पीरियड में दवा खाना चाहिए कि नहीं – पीरियड के दर्द मिनटों में छूमंतर

Spread the love

पीरियड में दवा खाना चाहिए कि नहीं – पीरियड के दर्द मिनटों में छूमंतर – पीरियड के दर्द कभी-कभी इतने तीव्र हो जाते हैं की दवाओं के सेवन करने की नौबत आ जाती हैं। कुछ महिलाएं तो पीरियड आने से पहले ही दवाइयां खा लेती हैं। ऐसे में एक सवाल हमेशा उठता हैं की पीरियड में दवा खाना चाहिए कि नहीं । आज की इस पोस्ट में पीरियड के दर्द के कारण, इलाज और दवाओं के बारें में विस्तार से बताने वाले हैं। पीरियड्स के दौरान महिलाओं को पेट और कमर में दर्द अधिक होता हैं। इस दर्द की वजह से जरुरी दैनिक कार्य भी बाधित हो जाती हैं। ऐसे में कभी-कभी दवा का सेवन करना पड़ता हैं। पीरियड के दर्द से छुटकारा पाने के लिए दवा का सेवन सुरक्षित हैं या नहीं आइए विस्तार से इसके बारें में जानते हैं।

पीरियड में दवा खाना चाहिए कि नहीं - पीरियड के दर्द मिनटों में छूमंतर
पीरियड में दवा खाना चाहिए कि नहीं – पीरियड के दर्द मिनटों में छूमंतर

कुछ महिलाओं को पीरियड के दौरान अत्यधिक दर्द का अनुभव होता हैं। पीरियड में पेट में एंठन और शरीर में दर्द का होना आम बात हैं। महिलाएं दर्द की वजह से सुस्त हो जाती हैं। पीरियड में चिड़चिड़ापन, कमजोरी, उल्टी, पेट दर्द, नींद में परेशानी जैसी समस्याएं भी दिखती हैं। कई महिलाएं सामान्य पेट या शारीरिक दर्द में भी पेन किलर्स का सेवन कर लेती हैं। पीरियड में दवा खाना चाहिए कि नहीं इसकी जानकारी नीचे विस्तार से दी गयी हैं।

पीरियड में दर्द क्यों होता है

पीरियड में दर्द क्यों होता है
पीरियड में दर्द क्यों होता है

दोस्तों, पीरियड में दर्द प्रोस्टाग्लैंडीन रसायन के चलते होता हैं। दरसल यह एक होर्मोन हैं जो गर्भाशय के टिश्यू के द्वारा उत्पादित होती है जो मांसपेशियों और रक्तवाहिकाओं को सिकोड़ता हैं। जब यह होर्मोन बहुत अधिक मात्रा में रिलीज होती हैं तो महिलाओं में कई तरह की समस्याएं देखी जाती हैं। गर्भाशय में तेज संकुचन होने पर सर दर्द, उल्टी, कमर दर्द जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। इस होर्मोन का बनना आवश्यक हैं। यह होर्मोन स्वस्थ प्रजनन प्रणाली के लिए जरुरी हैं।

जो महिलाएं सामान्य से अधिक वजनी होती हैं उन्हें पीरियड में दर्द ज्यादा होता हैं। बढ़ता वजन भी पीरियड के दर्द का मुख्य कारण हैं। पीरियड में दर्द होना बिल्कुल सामान्य हैं। लेकिन अगर दर्द असहनीय हैं तो यह चिंता का विषय हैं। आइए आपको बताते हैं की पीरियड में दवा खाना चाहिए कि नहीं और पीरियड के दर्द से छुटकारा पाने के लिए कौन से इलाज बेस्ट हैं।

पीरियड में दवा खाना चाहिए कि नहीं

दोस्तों, पीरियड में दवा अधिक सेवन निश्चित तौर पर बेहद हानिकारक हैं। अगर आप अधिक दर्द से परेशान हैं तो दवा का सेवन कर सकते हैं। सिमित मात्रा में दवा के सेवन से आपको कोई परेशानी नहीं होगी। ध्यान रहे की पीरियड पेन को रोकने वाली दवाओं के सेवन के बीच का अंतराल कम से कम 8 घंटे का होना चाहिए। पीरियड में महज कुछ ही घंटों के अन्तराल पर बार-बार दवा खाना नुकसानदायक हैं। दवा के ज्यादा सेवन से सर में दर्द, हाई बीपी, भयंकर पेट दर्द, हार्ट और गुर्दे से जुड़ी समस्या हो सकती हैं। पीरियड में पेट दर्द के इलाज के लिए उपयोग की जाने वाली दवाइयां कब्ज और एसिड रिफ्लक्स जैसी समस्यायों का कारण भी बन सकती हैं। इसके अधिक सेवन से शरीर में मौजूद लाभदायक बैक्टीरिया को काफी नुकसान पहुंचता हैं।

यह भी पढ़ें प्रेगनेंसी में पीरियड जैसा दर्द होना क्या है

पीरियड में दर्द का घरेलू इलाज

पीरियड के दर्द में बार-बार दवाओं का सेवन नहीं करना चाहिए। घरेलु उपाय द्वारा भी पीरियड के दर्द से काफी आराम मिलता हैं। आइए आपको कुछ बेहतरीन घरेलु उपाय बताते हैं जिसकी मदद से पीरियड के दर्द से छुटकारा पा सकते हैं।

1. गर्म पानी

अगर आप पीरियड के दर्द से परेशान हैं तो गर्म पानी का इस्तेमाल जरुर करें। गर्म पानी पीरियड के कारण कमर दर्द और पेट दर्द से राहत देता हैं। मार्किट में इलेक्ट्रनिक थैले भी मिलते हैं जिसकी मदद से सिकाई की जाती हैं। इसके अलावे आप किसी बोतल में गर्म पानी को भरकर पेट के निचले हिस्से को सेंक सकती हैं। सिकाई से तुरंत आराम महसूस होता हैं। दरसल सिकाई से ब्लड का प्रवाह तेज हो जाता हैं जिसके कारण आराम मिलता हैं।

