट की ओर संकेत देना हैं।

यह भी पढ़ें क्या प्रेगनेंसी टेस्ट किट गलत हो सकता है – हैरान हो जायेंगे जानकर

प्रेगनेंसी टेस्ट में एक लाइन हल्की और एक लाइन डार्क का मतलब हमेशा प्रेगनेंसी नहीं होता

प्रेगनेंसी टेस्ट में एक लाइन हल्की और एक लाइन डार्क का मतलब हमेशा प्रेगनेंसी नहीं होता
प्रेगनेंसी टेस्ट में एक लाइन हल्की और एक लाइन डार्क का मतलब हमेशा प्रेगनेंसी नहीं होता

परन्तु कभी-कभी कलरलेस हल्की लाइन भी दिखाई देती हैं जिसे इवैपोरेशन लाइन कहते हैं। इवैपोरेशन लाइन प्रेगनेंसी के संकेत नहीं हैं। यह लाइन टेस्ट प्रक्रिया में गड़बड़ी के चलते दिखाई दे सकती हैं। ऐसे में आप दुबारा टेस्ट जरुर करें। हालांकि इस स्थिति में ज्यादा जल्दबाजी करने की जरूरत नहीं हैं। दुबारा प्रेगनेंसी टेस्ट कुछ दिन बाद करना ही सही रहेगा। HCG का स्तर बढ़ने पर सही और सटीक रिजल्ट प्राप्त होगा। हल्की फीकी लाइन गर्भपात के कारण भी आ सकते हैं। गर्भपात के दौरान HCG का स्तर तेजी से गिरने लगता हैं जो फीकी लाइन का कारण बन सकता हैं। अगर आप प्रेगनेंसी किट के रिजल्ट से संतुष्ट नहीं हैं तो ब्लड टेस्ट के जरिये भी प्रेगनेंसी पता कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें प्रेगा न्यूज़ प्रेगनेंसी टेस्ट कितने दिन बाद करना चाहिए या कब करना चाहिए

किट का उपयोग कब और कैसे करना चाहिए

दोस्तों, प्रेगनेंसी किट का उपयोग पीरियड मिस होने पर ही किया जाना चाहिए। हालांकि पीरियड मिस होने से पहले भी किट द्वारा सही रिजल्ट प्राप्त किया जा सकता हैं। लेकिन कभी-कभी जल्दबाजी के कारण रिजल्ट आपको शंका में डाल सकता हैं। ऐसे में मिस होने के कुछ 8 दिन बाद किट से यूरिन टेस्ट करें। HCG का यूरिन में स्तर सही होने पर रिजल्ट सटीक आएगा। किट को सुबह के मूत्र में डालकर या किट पर पेशाब कर जांच की प्रक्रिया को पूरी की जाती हैं। किट पर लाइनिंग आने पर ही प्रेगनेंसी का पता चलता हैं।

यह भी पढ़ें

निष्कर्ष –

प्रेगनेंसी टेस्ट में एक लाइन हल्की और एक लाइन डार्क का मतलब हैं की आप गर्भवती हैं। कभी-कभी किट में इवैपोरेशन लाइंस भी दिखती हैं जो पॉजिटिव जैसा ही लगता हैं। फीकी लाइन में अगर कोई रंग नहीं हैं तो संभव हैं की आप प्रेग्नेंट न हो। असमंजस की स्थिति में आप २ से ३ बाद दुबारा टेस्ट जरुर करें। एचसीजी हार्मोन का स्तर रिजल्ट को अक्सर प्रभावित करती हैं। जब कोई महिला समय से पहले टेस्ट किट का उपयोग करती हैं तो परिणाम गलत आने के चांसेज ज्यादा होते हैं। अत: प्रेगनेंसी टेस्ट में हल्की लाइन का मतलब प्रेगनेंसी, गर्भपात और इवैपोरेशन भी हो सकता हैं। ध्यान रहे की ऐसी स्थिति में दुबारा टेस्ट से ही सही स्थिति का पता चल सकता हैं।

दोस्तों, इस पोस्ट में मैंने आपको बताया हैं की प्रेगनेंसी टेस्ट में एक लाइन हल्की और एक लाइन डार्क का मतलब क्या होता हैं। प्रेगनेंसी टेस्ट में हल्की लाइन का मतलब भी प्रेगनेंसी हो सकता हैं। इस पोस्ट को जरुरतमन्द महिलाओं तक अवश्य शेयर करें।

यह भी पढ़ें पीरियड आने से पहले प्रेगनेंसी के लक्षण – सिर्फ 8 लक्षणों से पता चल जायेगा

1 thought on “प्रेगनेंसी टेस्ट में 1 लाइन डार्क और दूसरी फीकी तो इसका मतलब क्या हैं जाने”

Leave a Comment