यह भी पढ़ें गर्म पानी में दालचीनी पीने के फायदे जान हैरान रह जायेंगे

2. तुलसी

दोस्तों, तुलसी के पत्ते और फूलों का इस्तेमाल कई तरह के शारीरिक समस्यायों के इलाज में किया जाता हैं। इसमें मौजूद कैफीक एसिड दर्द निवारक हैं। इसका सेवन करने से दर्द से काफी राहत मिलती हैं। इसका सेवन कई तरीकों से किया जा सकता हैं। अगर आप तुलसी की पत्तों का चाय बनाकर पिएं तो यह सबसे अच्छा रहेगा। तुलसी की पत्तों के चाय बनाना बहुत ही आसान हैं। चाय बनाने के लिए तुलसी के 10 पत्ते पर्याप्त हैं। पत्तों को 2 कप पानी में डालकर हल्की चीनी और चायपत्ती के साथ चाय बनाएं। उसके बाद इसका सेवन करें। इससे दर्द में काफी आराम मिलेगा।

यह भी पढ़ें थायराइड में कहां-कहां दर्द होता है – थायराइड के लक्षण और घरेलू उपाय

3. हल्दी वाला दूध

पीरियड के दर्द से बचना हैं तो हल्दी वाला दूध जरुर पिएं। रोजाना इसके सेवन से कैल्शियम की कमी दूर होती हैं। हल्दी और दूध शरीर के तापमान को बनाएं रखती हैं। पीरियड आने से 5 दिन पहले से ही इस दूध का सेवन शुरू कर दें। अगर आप रोज इसका सेवन करेंगी तो यह और भी अच्छा हैं। हल्दी में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो अन्य रोगों में भी फायदेमंद हैं।

यह भी पढ़ें हल्दी वाला दूध किसे नहीं पीना चाहिए – जाने कब करता हैं नुकसान

4. अजवाइन

अजवाइन हर घर की रसोई में होता हैं। इसका इस्तेमाल पेट से जुड़ी समस्यायों के इलाज में भी किया जाता हैं। दरसल अक्सर देखा जाता हैं की पीरियड के कारण गैस की समस्या उत्पन्न होती हैं। गैस के कारण हो रहे पेट दर्द की समस्या से छुटकारा पाने के लिए अजवाइन काफी प्रभावी इलाज हैं। दर्द होने पर अजवाइन, नमक और गर्म पानी का मिश्रण पीने से राहत मिलेगी।

यह भी पढ़ें रुके हुए पीरियड्स लाने के उपाय

5. अदरक

एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के चलते अदरक पीरियड के दर्द को कम करने में सहायता कर सकता हैं। यह सुजन को कम करता हैं। यह खून को पतला कर फ्लो को तेज करता हैं। दरसल इसमें सैलिसिलेट्स होते जो खून को पतला करने में मदद करता हैं। अदरक का सेवन उबालकर कर सकते हैं। एक छोटे अदरक के टुकड़े को पानी में उबाल लें। बचे हुए पानी को धीरे-धीरे पि जाएं। इसके अलावे आप अदरक और तुलसी की चाय भी पि सकते हैं।

इसके अलावे आप कुछ योगा भी ट्राई कर सकती हैं जैसे – भ्रमरी, वज्रासन, बद्ध कोणासन आदि। दर्द ठीक न होने पर डॉक्टर से जरुर मिलें। अधिक दर्द होने की स्थिति में डॉक्टर कुछ अंग्रेजी दवाओं के सेवन की सलाह दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें अदरक के तेल के फायदे (Ginger Oil ke Fayde)

पीरियड में पेट दर्द की टेबलेट

पीरियड में पेट दर्द के इलाज के लिए Naproxen, Flurbiprofen , Ibuprofen, Mefenamic Acid, Ketoprofen, Aspirin जैसी दवाइयों का इस्तेमाल किया जाता हैं। ये सभी दवाएं मेडिकल स्टोर पर आसानी से मिल जाती हैं। हालांकि इसका सेवन बिना चिकित्सीय सलाह के करना उचित नहीं हैं। डॉक्टर द्वारा बताएं अनुसार ही इसका सेवन करें।

यह भी पढ़ें

निष्कर्ष – पीरियड में दवा खाना चाहिए कि नहीं

मुझे आशा हैं की आपको आज की यह जानकारी पीरियड में दवा खाना चाहिए कि नहीं बेहद अच्छी लगी होगी। पीरियड में सामान्य दर्द का होना घबराने वाली बात नहीं हैं। घरेलु उपायों और व्यायाम द्वारा भी पीरियड पेन से राहत मिल सकती हैं। अगर दर्द अधिक और असहनीय हैं तो चिकित्सीय सलाह के बाद दवा का सेवन कर सकते हैं। सिमित मात्रा में दवाओं का सेवन हानि नहीं करता हैं। कुछ महिलाएं सिगरेट और शराब का सेवन करती हैं। धुम्रपान और शराब दर्द की समस्या को बढाती हैं।

मुझे आशा हैं की आपको आज की यह जानकारी ” पीरियड में दवा खाना चाहिए कि नहींपीरियड के दर्द मिनटों में छूमंतर ” बेहद उपयोगी लगी होगी। इस जानकारी को सोशल मीडिया पर जरुर से जरुर शेयर करें।

यह भी पढ़ें पीरियड मिस होने के 10 दिन बाद भी नेगेटिव आए तो क्या समझे

Leave a Comment